2014 के बाद देश के अर्थव्यवस्था में आया बदलाव, 5वीं इकोनॉमी के रुप में उभरा भारत

लोकतंत्र का महापर्व शुरू हो गया है। लोकसभा चुनाव को लेकर ऐलान हो चुका है। ये चुनाव सात चरणों में संपन्न होगा। अगर बात कि जाएं 2014 के पहले की तो उस समय देश के विकास की गति काफी धीमी थी।
2014 के बाद देश के अर्थव्यवस्था में आया बदलाव, 5वीं इकोनॉमी के रुप में उभरा भारत
2014 के बाद देश के अर्थव्यवस्था में आया बदलाव, 5वीं इकोनॉमी के रुप में उभरा भारत

लोकतंत्र का महापर्व शुरू हो गया है। लोकसभा चुनाव को लेकर ऐलान हो चुका है। ये चुनाव सात चरणों में संपन्न होगा।

अगर बात कि जाएं 2014 के पहले की तो उस समय देश के विकास की गति काफी धीमी थी। वहीं बीजेपी की सरकार जब से सत्ता में काबिज हुई है। देश के विकास से लेकर अर्थव्यवस्था में बदलाव देखने को मिला है।

32 करोड़ लोगों ने फ्री में कराया इलाज

अगर बात कि जाये 2014 के पहले कांग्रेस राज की तो उस समय गरीबों को मात्र 14 करोड़ गैस कनेक्शन मिले थे। वहीं 2014 के बाद उज्जवला योजना के तहत 32 करोड़ गैस कनेक्शन हो गए। जिससे कई करोड़ जनता को लाभ मिला है।

2014 के पहले गरीबों को मुफ्त में इलाज कराने के लिए कोई भी योजना सरकार के तरफ से नहीं चल रही थी, लेकिन 2014 के बाद आयुष्मान भारत योजना के तहत 32 करोड़ लोगों ने फ्री में इलाज करवाया।

2014 के पहले पानी के कुल कनेक्शन 2 करोड़ थे वहीं अब यह संख्या बढ़कर 14.5 करोड़ हो गई है। कांग्रेस सरकार में हर दिन 12 किलोमीटर रोड का निर्माण किया जाता था और 2014 के बाद से अब रोजाना 30 किलोमीटर रोड बनाये जा रहे है। यानि दोगुना से भी ज्यादा रोड का निर्माण किया जा रहा है।

2014 के पहले और कांग्रेस के 65 साल के शासन में 97 हजार किलोमीटर के हाईवे हुआ करते थे और 2014 के बाद से 47 हजार किलोमीटर के नए हाईवे का निर्माण हुआ है।

5वीं इकोनॉमी के रूप में उभरा भारत

2014 के पहले इंदिरा आवास योजना के तहत 5 लाख ग्रामीणों के लिए घर बने थे। वहीं 2014 के बाद प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2 करोड़ लोगों को पक्के घर का लाभ मिल रहा है।

2014 के पहले सस्ती दवाओं के सिर्फ 150 स्टोर उपलब्ध थे। वहीं 2014 के बाद अब 11 हजार 269 जन औषधि केंद्र खुल चुके है।

2014 के पहले 6 एम्स थे और 2024 में 15 एम्स खुल चुके है। 2014 में 75 एयरपोर्ट थे औऱ अब 90 एयरपोर्ट बन चुके है।

2014 के पहले 1 हजार किलोमीटर एक्सप्रेस-वे की लंबाई थी। 2024 में 6 हजार किलोमीटर लंबा हो चुका है।

2014 में टोटल डिजिटल ट्रांजेक्शन 127 करोड़ रुपये थे और 2023 में डिजिटल ट्रांजेक्शन 18 लाख करोड़ हो चुकी है।

2014 के पहले टोटल ट्रैक्स कलेक्शन 19 लाख करोड़ रुपये थे वहीं 2024 तक 70 लाख करोड़ इनक्रिज हुआ है।

2014 के पहले भारत 10वीं सबसे बड़ी इकोनॉमी थी औऱ 2024 में पांचवी सबसे बड़ी इकोनॉमी के रुप में उभरी है।

2014 के बाद देश के अर्थव्यवस्था में आया बदलाव, 5वीं इकोनॉमी के रुप में उभरा भारत
केजरीवाल की गिरफ़्तारी के विरोध में AAP का प्रदर्शन, ITO मेट्रो स्टेशन शाम तक बंद

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com