तीस्ता मामलें में गहलोत ने अहमह पटेल का किया बचाव, उल्टे BJP पर लगाया नफरत फैलाने का आरोप

आज श्री अहमद पटेल अपना पक्ष रखने के लिए हमारे बीच में नहीं हैं तो राजनीतिक लाभ के लिए उन पर मिथ्या आरोप लगाए जा रहे हैं। यह बदले की राजनीति भाजपा-RSS के चरित्र का प्रमाण है- गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

गुजरात दंगो के मामलें में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को गिराने की साजिश में NIT के रडार पर आई सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ को कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने 30 लाख रुपये दिए थे। NIT की जांच में यह खुलासा होने के बाद कांग्रेस के कई नेता उलटे BJP पर ही दोषारोपण कर रहे हैं।

इसी मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अहमद पटेल का बचाव करते हुए BJP पर राजनीतिक नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि गुजरात पुलिस की SIT द्वारा श्रीमती तीस्ता सीतलवाड़ के हवाले से दिवंगत अहमद पटेल पर आरोप लगाना निंदनीय एवं राजनीतिक द्वेष की भावना का प्रतीक है। पिछले गुजरात चुनाव से पूर्व भी भाजपा नेताओं द्वारा श्री अहमद पटेल पर आरोप लगाए गए थे।

बदले की राजनीति
उन्होंने आगे लिखा कि ‘आज श्री अहमद पटेल अपना पक्ष रखने के लिए हमारे बीच में नहीं हैं तो राजनीतिक लाभ के लिए उन पर मिथ्या आरोप लगाए जा रहे हैं। यह बदले की राजनीति भाजपा-RSS के चरित्र का प्रमाण है।

तीस्ता और अहमद पटेल के बीच डील

बता दें कि एएआई का दावा है कि तीस्ता के सहयोगी रईस खान ने अपने बयान में कहा है कि तीस्ता और अहमद पटेल के बीच डील हुई थी। जिसमें पटेल ने तीस्ता से कहा था कि अगर वह भाजपा सरकार को गिराने में मदद करेंगी तो उसे अपनी कंपनी ही में नहीं बल्कि देश-विदेश की एजेंसियों से फंड दिलाने का वादा किया था। उन्होंने कहा कि शुरुआत में तीस्ता को 5 लाख रुपये की राशि दी गई थी और बाद में 25 लाख रुपये की राशि तीस्ता को सौंपी गई है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत
कोविड-19: सुप्रीम कोर्ट के राज्यों को निर्देश मृतकों के परिजनों को तुरंत दें मुआवजा

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com