राजस्थान में NEET परीक्षा की गोपनीयता सवालों के घेरे में

मामला नगौर के कुचामनसिटी से सामने आया है, जहां परीक्षा तय समय से लगभग डेढ़ घंटे ज्यादा चली, तो कहीं ओएमआर शीट ही बदल दी गई ।
राजस्थान के करीब 25 शहरों में 17 जुलाई को नीट की परीक्षा का आयोजन
राजस्थान के करीब 25 शहरों में 17 जुलाई को नीट की परीक्षा का आयोजन

राजस्थान के करीब 25 शहरों में 17 जुलाई को नीट की परीक्षा को आयोजन किया गया, लेकिन परीक्षा आयोजित होने के बाद इसकी गोपनीयता को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे है । मामला नागौर के कुचामनसिटी से देखने को मिला है । जहां पर परीक्षा तय समय से लगभग डेढ़ घंटे ज्यादा चली, तो ओएमआर शीट ही बदल दी गई ।

ओएमआर शीट ही बदल दी गई

परीक्षा के दौरान हिंदी माध्यम वाले परीक्षार्थीयों को अंग्रेजी और अंग्रेजी माध्यम वाले परीक्षार्थीयों को हिंदी की ओएमआर शीट दे दी गई । इस लापरवाही का पता चलते ही ओएमआर शीट को वापस लिया गया और व्हाइट्नर लगाकर शीट को बदला गया । इस कार्य को करने के लिए लगभग 40 मिनट का समय लगा खराब किया गया ।

ओरिजनल की जगह ओएमआर की फोटोकॉपी थमा दी

कई छात्रों को यह भी आरोप है कि उनको ओएमआर की ओरिजनल शीट की जगह फोटोकॉपी दी गई । परीक्षा के दौरान परीक्षक ने कुछ समय के लिए ओएमआर शीट वापस भी ले ली । परीक्षा में हुई इस लापरवाही के कारण कुछ बच्चों ने परीक्षा नहीं दी ।

नाराज छात्रों ने किया हंगामा

परीक्षा में हुई लापरवाही के बाद छात्र-छात्रों ने बाहर आकर हंगामा कर दिया । इसके बाद अबरोहर-श्रीगंगानगर रोड़ को जाम कर दिया गया । सूचना मिलते ही जवाहरनगर थाना प्रभारी जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को संभाला ।

उधर अंडरगारमेंट उतरवाएं, यहां हिजाब को भी परमिशन

ड्रेस कोड की गाइड लाइन के बावजूद नागौर के कुचामनसिटी स्थिति बसंत विहार के एक परीक्षा केन्द्र पर कुछ छात्रा हिजाब के साथ परीक्षा देने पर अड़ी रही । परीक्षा केन्द्र पर गहन जांच के बाद छात्राओ को परीक्षा केन्द्र के अंदर जाने की अनुमति दी गई । वही केरल में नीट परीक्षा देने गई छात्रओं के अंडरकारमेंट भी उतरवा दिए गए । मामला केरल के कोल्लम का है जहां पर आरोप है कि मार्थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी सेंटर पर जांच के नाम पर छात्राओं के अंडरगारमेंट्स तक उतरवा दिए । जिसके बाद छात्राओं के परिजनों ने पुलिस में इस संबध में मामला भी दर्ज कराया है । फिलहाल मामले को लेकर पुलिस जांच कर रही है ।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com