कांग्रेस को एक ओर झटका: पंजाब के दिग्गज सुनील जाखड़ भाजपा में शामिल

जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस ने उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई है। पार्टी छोड़ने से पहले उन्होंने कांग्रेस को खूब लताड़ भी लगाई थी। ज्ञात हो कि जाखड़ परिवार करीब 50 साल कांग्रेस में रहा है।

कांग्रेस को एक ओर झटका: पंजाब के दिग्गज सुनील जाखड़ भाजपा में शामिल
Photo |ANI

Sunil Jakhar Joins BJP: पंजाब कांग्रेस के दिग्गज हिंदू नेता के तौर पर जाने जानें वाले सुनील जाखड़ आज भाजपा में शामिल हो गए। गुरुवार को दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता दिला दी। बता दें कि जाखड़ ने कुछ दिन पहले ही अनुशासनहीनता का नोटिस मिलने पर कांग्रेस छोड़ दी थी। जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस ने उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई है। पार्टी छोड़ने से पहले उन्होंने कांग्रेस को खूब लताड़ भी लगाई थी। ज्ञात हो कि जाखड़ परिवार करीब 50 साल कांग्रेस में रहा है। इस वक्त उनकी तीसरी पीढ़ी से भतीजे संदीप जाखड़ कांग्रेस के विधायक हैं।

जाखड़ ने कहा था ​कांग्रेस नेतृत्व चापलूसों से घिरा हुआ

सुनील जाखड़ ने कांग्रेस छोड़ने से पहले पार्टी नेताओं पर बड़ा हमला बोला था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व चापलूसों से घिरा हुआ है। राहुल गांधी फैसले नहीं लेते। उन्हें दोस्त और दुश्मन की पहचान करनी चाहिए। जाखड़ ने अंबिका सोनी पर जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा कि पंजाब में ज्यादातर कांग्रेस इंचार्ज सोनी की ही कठपुतली बनकर काम करते रहे हैं। जाखड़ ने कांग्रेस के उदयपुर चिंतन शिविर पर भी सवाल खड़े किए थे।

जाखड़ ने कहा था अंबिका सोनी का पंजाब में सिख सीएम का तर्क सोच से परे: सुनील जाखड़

सुनील जाखड़ ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाने के बाद ज्यादातर विधायक उन्हीं के फेवर में थे। इसके बावजूद उन्हें CM नहीं बनाया गया। इसके पीछे की वजह सोनिया गांधी की करीबी अंबिका सोनी हैं। जिन्होंने सेानिया से कहा था कि पंजाब में सिख CM ही होना चाहिए। तब भी जाखड़ ने कहा था कि सोनी का ये तर्क सोच से परे है। इससे पहले जाखड़ को हटाकर कांग्रेस ने नवजोत सिद्धू को प्रधान बना दिया था। इसके बाद नाराज होकर जाखड़ ने एक्टिव पॉलिटिक्स से किनारा कर लिया था।

कांग्रेस ने नोटिस देकर कहा था आपके बयानों से पार्टी को नुकसान हुआ

सुनील जाखड़ को कांग्रेस ने अनुशासनहीनता का नोटिस भेजा था। कांग्रेस ने कहा कि चुनाव से पहले उनके बयानों से पार्टी को बहुत नुकसान हुआ। हालांकि, जाखड़ ने इस नोटिस का जवाब नहीं दिया। जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान को उनसे बात करनी चाहिए थी। इसके बजाय उन्हें नोटिस थमा दिया गया।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com