हाथापाई में बदली कांग्रेस की जुबानी जंग: आपस में भिड़े कांग्रेस के दो नेता, जानिए क्या है पूरा मामला

जयपुर के सांगानेर ब्लॉक चुनावों के लिए होने वाली मीटिंग में आज विधानसभा चुनावों के लिए तैयारी कर रहे कांग्रेस के दो नेता विनय प्रताप सिंह भोपर और पुष्पेंद्र भारद्वाज में हाथापाईं हो गई।
हाथापाई में बदली कांग्रेस की जुबानी जंग: आपस में भिड़े कांग्रेस के दो नेता, जानिए क्या है पूरा मामला

कांग्रेस के खेमे में चिंतन शिविर के बाद से ही कलह मची हुई है। पहले गणेश घोघरा ने इस्तीफा दिया, कल खेल मंत्री अशोक चांदना ने अपने इस्तीफे की पेशकश कर दी है। लेकिन अब तक कांग्रेस के अंदर जुबानी जंग हो रही थी लेकिन ये जुबानी जंग आज हाथापाई में बदल गई।

जयपुर के सांगानेर ब्लॉक चुनावों के लिए होने वाली मीटिंग में आज विधानसभा चुनावों के लिए तैयारी कर रहे कांग्रेस के दो नेता विनय प्रताप सिंह भोपर और पुष्पेंद्र भारद्वाज में हाथापाईं हो गई। जिस तरह से विनय प्रताप सिंह भोपर की लहुलुहान तस्वीरें सामने आई है उससे तो यही लगता है कि मामला तगड़ा ही हुआ है।

ब्लॉक चुनाव की तैयारी की मीटिंग में हुई थी घटना

मामला राजधानी जयपुर का है। जहां सांगानेर ब्लॉक कांग्रेस की ब्लॉक चुनावों को लेकर बैठक हो रही थी। तभी वहां मानसरोवर ब्लॉक के विनय प्रताप सिंह भोपर पहुंच गए।

विनय प्रताप सिंह भोपर ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि रणनीति को लेकर कोई सवाल उठाने भर से ही वहां मौजूद कांग्रेस नेता पुष्पेंद्र भारद्वाज तैश में आ गए। विनय ने आरोप लगाया है कि पुष्पेंद्र भारद्वाज ने उनको पीटा है।

कांग्रेस नेता विनय सिंह ने अपनी पार्टी के पुष्पेंद्र भारद्वाज पर काफी गंभीर आरोप लगाए हैं। भोपर ने पुष्पेंद्र भारद्वाज के खिलाफ सांगानेर थाने में मामला दर्ज कराया है।

पुष्पेंद्र भारद्वाज ने दी सफाई

वहीं मामले को लेकर कांग्रेस नेता पुष्पेंद्र भारद्वाज ने अपना पक्ष रखते हुए एक वीडियो जारी किया है। पुष्पेंद्र ने कहा है कि विनय प्रताप सिंह शाम की मानसरोवर ब्लॉक की मीटिंग में अधिकृत थे पर सांगानेर ब्लॉक की मीटिंग में वो अधिकृत नहीं थे।

वर्तमान ब्लॉक अध्यक्ष दिनेश व्यास के मना करने के बावजूद उन्होंने वहां घुसने की और माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। भोपर ने वहां मौजूद महिला कार्यकर्ताओं के सामने ही गाली गलौज शुरू कर दी।

पुष्पेंद्र के अनुसार वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने उनसे बाहर जाने का निवेदन किया, जिसपर वो हाथापाई पर उतर आए।

मेरा मारपीट से कोई सम्बंध नहीं – पुष्पेद्र भारद्वाज

मामले से अपना पल्ला झाड़ते हुए पुष्पेंद्र ने ये भी कहा कि उनका इस मारपीट से कोई सम्बंध नहीं है। भोपर कार्यकर्ताओं से गाली गलौच कर रहे थे। जिसपर कार्यकर्ताओं से उनकी झड़प हुई। साथ ही भारद्वाज ने भोपर पर अनुशासन हीनता का आरोप लगाया है।

पुष्पेंद्र भारद्वाज ने भोपर को पब्लिसिटी के लिए पार्टी मीटिंग में माहौल खराब करने वाला नेता कार्यकर्ता करार देते हुए पार्टी अध्यक्ष से उनकी शिकायत करने की बात कही है। ब्लॉक अध्यक्ष और महिला कार्यकर्ताओं ने भोपर के ख़िलाफ़ थाने में मुक़दमा दिया है।

कांग्रेस को कहां लेकर जा रहे ये मामले?

जैसे हर सिक्के के दो पहलू होते हैं वैसे ही इस कहानी के भी दो पहलू हैं। एक विनय प्रताप सिंह भोपर का और दूसरा पुष्पेंद्र भारद्वाज का। अब कौन सही है और कौन गलत ये पता करना तो पुलिस का काम है।

लेकिन बड़ा सवाल ये है कि कांग्रेस में आए दिन हो रहे ये आंतरिक कलह के मामले आखिर कांग्रेस को कहां लेकर जा रहे हैं। ये मामले साफ तौर पर कांग्रेस में आपसी तालमेल की कमी को जाहिर कर रहे हैं।

ऐसे में कांग्रेस को जरूरत है कि वो चिंतन करें और अपने कार्यकर्ताओं के आपसी तालमेल को बिठाएं।

हाथापाई में बदली कांग्रेस की जुबानी जंग: आपस में भिड़े कांग्रेस के दो नेता, जानिए क्या है पूरा मामला
जैसलमेर में एक ही दिन में मिले तीन लावारिस शवों से फैली दहशत‚ पुलिस तफ्तीश में जुटी

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com