केंद्रीय मंत्रालयों के CSS के सभी अधिकारी आखिर क्यों नाराज? कामकाज ठप्प के आसार

राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने 25 फरवरी को आश्वासन दिया था। लेकिन इसके बावजूद चालीस दिन बीत जाने के बाद भी डीओपीएंडटी द्वारा कोई पदोन्नति आदेश जारी नहीं किया गया और न ही अन्य मुद्दों पर कोई प्रगति हुई है
केंद्रीय मंत्रालयों के CSS के सभी अधिकारी आखिर क्यों नाराज? कामकाज ठप्प के आसार
25 फरवरी 2022 को नार्थ ब्लॉक स्थित मंत्री कार्यालय के बाहर असंतोष जतायाFILE PHOTO- SINCE INDEPENDENCE

केंद्रीय मंत्रालयों में सीएसएस से जुड़े सेवा मुद्दों को लेकर अधिकारियों में नाराजगी देखने को मिल रही है। 4 अप्रैल 2022 को आकाशवाणी भवन के पास CSS अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक में अधिकारियों ने सीएसएस से जुड़े सेवा मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की थी।

मिला तो केवल मंत्रीजी का आश्वासन
25 फरवरी 2022 को नार्थ ब्लॉक स्थित केंद्रीय सचिवालय के अधिकारियों ने अपने 1500 अधिकारियों की मांगों पर कार्रवाई नहीं करने पर मंत्री कार्यालय के बाहर असंतोष जताया था। जिसके बाद राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने 8 फरवरी और 25 फरवरी को आश्वासन दिया था। लेकिन इसके बावजूद चालीस दिन बीत जाने के बाद भी डीओपीएंडटी द्वारा कोई पदोन्नति आदेश जारी नहीं किया गया और न ही अन्य मुद्दों पर कोई प्रगति हुई है।
राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के साथ मीटिंग
राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के साथ मीटिंग FILE PHOTO- SINCE INDEPENDENCE

10 मार्च तक सभी मांगों को पुरा करने का था आश्वासन

CSS अधिकारियों ने चर्चा की कि वे DoP&T अधिकारियों द्वारा निष्क्रियता से निराश हैं और वह भी 8 फरवरी और 25 फरवरी को MoS द्वारा आश्वासन के बाद इस संबंध में कार्मिक मंत्री के निजी सचिव ने यह भी कहा कि सचिवालय अधिकारियों की मांगों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। तथा 10 मार्च तक नियमित पदोन्नति के साथ सभी जायज मांगों पर कार्रवाई होगी। स्थिति इतनी खराब है कि अब अधिकारियों को मंत्री का आश्वासन कोरा सा लगने लगा है।

सचिवालय के अनुभाग अधिकारी से लेकर निदेशक के सभी ग्रेड में नियमित प्रमोशन शुरू करना, CSS को संगठित सेवा के दायरे में लाकर एनएफयू (NFU)एवं एनएफ़एसजी (NFSG)का लाभ मिले, 1 अक्टूबर को केंद्रीय सचिवालय सेवा दिवस की आधिकारिक घोषणा करें, वर्ष 2018 से 2022 तक लम्बित अनुभाग अधिकारी के लिए विभागीय परीक्षा करवाना एवं केंद्रीय सचिवालय के अधिकारियों के लिए केंद्र के ही कार्यालय में 9 वर्ष का प्रतिनियुक्ति का क्लोज़ को हटाएं और कार्मिक मंत्रालय के साथ नियमित मासिक रिव्यू मीटिंग का आयोजन करें ।
केशराम मीना, प्रेसिडेंट CSS फ़ोरम
25 फरवरी 2022 को नार्थ ब्लॉक स्थित मंत्री कार्यालय के बाहर असंतोष जताया
25 फरवरी 2022 को नार्थ ब्लॉक स्थित मंत्री कार्यालय के बाहर असंतोष जतायाFILE PHOTO- SINCE INDEPENDENCE

मांग नहीं मानी गई तो करेंगे प्रदर्शन

नाम न छापने की शर्त पर बैठक में मौजूद अधिकारियों ने बताया कि बैठक में यह फैसला लिया गया है कि अब से सीएसएस अधिकारी सप्ताह में एक बार अपनी सेवा के मुद्दों को आगे बढ़ाने के लिए कार्मिक मंत्री के कार्यालय का दौरा करेंगे और यदि दो सप्ताह के भीतर तत्काल कार्रवाई नहीं की जाती है, तो लंबित मुद्दे को लेकर सभी मंत्री के कार्यालय का दौरा करेंगे और उनके कार्यालय के सामने बैठेंगे।

25 फरवरी 2022 को नार्थ ब्लॉक स्थित मंत्री कार्यालय के बाहर असंतोष जताया
चंडीगढ़ पर किसका अधिकार? मान सरकार के प्रस्ताव पर हरियाणा सरकार करेगी विशेष सत्र का आयोजन

Related Stories

No stories found.