Election 2023: राजस्थान में रिवाज कायम; MP, Rajasthan, Chhattisgarh में खिल रहा कमल

Assembly Election 2023: चार राज्यों में रुझानों में राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में भाजपा को बहुमत से सत्ता मिलती दिख रही है। तेलंगाना में जरूर भाजपा को नुकसान होने के आसार है।
Election 2023: राजस्थान में रिवाज कायम; MP, Rajasthan, Chhattisgarh में खिल रहा कमल

Assembly Election 2023: पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में से चार राज्यों के नतीजे आखिर रविवार (3 दिसंबर,2023) को सुबह से आने शुरू हो गए। राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में हुए मतदान के परिणामों में दोपहर 12 बजे बाद तक के रुझानों से यह तो स्पष्ट हो गया कि राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में पूरी तरह कमल खिलता दिख रहा है। हां तेलंगाना में जरूर कांग्रेस को बढ़त मिल रही है, जिससे वहां कांग्रेस सरकार बना सकती है।

अब बात करें मध्य प्रदेश की तो वहां शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार थी, जो पुन: रीपीट हो रही है। जबकि राजस्थान में हर बार की तरह इस बार भी रिवाज कायम होने जा है, अर्थात कांग्रेस से सत्ता छिटक कर भाजपा की झोली में आ रही है। उधर, छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस की सत्ता छिन रही है। वहां भी भाजपा बहुमत के साथ सरकार बनाने की दिशा में बढ़ रही है।

जानें अब तक चार राज्यों की स्थिति

राजस्थान

राजस्थान में 199 सीटों के रुझानों में बीजेपी को 110 सीटें और कांग्रेस को 73 सीटें पर बढ़त दिख रही है। जबकि 16 अन्य को। इससे स्पष्ट है कि परिणाम थोड़े नीचे ऊपर भी हुए तो भी बीजेपी सरकार अपने बूते बना लेगी।

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के रुझान सामने आ चुके हैं। बीजेपी को 161, कांग्रेस को मात्र 66 और अन्य को 3 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है। इससे स्पष्ट है कि मध्य प्रदेश में भाजपा पूरे बहुमत से सरकार बना लेगी।

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ की 90 सीटों के रुझानों में बीजेपी को 54 सीटें, कांग्रेस को 35 और अन्य के खाते में 1 सीटें पर बढ़त है। यहां भी कांग्रेस की सरकार बदल कर भाजपा को बहुमत मिलता दिख रहा है।

तेलंगाना

तेलंगाना में 103 सीटों के रुझान सामने आए हैं। यहां कांग्रेस 60 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। बीआरएस को 33 सीटों और एआईएमआईएम को 6 सीटों पर बढ़त मिली है। वहीं, बीजेपी को 3 सीटों पर आगे चल रही है।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com