राजस्थान: दिल्ली से अब जयपुर में शिफ्ट कांग्रेस की 'महंगाई हाटाओ' रैली, क्या 2 लाख लोगों के साथ दस्तक देगा कोरोना ?

12 दिसंबर जो होने वाली कांग्रेस की ‘महंगाई हटाओ’ रैली को दिल्ली से अब जयपुर में शिफ्ट किया जा रहा है। कोरोना के नए वेरिएंट और तीसरी लहर के खतरे के बीच यह राजनितिक आयोजन प्रदेश पर एक बड़ा खतरा साबित हो सकता है।
राजस्थान: दिल्ली से अब जयपुर में शिफ्ट कांग्रेस की 'महंगाई हाटाओ' रैली, क्या 2 लाख लोगों के साथ दस्तक देगा कोरोना ?
राजस्थान: दिल्ली से अब जयपुर में शिफ्ट कांग्रेस की 'महंगाई हाटाओ' रैली, 2 लाख लोगों के साथ दस्तक देगा कोरोना

देश में फिर से कोरोना अपना कहर बरसा रहा है। विश्व में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से दहशत का माहौल बना हुआ है। वहीं, राजस्थान में भी कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। स्कूलों में बच्चों के पॉजिटिव आने के बाद ऑफ़लाइन क्लासेज बंद कर ऑनलाइन क्लासेज शुरू करने का फैसला किया गया। लेकिन अब दो राजनितिक आयोजनों के कारण प्रदेश पर कोरोना का गहरा संकट मंडरा रहा है। दरअसल, 12 दिसंबर को कांग्रेस की दिल्ली में होने वाली राष्ट्रीय स्तर की रैली ‘महंगाई हटाओ’ रैली को अब जयपुर शिफ्ट किया जा रहा है। इस रैली में लगभग 2 लाख लोगों के जुटने की संभावना है।

के.सी.वेणुगोपाल और अजय माकन 3 दिसंबर को आएंगे जयपुर

कांग्रेस की इस रैली में सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी समेत कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता और करीब 2 लाख से ज्यादा लोग शामिल होंगे। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे के कारण इस रैली को दिल्ली में मंजूरी नहीं मिली। अब राजस्थान कांग्रेस इस रैली की मेजबानी करेगी। रैली की तैयारियों के लिए शुक्रवार यानि 3 दिसंबर को कांग्रेस के संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल और राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी अजय माकन जयपुर आ रहे है। इनके जयपुर दौरे के बाद ही रैली की जगह तय की जाएगी। रैली में भीड़ जुटाने के लिए 13 जिलाध्यक्षों की नियुक्ति भी कर दी गई है।

भाजपा ने करवाई रैली की मंजूरी रद्द : वेणुगोपाल

केंद्र की भाजपा सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए केसी वेणुगोपाल ने कहा कि यह देश की पहली ऐसी सरकार है जो न तो सांसदों की सुनना चाहती है और न ही संसद की। उन्होंने कहा कि महंगाई के खिलाफ दिल्ली में 12 दिसंबर को होने वाली राष्ट्रव्यापी रैली को बीजेपी ने साजिश रच कर रद्द कर दिया। अब यह रैली राजस्थान की राजधानी जयपुर में आयोजित की जाएगी। वेणुगोपाल ने एक बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व में पूरा विपक्ष कमरतोड़ महंगाई, बेतहाशा बेरोजगारी, डूबती अर्थव्यवस्था, किसानों और मजदूरों की अपार पीड़ा और दलित-आदिवासी-पिछड़े-अल्पसंख्यकों के अधिकारों के दमन जैसे अहम मुद्दों पर बहस करना चाहता है। मोदी सरकार एक सोची समझी साजिश के तहत संसद को अपने आप चलने नहीं देती है।

इस पॉलिटिकल टूरिज्म से प्रदेश को बड़ा खतरा

प्रदेश में लगतार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता ही है कि, प्रदेश में 10 दिन में ही कोरोना के मरीज दोगुने हो गए है। केवल दस दिनों में दोगुने मरीज किसी भी राज्य में नहीं हुए है। दस दिन पहले जहां एक्टिव केस 103 पर थे, वो आज बढ़कर 203 हो चुके है। ऐसे में यह राजनितिक आयोजन प्रदेश के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है।

एक नज़र गहलोत के ट्वीट पर

कांग्रेस प्रदेश की गुलाबी नगरी में 2 लाख लोगों की भीड़ जुटा कर 'महंगाई हटाओ’ रैली करने जा रही है और आज ही राजस्थान में पेट्रोल के दाम वापस बढ़ गए है। अभी कुछ दिनों पहले ही प्रदेश के आलाकमान अशोक गहलोत ने अपने ट्विटर हैंडल पर 'दी हिंदू' अखबार में छपे कोरोना के एक आर्टिकल को शेयर किया था और आम जनता को इस बारे में चेताया था। लेकिन अब शायद कांग्रेस को कोरोना का खतरा नज़र नहीं आ रहा है, इसलिए इस रैली का आयोजन किया जा रहा है। कानून की पालना करवाने वाले खुद ही कानून की धज्जियां उड़ा रहे है।

बता दें की इस रैली में पुरे देश के कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल होने जा रहे है। कोरोना से अधिक संक्रमित राज्यों से भी लोग इस रैली में शामिल होंगे। खैर, अब देखना यह होगा की इस रैली के क्या परिणाम निकलते है। लेकिन यह तो तय है की अगर इतने लोगो की भीड़ एक साथ जुटेगी, तो कोरोना की तीसरी लहर का संकट प्रदेश पर छा जाएगा।

सीधी की बहादुर मां : तेंदुए से भिड़ी मां, बेटे को मौत के मुंह से निकाला

Like and Follow us on : Twitter Facebook Instagram YouTube

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com