WB SSC Scam : अर्पिता के एक और फ्लैट पर ईडी की रेड, फिर मिला नोटों का जखीरा, मंगाई रुपये गिनने की मशीन

बंगाल के स्कूल सेवा आयोग भर्ती घोटाले में मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से बुधवार को छापामारी के दौरान ईडी को भारी मात्रा में नकदी मिली है। नोटों की गिनती के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के पांच अधिकारियों को काउंटिंग मशीन के साथ बुलाया गया है।
WB SSC Scam : अर्पिता के एक और फ्लैट पर ईडी की रेड, फिर मिला नोटों का जखीरा, मंगाई रुपये गिनने की मशीन

बंगाल के स्कूल सेवा आयोग भर्ती घोटाले में उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी के साथ गिरफ्तार उनकी महिला मित्र अर्पिता मुखर्जी के यहां बड़ी मात्रा में रुपए मिलने का सिलसिला जारी है। अर्पिता के एक और फ्लैट पर बुधवार को ईडी ने रेड मारी। छापामारी के दौरान यहां से भी ईडी को भारी मात्रा में नकदी मिली है। नोटों की गिनती के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के पांच अधिकारियों को काउंटिंग मशीन के साथ बुलाया गया है। अनुमान है कि यह नकदी 15 से 20 करोड़ रुपये हो सकती है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों टालीगंज के डायमंड सिटी कंप्लेक्स में छापामारी के दौरान ईडी ने अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 21.90 करोड़ नकद बरामद किया था। बुधवार को फिर ईडी ने बेलघरिया स्थित अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट, कसबा राजडांगा, बारासात की साड़ी दुकान सहित छह ठिकानों पर छापामारी अभियान चलाया है। अर्पिता मुखर्जी के बेलघरिया स्थित फ्लैट पर 15 अधिकारियों की टीम पहुंची है। यहीं पर भारी मात्रा में नकदी बरामद हुई है। अर्पिता के बेलघरिया हाउसिंग में कुल दो फ्लैट हैं। ईडी के अधिकारी बारासात में साड़ी की दुकान, गरियाहाट की एक दुकान समेत कुल छह जगहों पर तलाशी ले रहे हैं।

बेलघरिया में अर्पिता के नाम पर हैं दो फ्लैट

बेलघरिया में अर्पिता मुखर्जी के नाम पर दो फ्लैट हैं। अर्पिता मुखर्जी कुछ साल पहले तक वहां नियमित रूप से रहती थी। बेलघरिया के घर के एक पड़ोसी ने कहा कि उसने पार्थ चटर्जी को बेलघरिया के घर जाते हुए कभी नहीं देखा, लेकिन कभी-कभी तृणमूल के कुछ लोग आते थे। अर्पिता अपनी मां के साथ बेलघरिया के उस घर में रहती थी। पड़ोसियों का अनुमान है कि अर्पिता के पास दो फ्लैट हैं, जिनमें से एक की कीमत करीब 70-75 लाख और दूसरी की कीमत करीब 85 लाख है।

'पार्थ बैंक की तरह कर रहे थे उनके घर का इस्तेमाल'

गौरतलब है कि पूछताछ में ईडी के समक्ष अर्पिता ने कहा है कि पार्थ उनके घर का इस्तेमाल बैंक की तरह कर रहे थे। अर्पिता ने बताया कि सारे पैसे पैक करके एक ही कमरे में रखे जाते थे। उक्त कमरे में पार्थ चटर्जी और उनके करीबी लोग ही अंदर आते थे। पार्थ सप्ताह या फिर 10 दिनों में एक बार उनके फ्लैट में आते थे। पार्थ उनके तथा एक और महिला के घर को मिनी बैंक की तरफ इस्तेमाल करते थे। वह महिला भी पार्थ की अच्छी दोस्त है। पार्थ कभी ये नहीं बताते थे कि कितने रुपये हैं। ईडी को पता चला है कि ये रुपये शिक्षक भर्ती के अलावा ट्रांसफर, कालेजों को मान्यता दिलाने जैसे कामों से आते थे। रुपये अक्सर मंत्री के लोग लेकर आते थे वे खुद नहीं लाते थे।

TMC विधायक माणिक भट्टाचार्य से भी पूछताछ

ईडी तृणमूल कांग्रेस विधायक माणिक भट्टाचार्य से भी पूछताछ कर रहा है। भट्टाचार्य बुधवार सुबह साल्टलेक स्थित ईडी कार्यालय में पेश हुए। शिक्षक भर्ती घोटाले में कथित संलिप्तता के बारे में पूछताछ के लिए पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व प्रमुख एवं नादिया जिले के पालाशीपाड़ा से विधायक भट्टाचार्य को तलब किया गया है। सूत्रों ने बताया कि भट्टाचार्य को ईडी के साल्टलेक में सीजीओ परिसर स्थित कार्यालय में दोपहर 12 बजे पहुंचने को कहा गया था, लेकिन वह सुबह 10 बजे ही वहां पहुंच गए। केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों ने 22 जुलाई को भट्टाचार्य के आवासीय परिसर की तलाशी ली थी और उन्हें एजेंसी के समक्ष पूछताछ के लिए पेश होने को कहा था।

WB SSC Scam : अर्पिता के एक और फ्लैट पर ईडी की रेड, फिर मिला नोटों का जखीरा, मंगाई रुपये गिनने की मशीन
SCO Summit से सुधरेंगे भारत-पाक के रिश्ते! एस जयशंकर और बिलावल पहली बार होंगे आमने-सामने, भारत से दोस्ती चाहते हैं भुट्टो
Since independence
hindi.sinceindependence.com