Politics: अब जयंत चौधरी गठबंधन को बड़ा झटका देने की तैयारी में, INDIA अलाइंस के लिए नई चुनौती

UP Politics: विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की बड़ी हार ने कई सहयोगी पार्टियों को अपने फैसले पर फिर से विचार करने के लिए मजबूर कर दिया है। अब INDIA गठबंधन की पार्टी RLD ने ऐसे संकेत दिए हैं।
Politics: अब जयंत चौधरी गठबंधन को बड़ा झटका देने की तैयारी में, INDIA अलाइंस के लिए नई चुनौती

UP News: मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की बड़ी हार हुई है। इस हार के बाद INDIA गठबंधन के सहयोगी दल कांग्रेस के साथ जाने के फैसले पर फिर से विचार कर रहे हैं। कुछ मीडिया रिपोर्टस की मानें तो यूपी में INDIA गठबंधन को बड़ा झटका लग सकता है। गठबंधन की पार्टी आरएलडी अपने फैसले पर फिर से विचार कर रही है। ऐसे में अब गठबंधन के लिए नई चुनौती खड़ी हो सकती है।

आरएलडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शाहिद सिद्दीकी ने टॉइम्स ऑफ इंडिया के साथ बातचीत में ऐसा बयान दिया है। उन्होंने कहा, 'पार्टी की जल्द ही बड़ी बैठक होगी, इस बैठक में हम आगामी चुनाव के लिए गठबंधन पर विचार करेंगे। बैठक में विचार किया जाएगा कि INDIA गठबंधन में रहना है या उससे रास्ते पर चलना है। कांग्रेस तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में अपनी राजनीतिक ताकत दिखाने में असमर्थ रही है।'

गठबंधन की बैठक से बना सकते हैं दूरी

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सिद्दीकी ने कहा कि हम अब आगे का फैसला लेने से पहले तमाम पहलुओं पर चर्चा करेंगे। सूत्रों की मानें तो अगर INDIA गठबंधन की बैठक 6 दिसंबर को ही हुई होती तो अखिलेश यादव की तरह जयंत चौधरी भी बैठक से दूरी बना सकते हैं। दरअसल, राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ आरएलडी का गठबंधन हुआ था। इस गठबंधन में कांग्रेस ने आरएलडी को केवल एक ही सीट दी थी।

राजस्थान में 6 सीट मांगी, 1 मिली

राजस्थान के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ आरएलडी को केवल भरतपुर सीट मिली थी। इस सीट पर आरएलडी ने अशोक गहलोत सरकार में मंत्री रहे सुभाष गर्ग को अपना उम्मीदवार बनाया था। इस सीट पर सुभाष गर्ग ने जीत दर्ज की है, जबकि सूत्रों की मानें तो आरएलडी ने जाट बहुल क्षेत्र की 6 सीट कांग्रेस से गठबंधन के लिए मांगी थी, लेकिन कांग्रेस ने 6 सीट देने से मना कर दिया था। इस चुनाव के बाद किसी भी गठबंधन के लिए आरएलडी अपनी मांग को मजबूती के साथ रखेगी।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com