Alwar Mob Lynching Case: पूर्व BJP विधायक ज्ञानदेव आहूजा बोले- "अब तक तो 5 हमने मारे हैं", Video Viral

बीजेपी के नेता और पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिस वो कहते दिख रहे है कि "अब तक तो 5 हमने मारे हैं"। वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर हंगामा हो गया है। कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने आहूजा के इस वीडियो को शेयर करते हुए बीजेपी पर निशाना साधा रहे है।
विधायक ज्ञानदेव आहूजा. (फोटो साभार: फेसबुक)
विधायक ज्ञानदेव आहूजा. (फोटो साभार: फेसबुक)

अलवर के गोविंदगढ़ क्षेत्र के रामबास गांव में रविवार 14 अगस्त की रात एक समुदाय विशेष के करीब दो दर्जन लोगों ने एक व्यक्ति की पीट-पीट अधमरा कर दिया था। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे बीजेपी के नेता और पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिस वो कहते दिख रहे है कि "अब तक तो 5 हमने मारे हैं"।

वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर हंगामा हो गया है। कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने आहूजा के इस वीडियो को शेयर करते हुए बीजेपी पर निशाना साधा रहे है।

BJP के मजहबी आतंक व कट्टरता का और क्या सबूत चाहिए?- डोटासरा

राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए ट्वीटर पर लिखा कि "अब तक 5 हमने मारे हैं…कार्यकर्ताओं को खुली छूट दे रखी है..मारो **** को..ज़मानत हम करवाएँगे” ये शब्द राजस्थान भाजपा कार्यकारिणी के सदस्य और पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा के हैं। BJP के मजहबी आतंक व कट्टरता का और क्या सबूत चाहिए? पूरे देश में भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है।

आहूजा के बयान को लेकर किस तरह से प्रतिक्रिया दी जा रही है आप भी देखिए....

क्या है पूरा मामला?

अलवर के गोविंदगढ़ क्षेत्र के रामबास गांव में रविवार 14 अगस्त की रात एक समुदाय विशेष के करीब दो दर्जन लोगों ने एक व्यक्ति की पीट-पीट अधमरा कर दिया। इलाज के दौरान चिरजी लाल सैनी की मौत हो गई।

मौत से नाराज चिरंजीलाल के परिवार और ग्रामीणों ने गोविंदगढ़ थाने का घेराव कर आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग उठाई। मृतक के पुत्र योगेश ने आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी।

जिसमें जुम्मा खान, विक्रम खान और रहमान खान समेत अन्य आरोपियों के नाम शामिल थे। जानकारी के मुताबिक चिरंजीलाल सब्जी का ठेला लगाकर रामबास में शौच के लिए खेत में जाता था।

तभी एक चोर ट्रैक्टर चोरी कर क्षेत्र से भाग रहा था। इसी दौरान भीड़ ने चिरंजीलाल को ट्रैक्टर चोरी के शक में पीट-पीट कर अधमरा कर दिया था।

9 आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

हत्या के मामले में अभी तक पुलिस ने 9 आरोपियों की गिरफ्तारी की है। जिस में असद खान पुत्र मकबूल मेव, स्याबू पुत्र अशरफ खान, साहून खान पुत्र जुम्मे खान, तलीम खान पुत्र यासीन खान, कासम पुत्र साहाब दीन खान, पोला उर्फ ताफिक पुत्र रुजसार खान और विक्रम खान पुत्र जुम्मे खान को गिरफ्तार किया गया है।

अलवर का मेवात है अपराधों का गढ़

जिस जगह पर चिरंजीलाल की हत्या की गई है। वह क्षेत्र अलवर के मेवात में आता है। बता दे कि अलवर का मेवात क्षेत्र अपराधियों का गढ़ माना जाता है। एक रिपोर्ट की मानें तो अलवर के मेवात क्षेत्र से ऑनलाइन ठगी करने वाले कई गिरोह सक्रिय है। जिनके द्वारा मेवात क्षेत्र से बैठकर देशभर में लोगों को चूना लगाया जाता है। इसी के साथ इस क्षेत्र से बड़ी सख्या में गौतस्करी की घटना भी सामने आती है।

रामगढ़ से विधायक रह चुके है आहूजा

अलवर जिले के रामगढ़ से ज्ञानदेव आहूजा विधायक रह चूके है। इस लिए आहूजा इस क्षेत्र के बारे में काफी बारीकी से जानते है। इससे पहले भी आहूजा ने कई ऐसे बयान दिए जिनके कारण देशभर में बवाल हो गया था। जेएनयू विश्वविधालय पर दिए अपने विवादित बयान के कारण देशभर में उनकी आलोचना की गई थी। उस बयान पर लोगों का कहना था कि आहूजा ने कोई गलत बात नहीं बोली है। लेकिन इस सच को भी झूठ मानकर लोग अपने दिल को दिलासा दे रहे है, क्योकि उनको केवल और केवल राजनीति करने से मतलब है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com