Seat Sharing: पंजाब, दिल्ली, गुजरात और गोवा, AAP दिखा रही कांग्रेस को ढ़ेंगा! जाहिर किया मंसूबा

AAP-Congress Seat Sharing: आगामी लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे से पहले ही ‘आप’ ने कांग्रेस को ढ़ेंगा दिखाना शुरू कर दिया है। पंजाब में तो एक भी सीट कांग्रेस को देने का तैयार नहीं है।
Seat Sharing: पंजाब, दिल्ली, गुजरात और गोवा, AAP दिखा रही कांग्रेस को ढ़ेंगा! जाहिर किया मंसूबा

AAP-Congress Seat Sharing: आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को गुजरात की दो और गोवा की एक लोकसभा सीट के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा करके विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ पर दबाव बढ़ा दिया है। उसने सीट बंटवारे की बातचीत में देरी की शिकायत की है। कांग्रेस को अलग-थलग करने की कोशिश में ‘आप’ ने दिल्ली में 7 लोकसभा सीटों में से केवल 1 सीट की पेशकश उसके लिए की है और अपनी मंशा साफ कर दी है कि वह बाकी 6 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है।

पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) की बैठक के बाद यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ‘आप’ के राज्यसभा सदस्य और महासचिव (संगठन) संदीप पाठक ने कहा कि वेन्जी वीगास दक्षिण गोवा सीट से चुनाव लड़ेंगे, जबकि चैतर वसावा और उमेश भाई मकवाना क्रमशः गुजरात में भरूच और भावनगर सीटों से चुनाव लड़ेंगे।

पंजाब में सभी 13 लोकसभा सीटों पर लड़ेगी ‘आप’

पाठक ने कहा कि गुजरात में पिछले विधानसभा चुनाव में पार्टी की वोट हिस्सेदारी के आधार पर उसने राज्य में अपने लिए 8 लोकसभा सीट की मांग की है और बाकी 18 सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने को तैयार है।

उन्होंने कहा कि ‘आप’ पंजाब में सभी 13 लोकसभा सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) से मांग की है कि चंडीगढ़, हरियाणा और अन्य राज्यों में सीट बंटवारे पर बातचीत जल्द से जल्द होनी चाहिए।

‘आप’ ने कांग्रेस पर यह भी मंढा दोष

पाठक ने कहा कि सीट बंटवारे पर बातचीत के लिए कांग्रेस और उनकी पार्टी के नेताओं के बीच 8 और 12 जनवरी को दो आधिकारिक बैठक हुईं जो बेनतीजा रहीं। उन्होंने कहा, “पिछले एक महीने में कांग्रेस के साथ कोई बैठक नहीं हुई और हमें यह संवाददाता सम्मेलन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।”

‘आप’ नेता ने कहा कि इसके बावजूद उनकी पार्टी मजबूती और ईमानदारी से ‘इंडिया’ गठबंधन के साथ खड़ी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि विपक्षी गठजोड़ उनके घोषित उम्मीदवारों को स्वीकार करेगा। ‘आप’ के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में पीएसी की बैठक हुई।

‘आप’ दिल्ली में केवल 1 सीट देगी कांग्रेस को?

पाठक ने कहा, “हम दिल्ली में 6 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहते हैं और हाल के चुनावों में वोट प्रतिशत के आधार पर कांग्रेस को एक सीट की पेशकश करना चाहते हैं। हम फिलहाल दिल्ली के लिए किसी भी उम्मीदवार की घोषणा नहीं कर रहे हैं, लेकिन अगर सीट-बंटवारे पर बातचीत जल्द पूरी नहीं होती है, तो हम दिल्ली की 6 सीटों के लिए भी उम्मीदवारों की घोषणा करेंगे।”

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com