राजस्थान में कांग्रेस की महारैली से पहले महा-घमासान: ज्योति खंडेलवाल के पत्र पर क्यों मचा बवाल

पीसीसी में बुलाई गई बैठक में इस मुद्दे को लेकर जबरदस्त हंगामा हुआ ज्योति खंडेलवाल का विरोध कर रहे कांग्रेस नेता मित्रोदय गांधी ने प्रदेश प्रभारी अजय माकन की मौजूदगी में प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के भाषण के बीच में हंगामा शुरू कर दिया।
राजस्थान में कांग्रेस की महारैली से पहले महा-घमासान:  ज्योति खंडेलवाल के पत्र पर क्यों मचा बवाल
ज्योति खंडेलवाल

राजस्थान की राजनीती अब हिचकोले मारने लगी है। मौजूदा सरकार कांग्रेस में विरोध के स्वर देखने को मिले है। पूर्व जयपुर नगर निगम मेयर ज्योति खंडेलवाल ने अपनी ही पार्टी का विरोध किया और कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गाँधी को पत्र लिखकर कोरोना के नए वैरिएंट का हवाला दिया और इस महारैली को स्थिगित करने की मांग की लेकिन इसके बाद कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं ने पीसीसी में ज्योति खंडेलवाल का कड़ा विरोध किया और पार्टी से निष्कासित करने की मांग उठाई वही ज्योति खंडेलवाल के इस बयान के बाद से आलाकमान की नाराजगी देखने को मिली है ।

पीसीसी में बुलाई गई बैठक में इस मुद्दे को लेकर जबरदस्त हंगामा हुआ। ज्योति खंडेलवाल का विरोध कर रहे कांग्रेस नेता मित्रोदय गांधी ने प्रदेश प्रभारी अजय माकन की मौजूदगी में प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के भाषण के बीच में ही हंगामा शुरू कर दिया। और ज्योति खंडेलवाल को खरी - खोटी सुनाने लगे। बाद में विधायक अमीन कागजी और दूसरे नेताओं ने हंगामा शांत करवाया।

मित्रोदय गांधी
मित्रोदय गांधी
Summary

डोटासरा ने कहा - आप कौनसा भला काम कर रहे हो

विरोध के स्वर और तेज होने लगे मित्रोदय गांधी यहां भी नहीं रुके बैठक में ज्योति खंडेलवाल की मौजूदगी पर नाराजगी जताते हुए कहा- हम रैली को सफल बनाने दिन रात मेहनत कर रहे ​हैं और जिस नेता ने हमारी मेहनत पर पानी फेर दिया, उसे यहां बैठा रखा है। गांधी ने जोर-जोर से बोलना जारी रखा। इस पर डोटासरा ने मित्रोदय गांधी जो शांत कराते हुए कहा - आप कौनसा भला काम कर रहे हो। अनुशासन में रहकर बात रखनी चाहिए। इन्होंने अच्छा नहीं किया तो आप भी अच्छा नहीं कर रहे हैं। प्रदेश प्रभारी यहां बैठे हैं, उन्हें सब पता है। करीब एक मिनट के हंगामे के बाद शांति हुई और प्रदेशाध्यक्ष ने आगे भाषण दिया।

कोरोना को लेकर सरकार गंभीर नहीं दिख रही

बीजेपी प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कांग्रेस को आड़े हाथो लिया है। और कहा की प्रदेश में कोरोना (Corona) का नया वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) तेजी से फैल रहा है और इसको लेकर चिकित्सा विभाग चिंता में है। ओमिक्रोन वायरस तेजी से फैलने वाला वायरस है लेकिन फिर भी कांग्रेस सरकार इसे लेकर गंभीर नहीं है।

रामलाल शर्मा
रामलाल शर्मा

शर्मा ने कहा की जयपुर की पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल भी सोनिया गांधी को पत्र लिख चुकी है। इससे यह तो साफ हो गया है कि कांग्रेस के नेता भी रैली का आयोजन नहीं चाहते हैं। हालांकि कांग्रेस में सलाह है और अंतर्कलह यह तो आने वाला वक्त तय करेगा। अब सवाल यह उठता है क्या वाकई कांग्रेस की रैली पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

ज्योति खंडेलवाल
CM Ashok Gehlot : राजस्थान में आर्थिक व्यवस्था को तगड़ा झटका

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com