अलवर की घटना के बाद चित्तौड़ में व्यवसायी से मारपीट

चित्तौड़गढ़ के सदर थाना अंतर्गत रेलवे स्टेशन की घटना, रेलवे स्टेशन के समीप संचालित हो रहे बाजार में एक जूता व्यवसाई के साथ हुई थी मामूली बात पर मारपीट । विरोध में व्यवसायियों ने आज अपने प्रतिष्ठान आधे दिन के लिए बंद रखे ।
अलवर की घटना के बाद चित्तौड़ में व्यवसायी से मारपीट

चित्तौड़गढ़ के सदर थाना अंतर्गत रेलवे स्टेशन पर बीती रात समुदाय विशेष के कुछ युवकों ने मामूली बात पर जूता व्यवसाई के साथ मारपीट कर दी । घटना के बाद क्षेत्र में माहौल गरमा गया, वही पुलिस ने रात को ही तत्परता के साथ कार्रवाई करते हुए इस घटना में शामिल तीन युवकों को डीटेन कर लिया है

क्या है पूरा मामला

22 जुलाई शुक्रवार की देर रात को रेलवे स्टेशन के समीप संचालित हो रहे बाजार में एक जूता व्यवसाई मनोज लालवानी के साथ चप्पल बदलने की बात पर समुदाय विशेष के कुछ युवकों ने मारपीट कर दी । इसके साथ ही बीच-बचाब के लिए आए एक पास के दुकानदार जय किशन को भी अपना निशाना बनाया । मारपीट में मनोज और जयकिशन घायल हो गए, वहीं इस घटना को अंजाम देने के बाद सभी युवक वहां से फरार हो गए ।

घटना में शामिल तीन युवक डिटेन

इस घटना की सूचना मिलने पर पुलिस उप अधीक्षक बुधराज टॉक और सदर थाना अधिकारी विक्रम सिंह मय जाप्ता मौके पर पहुंचे और सीसीटीवी फुटेज की तस्वीरों के आधार पर पास ही में स्थित कॉलोनी से इस घटना में शामिल तीन युवकों को डिटेन किया । घटना में शामिल एक अन्य की तलाश जारी है l

गुरुवार को कुछ युवक दुकान से चप्पल खरीद कर ले गए थे । उसके बाद शुक्रवार शाम को चप्पल को वापस देने के लिए वहां पर पहुंचे । लेकिन चप्पल को उपयोग में लेने के कारण उसको लेना संभव नहीं था, तो इसके लिए इंकार कर दिया । इस पर युवकों ने मेरे साथ मारपीट की है । वही बीच-बचाव करने आए जय किशन को भी निशाना बनाया ।

मनोज लालवानी, जूता व्यवसाई

वहीं इस घटना के विरोध में आज रेलवे स्टेशन क्षेत्र के व्यवसायियों ने अपने प्रतिष्ठान आधे दिन के लिए बंद रखे हैं इस बीच सदर थाना पुलिस पूरे क्षेत्र में पैनी निगाह रखे हुए हैं

इधर अलवर में आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर

राजस्थान के अलवर जिले के मिलकपुर गांव से अलावडा जा रहे गुरुद्वारे के एक पूर्व ग्रंथी को 21 जुलाई की रात अज्ञात लोगों ने रास्ते में रोक लिया और उन के बाल काट दिए । आँखों में मिर्ची भी डाल दी । आरोपी मौके से फरार हो गए जैसे-तैसे पीड़ित बाइक लेकर वापस गांव पहुंचा। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने पीड़ित को रामगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन घटना के तीसरे दिन भी पुलिस के हाथ खाली है ।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com