हॉस्पिटल में मिले भांग के 102 पौधे: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उगाए हुए थे, पुलिस ने पुछा तो प्रभारी ने झाड़ा पल्ला

राजकीय अस्पताल वैसे तो निश्चित रूप से इलाज के लिए जाने जाते हैं, लेकिन इन्हीं अस्पताल में नेश के पौधे उगाए जाने लगे तो इस पर आप क्या प्रतिक्रिया देंगे। ऐसा ही मामला चित्तौड़गढ़ के भदेसर के राजकीय सामुदायिक केंद्र में सामने आया है। दरअसल अस्पताल परिसर में भांग के 102 पौधे लगे होने की सूचना स्थानीय पुलिस को मिली।
हॉस्पिटल में मिले भांग के 102 पौधे: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उगाए हुए थे, पुलिस ने पुछा तो प्रभारी ने झाड़ा पल्ला

चित्तौड़गढ़ से गोपाल चतुर्वेदी की रिपोर्ट. राजकीय अस्पताल वैसे तो निश्चित रूप से इलाज के लिए जाने जाते हैं, लेकिन इन्हीं अस्पताल में नेश के पौधे उगाए जाने लगे तो इस पर आप क्या प्रतिक्रिया देंगे। ऐसा ही मामला चित्तौड़गढ़ के भदेसर के राजकीय सामुदायिक केंद्र में सामने आया है। दरअसल अस्पताल परिसर में भांग के 102 पौधे लगे होने की सूचना स्थानीय पुलिस को मिली। जिसके बाद पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंचकर सभी पौधों को जब्त कर लिया।

अचानक हुई इस कार्रवाई से इलाज के लिए आए मरीज भी एक बारी सहम गए। हैरानी की बात तो ये है कि यहां ब्लॉक सीएमएचओ कार्यालय के प्रभारी डॉ राम अवतार जायसवाल खुद बैठते हैं लेकिन उन्होंने इस जानकारी से साफ इनकार करते हुए पल्ला झाड़ लिया, वहीं इस दौरान डीएसपी ने उनसे इस बारे में पूछा तो इस बारे में बात करने तक से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में किसी तरह की कोई जानकारी नहीं है कि अस्पताल में इस तरह के नशीले पौधे उगे हुए हैं।

डीएसपी शिप्रा राजावत ने बताया कि उन्हें ये सूचना मिली थी कि भादेसर अस्पताल में नशीले भांग के पौधे उगा कर रखे हुए हैं। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो देखा कि हजारी के फूलों और गुलाब के पौधों के बीच में भांग के पौधे लगे हुए थे। पुलिस अधिकारी, कृषि विभाग के अधिकारी और आबकारी अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। जांच के बाद पौधों को उखाड़ दिया गया। कुल 300 ग्राम के 102 पौधे थे, जो आधा सेंटीमीटर से लेकर डेढ़ फीट तक के होते हैं।

प्रभारी ने ​नहीं किया सहयोग
पुलिस ने प्रभारी डॉ. राम अवतार जायसवाल से इस बारे में बात करनी चाही तो उन्होंने मुंह फेर लिया और अधिकारियों से उलझ गए। डिप्टी राजावत ने बताया कि 6 से 7 माह पुराने पौधे हैं। ये पौधे अस्पताल परिसर में कैसे आए और किसने उगाए इसकी जांच की जा रही है।

बाइट : शिप्रा राजावत पुलिस उप अधीक्षक भदेसर

पुलिस व संबंधित विभाग जांच में जुटा
कार्रवाई करते हुए अस्पताल की आपातकालीन इकाई के बाहर क्यारी में लगे 102 पौधों की सूचना आबकारी विभाग को दी गई। मामले में नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है। वहीं कार्रवाई के दौरान पुलिस को किसी तरह का सहयोग अस्पताल से नहीं मिला। बहरहाल पुलिस और संबंधित विभाग इस पूरे मामले की तफ्तीश में जुट गया है। इस पूरी कार्रवाई के दौरान प्रभारी डॉक्टर रामावतार पुलिस के साथ उलझते हुए दिखे।

Related Stories

No stories found.