I.N.D.I. Alliance: गठबंधन में बढ़ रही दरार, JDU सांसद बोले, 'नीतीश की अनदेखी हुई तो छोड़ जाएंगे सारे दल'

JDU Targets Congress: जेडीयू सांसद पिंटू ने गठबंधन की बैठक को लेकर कांग्रेस पर जमकर प्रहार किए। बैठक को चाय-बिस्किट पार्टी बताया और गठबंधन बिखरने की चेतावनी तक दे डाली।
I.N.D.I. Alliance: गठबंधन में बढ़ रही दरार, JDU सांसद बोले, 'नीतीश की अनदेखी हुई तो छोड़ जाएंगे सारे दल'

JDU Targets Congress: जनता दल (युनाइटेड) के सांसद सुनील सिंह पिंटू ने कांग्रेस पार्टी और राहुल गाँधी को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि JDU प्रमुख एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मेहनत एवं कोशिशों से इंडी गठबंधन (I.N.D.I. Alliance) बना है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हैं और ना ही वो किसी से नाराज हैं।

सुनील सिंह ने कहा कि 19 दिसंबर 2023 को हुई इंडी गठबंधन की बैठक में सिर्फ चाय और बिस्किट ही परोसी गई। पहले बैठक में चाय-समोसे दिए जाते थे और अब यह चाय बिस्किट तक सिमट गई। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस ने खुद ही कहा है कि अभी उसके पास फंड की कमी है। जदयू सांसद ने कहा कि चंदे का पैसा अभी कांग्रेस पार्टी के पास नहीं आया है!

कांग्रेस के अडियल रवैये की वजह से बैठक फ्लॉप

मीडिया से बातचीत में सुनील सिंह ने कहा, “हमने (जेडीयू) इस गठबंधन के सभी दलों को एक प्लेटफॉर्म पर ला दिया। ये सारा प्रयास नीतीश कुमार का है। नीतीश कुमार ने कहा था कि आज वाली बैठक (19 दिसंबर) हो रही है, उस दिन नेता का चुनाव या फिर कम से कम शीट सीट शेयरिंग तो होगी। दोनों पर कुछ नहीं हो पाया।”

उन्होंने आगे कहा, “मामला टाँय-टाँय फिस्स होकर रह गया। इसके कारण हमारे नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही नहीं गए कि भाई… जब कुछ हुआ ही नहीं तो प्रेस को और जनता को क्या बोला जाए? कांग्रेस के अड़ियल रवैये के कारण ये बैठक पूरी तरह टाँय-टाँय फिस्स होकर रह गई।”

...तो बिखर जाएंगे घटक दल

ये पूछने पर कि क्या नीतीश कुमार को तवज्जो कम दी जा रही है, इस पर जदयू सांसद ने कहा, “देखिए, नेता को तवज्जो दे या न दे, उन्हीं की बदौलत तो सारे लोग एक जगह जमा हुए हैं। जिस दिन कांग्रेस हमारे नेता को तवज्जो देना छोड़ देगी, पता चलेगा कि पूरे इंडी गठबंधन के घटक दल अपने आप बिखर जाएँगे।”

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, सुनील कुमार पिंटू ने कहा, “गठबंधन को लेकर कांग्रेस का अड़ियल रवैया है। कांग्रेस सीरियस नहीं है। ना कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और ना उनके पीएम वेटिंग राहुल गाँधी इसको लेकर सीरियस हैं।”

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com