जयपुर में ब्लास्ट की प्लानिंग फेल, पुलिस ने 3 आरोपीयों को 10 किलो RDX के साथ पकड़ा

बुधवार को जयपुर और चित्तौड़गढ़ पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की। पुलिस ने निम्बाहेड़ा में रतलाम (MP) के 3 आरोपियों 8-10 किलों RDX के साथ गिरफ्तार किया।
जयपुर में ब्लास्ट की प्लानिंग फेल, पुलिस ने 3 आरोपीयों को 10 किलो RDX के साथ पकड़ा
जयपुर में बम ब्लास्ट की प्लानिंग फेलpic credit- Since Independence

बुधवार को जयपुर और चित्तौड़गढ़ पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की। पुलिस ने निम्बाहेड़ा में रतलाम (MP) के 3 आरोपियों 8-10 किलो RDX के साथ गिरफ्तार किया। पुलिस ने इनकी कार से बम बनाने का सामान और टाइमर भी बरामद किए।

जयपुर को दहलाने की थी साजिश

आरोपियों से पुलिस ने पुछताछ में पाया कि वे ये सामान जयपुर में बम ब्लास्ट करने के लिए लाए थे। यह ब्लास्ट जयपुर में तीन जगह किया जाना था। आरोपी निंबाहेड़ा में बम बना कर दूसरी गैंग को देने वाले थे।

credit - Picasa

नाकाबंदी के दौरान पकड़े गए आरोपी

पुलिस सूत्रों के अनुसार बुधवार को नाकाबंदी के दौरान निंबाहेड़ा पुलिस ने कार से 3 संदिग्ध युवकों को पकड़ा। तलाशी के दौरान उन युवकों से RDX, टाइमर और बम बनाने का सामान प्राप्त हुआ।। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने जांच शुरू की तो सामने आया कि तीनों आरोपियों के पास एमपी नंबर की कार थी।

उदयपुर और जयपुर ATS टीम पहुंची निम्बाहेड़ा

बुधवार को देर रात उदयपुर और जयपुर ATS (Anti-Terrorism Squad) टीम निम्बाहेड़ा पहुंची। पुलिस तीनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है है। फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तारी और नामों का खुलासा नहीं किया है। पुलिस और एटीएस ने आशंका जताई है कि तीनों आरोपी आतंकवादी संगठन से जुड़े हुए हैं।

ATS टीम आज करेगी खुलासा
IPS अशोक राठौड़ ने बताया कि ATS की टीम और निम्बाहेड़ा पुलिस की टीम आज यानि गुरूवार को इस मामले में कुछ खुलासे कर सकती है। आरोपी यह सामग्री कहां लेकर जा रहे थे और यह किस संगठन से जुड़े हैं इन सबकी जानकारी आज पुलिस द्वारा दी जाएगी।

जयपुर बम धमाके के पुराने जख्म अभी भी जिंदा

2008 में हुए जयपुर बम ब्लास्ट के निशान अभी खत्म नहीं हुए थे कि एक बार फिर जयपुर को बम धमाकों से दहलाने की साजिश की जाने लगी है। हालांकि आरोपियों की यह साजिश पूरी नहीं हो पाई, पर उनकी इस कोशिश ने जयपुर शहर के पुराने जख्मों को फिर से कुरेद दिया।

फाइल फोटों

बता दें कि 13 मई 2008 में जयपुर में 8 जगहों पर आतंकियों की ओर से सिलसिलेवार धमाके किए गए थे। जिसमें 80 लोगों की जान गई थी और 216 लोग घायल हुए थे। इस केस में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया था।

कोर्ट ने 11 साल बाद इस मामले पर फैसला सुनाया, जिसमें 4 लोगों मोहम्मद सैफ, सरवर आजमी, सैफुर्रहमान और सलमान को दोषी और 1 व्यक्ति शाहबाज हुसैन को निर्दोष करार दिया गया था।

जयपुर में बम ब्लास्ट की प्लानिंग फेल
LSG vs CSK: जीत का खाता खोलने मैदान में उतरेंगी दोनों टीमें, क्या मोईन अली की वापसी से चैन्नई को होगा फायदा

Related Stories

No stories found.