WBSSC SCAM: ‘ये नेता लूट रहे जनता का धन’ महिला ने यह कहते हुए फेंक दी ‘घोटालेबाज’ पार्थ चटर्जी पर चप्पल

शिक्षक भर्ती घोटाले में लिप्त ममता सरकार में तत्कालीन शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी पर महिला ने चप्पल फेंकने का मामला सामने आया है, महिला ने आमजन के पैसे लूटे जाने पर गुस्सा दिखाते हुए यह करने का सामर्थ दिखाया।
WBSSC SCAM: ‘ये नेता लूट रहे जनता का धन’ महिला ने यह कहते हुए फेंक दी ‘घोटालेबाज’ पार्थ चटर्जी पर चप्पल

शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार और पश्चिम बंगाल की ममता सरकार से बर्खास्त तत्कालीन शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी पर एक महिला ने सरेआम चप्पल बरसा दी। पार्थ पर चप्पल तब फेंकी गई जब उन्हें मेडिकल चेकअप के लिए ईएसआई अस्पताल ले जा रहा था। महिला ने कहा ‘ये नेता जनता का धन लूट रहे’ और आखिर में महिला ने पार्थ चटर्जी पर चप्पल फेंक दी।

पश्चिम बंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाले में लिप्त ममता सरकार में तत्कालीन शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी पर एक महिला द्वारा चप्पल फेंके जाने का वाकया सामने आया है।

मंगलवार को एक महिला ने पार्थ चटर्जी पर जूता फेंका। इस दौरान उस महिला ने कहा कि ये नेता जनता का पैसा लूट रहे है। पार्थ को चेकअप के लिए ईएसआई अस्पताल लाया गया।

पार्थ ने बताया था खुद के खिलाफ साजिश

इससे पहले 31 जुलाई को पार्थ चटर्जी ने दावा किया था कि ईडी की छापेमारी के दौरान बरामद किया गया पैसा उनका नहीं है। उन्होंने यह भी कहा था कि समय ही बताएगा कि उनके खिलाफ कौन साजिश कर रहा है। बता दें कि इससे पहले पार्थ चटर्जी की सहयोगी अर्पिता मुखर्जी ने कहा था कि यह पैसा पार्थ चटर्जी का है। इन दोनों के इनकार के बाद अब केंद्रीय एजेंसी के सामने बड़ा सवाल यह है कि छापेमारी में किसकी संपत्ति मिली है।

कलकत्ता हाईकोर्ट के निर्देश के बाद सीबीआई, पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग की सिफारिशों पर समूह-सी और डी कर्मचारियों के साथ-साथ सरकार द्वारा प्रायोजित और शिक्षकों की भर्ती में कथित अनियमितताओं की जांच कर रही है। वहीं ईडी घोटाले में शामिल मनी ट्रेल की जांच कर रही है।

पार्थ के 17 ठिकानों पर ईडी ने मारी छापेमारी

केंद्रीय जांच एजेंसी ने पार्थ चटर्जी से जुड़े करीब 17 ठिकानों पर छापेमारी की है। एक दर्जन से अधिक नए ठिकानों पर छापेमारी की तैयारी है। डायमंड सिटी के फ्लैट पर 22 जुलाई को छापा मारा गया था। 27 जुलाई को बेलघोरिया के दो फ्लैटों और चिनार पार्क के जिस फ्लैट में 28 जुलाई को ईडी ने छापेमारी की थी।

अब तक अर्पिता के चार फ्लैटों पर ईडी छापेमारी कर चुका है। अर्पिता मुखर्जी के घर पर पहली छापेमारी में 22 करोड़ रूपये और 70 लाख रुपये का सोना बरामद किया गया, जबकि दूसरी छापेमारी में करीब 28 करोड़ नकद और 4 करोड़ रुपये का सोना बरामद किया गया।

अर्पिता के घर से मिले ढेर सारे पैसे

अर्पिता मुखर्जी के घर से पहले ईडी ने नोटों का जखीरा बरामद किया। फिर जब जांच आगे बढ़ी तो एजेंसी को अर्पिता के चार फ्लैटों की जानकारी मिली और फिर ईडी को अर्पिता की लग्जरी कारों के बारे में पता चला. ईडी ने अर्पिता के फ्लैट पर 23 जुलाई को पहली बार छापा मारा था. इस दौरान ईडी को करीब 21 करोड़ रुपये नकद मिले।

इतना ही नहीं, ईडी ने अर्पिता के घर से 20 मोबाइल और 50 लाख रुपये के जेवर भी बरामद किए है। अर्पिता के घर से ईडी को करीब 60 लाख की विदेशी मुद्रा भी मिली थी. इसके बाद ईडी ने अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया।

WBSSC SCAM: ‘ये नेता लूट रहे जनता का धन’ महिला ने यह कहते हुए फेंक दी ‘घोटालेबाज’ पार्थ चटर्जी पर चप्पल
West Bengal: बंगाल को 'चुनावी' सौगात, सात नये जिलों की घोषणा, ममता ने संगठन में भी किए बदलाव

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com