एक तरफ धमकियां, दूसरी तरफ हिंदुओं को बदनाम करने की साजिशें, देश का माहौल बिगाड़ने वाले गिरोह सक्रीय

बिहार के हाजीपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने छह मुस्लिम युवकों को हिंदू वेश में पकड़ा । वहीं सोमवार 25 जुलाई को बिजनौर में दो मुस्लिम भाइयों ने भगवा साफा बांधकर कर तीन मजारों को क्षतिग्रस्त कर दिया था । इसके अलावा देश में लगातार ‘सर तन से जुदा’ करने की धमकियों का सिलसिला भी जारी है ।
एक तरफ धमकियां, दूसरी तरफ हिंदुओं को बदनाम करने की साजिशें, देश का माहौल बिगाड़ने वाले गिरोह सक्रीय

देश का सौहार्द बिगाड़ने की साजिशें लगातार जारी हैं । एक तरफ तो गजवा ए हिंद की साजिश रचने के लिए PFI से जुड़े मजहबी लोग और संगठन सक्रीय है, तो दूसरी ओर आए दिन हिन्दू विचारधारा के लोगों को सर तन से जुदा करने की धमकियां दी जा रही है । अब कुछ ऐसे मामलें सामने आ रहे है, जो हिन्दुओं का नाम बदनाम करने के लिए साजिशें रच रहे है । हाल ही में ऐसे दो मामलें सामने आए है। पहला मामला उत्तर प्रदेश के बिजनौर से सामने आया था जिसमें दो मुस्लिम भाईयों ने भगवा साफा पहन कर 3 मजारों में तोड़फोड़ कर आगजनी की थी। वही दूसरा मामला बिहार के हाजीपुर से देखने को मिला है जहां पर 6 मुस्लिम युवकों को हिंदू वेश में पकड़ा है ।

बिहार के हाजीपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने छह मुस्लिम युवकों को पकड़ा है, जो हिंदू नामों से नंदी-बैल के साथ भीख मांग रहे थे। पुलिस के सामने ही बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पकड़ गए मुस्लिम युवकों की जमकर पिटाई भी कर दी। सभी छह आरोपियों को हाजीपुर के कदमघाट से पकड़ा गया। पूछताछ में पता चला कि ये सभी उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के रहने वाले हैं ।

हिंदू धर्म का मजाक उड़ा रहे हैं- हिंदू संगठन

हिंदू संगठन के कार्यकर्ता ने आरोप लगाते हुए कहा कि यह लोग ऐसा करके हमारे हिंदू धर्म का मजाक उड़ा रहे हैं । साथ ही हिंदू धर्म का वेशधारण करके घूम रहे हैं। पुलिस के सामने हिंदू कार्यकर्ता ने कहा कि ये सभी आतंकवादी और बांग्लादेशी हैं । वे हिंदुओं के वेश में छिप जाते हैं और यही लोग फिर किसी घटना को अंजाम देते हैं । उदयपुर में कन्हैयालाल की गर्दन काट दी गई है, ये सब कांड करने जा रहे हैं।

बहरूपियों के नाम भी देखिए

गिरफ्तार किए गए युवकों की पहचान करीम अहमद (38 वर्ष, पिता - सकुर अहमद), सैयद अली (40 वर्ष, पिता - मैकू अहमद), हसन (30 वर्ष, पिता - असगर), महबूब (32 वर्ष, पिता - मुनेर उर्फ), हलीम अहमद (35 वर्ष, पिता- सकुर अहमद) और सुब्रती (30 वर्ष, पिता- अबू मोहम्मद)। के रुप में की गई है ।

भगवा पहन मुस्लिम युवक कराना चाहते थे दंगा!

सोमवार 25 जुलाई को बिजनौर में दो मुस्लिम भाइयों ने भगवा साफा बांधकर तीन मजारों को क्षतिग्रस्त कर दिया है । पुलिस ने समय रहते दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल, आदिल ने अपने भाई कमाल के साथ मिलकर बिजनौर में तीन अलग-अलग मकबरों में तोड़फोड़ कर माहौल खराब करने की साजिश की थी ।

अगर नहीं पकड़ जाते मुस्लिम युवक तो क्या होता ?

यूपी में हुई 25 जुलाई की घटना में अगर मुस्लिम युवकों को मौके से नहीं पकड़ा जाता तो वहां पर मुस्लिम समाज की धार्मिक भावना आहत होने को लेकर लोग सड़को पर उतरते, और फिर दंगो की खबरे आती, मुस्लिम युवकों को समय रहते पकड़ लिया गया । जिसके कारण एक बड़ी साजिश नाकाम हो गई ।

पुलिस ने मामले की पड़ताल की तो पता चला कि दोनों सगे भाई हैं, जिन्होंने भगवा साफा बांधकर कब्रों को तोड़कर आग लगा दी थी। मोहम्मद कमाल (35) और आदिल (23) को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस का कहना है कि उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में कांवड़ यात्रा के दौरान माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई । इसमें दोनों भाई अहम भूमिका निभा रहे थे।

एक तरफ धमकियां, दूसरी तरफ हिंदुओं को बदनाम करने की साजिशें, देश का माहौल बिगाड़ने वाले गिरोह सक्रीय
UP: भगवा पहनकर दो मुस्लिम भाईयों ने 3 मज़ार तोड़ीं, सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की साज़िश
Since independence
hindi.sinceindependence.com