Rajasthan: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में बड़ी टूट, पूर्व मंत्री-विधायक सहित दो दर्जन नेता BJP में होंगे शामिल

Rajasthan Congress: लोकसभा चुनाव 2024 से पहले कांग्रेस में भगदड़ जैसी स्थिति है। राजस्थान में भाजपा कांग्रेस में बड़ी सेंध लगाने जा रही है। रविवार को दो दर्जन नेता BJP में शामिल होंगे।
Rajasthan: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में बड़ी टूट, पूर्व मंत्री-विधायक सहित दो दर्जन नेता BJP में होंगे शामिल

Big Break in Rajasthan Congress: लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों में जुटी कांग्रेस की मुश्किलें थमती नजर नहीं आ रही है। पार्टी के बड़े नेताओं का पाला बदलने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में अब रविवार को राजस्थान में भाजपा कांग्रेस में बड़ी सेंध लगाने जा रही है।

जानकारी के अनुसार रविवार 10 मार्च को कांग्रेस के कई बड़े नेता भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं में पूर्व कृषि मंत्री लालचंद कटारिया , पूर्व गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव, पूर्व विधायक रिछपाल मिर्धा, विजयपाल मिर्धा , खिलाड़ीलाल बैरवा, आलोक बेनीवाल, कांग्रेस नेता रामपाल शर्मा सहित कई अन्य शामिल हैं।

दामाद-समधी सहित भाजपा में जाएंगे लालचंद कटारिया

मिर्धा परिवार के अलावा गहलोत सरकार में कृषि मंत्री और यूपीए सरकार में केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रहे लालचंद कटारिया के भी भाजपा में शामिल होने की चर्चा है। लालचंद कटारिया ने इस बार झोटवाड़ा से विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा था। लालचंद कटारिया के साथ उनके दामाद और डेगाना से पूर्व विधायक ​विजयपाल मिर्धा, उनके समधी पूर्व कांग्रेस विधायक रिछपाल मिर्धा भी बीजेपी जॉइन करेंगे. ​लालचंद कटारिया विधानसभा चुनावों के वक्त से ही साइलेंट हैं। अब वो भाजपा में जुड़ने जा रहे हैं।

IT रेड के कारण चर्चा में रहे राजेंद्र यादव भी जाएंगे

राजस्थान की पिछली गहलोत सरकार में गृह राज्य मंत्री रहे राजेंद्र यादव भी रविवार को भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। वे लंबे समय तक जयपुर ग्रामीण के कांग्रेस जिलाध्यक्ष भी रहे हैं। मालूम हो कि विधानसभा चुनाव से पहले राजेंद्र यादव के ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की थी. अब उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें है।

आलोक बेनीवाल, सुरेश चौधरी टिकट कटने से नाराज

इसके अलावा गुजरात की पूर्व राज्यपाल और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमला बेनीवाल के पुत्र आलोक बेनीवाल के भी भाजपा में शामिल होने की चर्चा है। आलोक बेनीवाल पिछली बार कांग्रेस टिकट कटने पर बगावत करके शाहपुरा से निर्दलीय चुनाव जीते थे। हालांकि बाद में उन्होंने पांच साल अशोक गहलोत और उनकी सरकार को सम​र्थन दिया था।

2023 के विधानसभा चुनाव में आलोक बेनीवाल का टिकट कट गया था जिसके बाद वो निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरे थे। जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। आलोक बेनीवाल अपने समधी और कांग्रेस सेवादल के पूर्व प्रदेश प्रमुख सुरेश चौधरी के साथ भाजपा का दामन थाम सकते हैं।

महेंद्रजीत मालवीय ने बीते दिनों दिया था झटका

इस बड़ी सेंधमारी से पहले बांसवाड़ा रिजन के कद्दावर नेता महेंद्रजीत मालवीय ने कांग्रेस को झटका दिया था। वो भाजपा में शामिल होकर लोकसभा का टिकट हासिल कर चुके हैं। अब उनकी देखादेखी और प्रेरणा से कांग्रेस के कई नेता भी पार्टी छोड़ने जा रहे हैं। रविवार 10 मार्च को बांसवाड़ा में भी कई कांग्रेसी नेताओं के भाजपा में शामिल होने की चर्चा है।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com