Rajasthan: शिक्षक दिवस पर मंत्री कल्ला के सामने कांग्रेसियों ने मारे धक्के! समारोह में मांग करना शिक्षक को पड़ा भारी

शिक्षक दिवस पर राजस्थान के जयपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमीन अली कायमखानी ने खड़े होकर सरकार द्वारा उर्दू की अनदेखी का आरोप लगाया। मौके पर मौजूद कुछ कांग्रेसी नेताओं ने कायमखानी को पकड़कर बाहर निकाला।
Rajasthan: शिक्षक दिवस पर मंत्री कल्ला के सामने कांग्रेसियों ने मारे धक्के! समारोह में मांग करना शिक्षक को पड़ा भारी

सोमवार को बिड़ला सभागार में आयोजित राज्य स्तरीय शिक्षक समारोह में उस समय बवाल हो गया, जब शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला संबोधन दे रहे थे।

भाषण के दौरान जैसे ही उन्होंने शिक्षा विभाग को लेकर मुख्यमंत्री की बजट घोषणाओं को प्राथमिकता देने की बात कही तो सभागार में मौजूद राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमीन अली कायमखानी ने खड़े होकर भेदभाव करने का आरोप लगाया।

शिक्षा मंत्री ने की मामला संभालने की कोशिश

राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमीन अली कायमखानी ने कहा कि शिक्षा मंत्री उर्दू शिक्षा को लेकर मुख्यमंत्री के बजट की घोषणाएं करवाएं।

उनकी बात सुनने के बाद शिक्षा मंत्री ने मामले को संभालने की कोशिश की और कहा कि जो घोषणाएं पूरी नहीं हुई हैं उन्हें पूरा किया जाएगा, लेकिन कायमखानी नहीं रुकी।

इससे पहले समारोह में हंगामा बढ़ गया और मौके पर मौजूद कुछ कांग्रेसी नेताओं ने उन्हें पकड़कर बाहर निकाला।

सरकार लगातार उर्दू की अनदेखी कर रही

कायमखानी ने कहा कि सरकार लगातार उर्दू की अनदेखी कर रही है। मुख्यमंत्री की बजट घोषणा 2021 के बाद भी प्राथमिक स्तर की उर्दू शिक्षा को बहाल क्यों नहीं किया गया।

प्राथमिक शिक्षा में उर्दू शिक्षकों की भर्ती नहीं की गई और उर्दू शिक्षा की अनदेखी की जा रही है। इससे पहले कार्यक्रम के दौरान उन्होंने मंच पर जाकर अपनी मांगों को लेकर शिक्षा मंत्री को ज्ञापन दिया।

इस दौरान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास द्वारा सीएम गहलोत को लिखे गए एक पत्र में उर्दू शिक्षा से जुड़ी समस्याओं का जिक्र किया।

कार्यक्रम से पहले बी.डी. कल्ला से मिले थे कायमखानी

शिक्षा सत्र 2021-22 में सरकारी या गैर सरकारी स्कूलों के उर्दू भाषी छात्रों की पांचवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा हो चुकी है।

नया शिक्षा सत्र 1 जुलाई से शुरू हो गया है, लेकिन शिक्षा विभाग की ओर से प्राथमिक स्तर पर एक अतिरिक्त विषय के रूप में उर्दू की शिक्षा शुरू नहीं हुई थी।

इस पूरे प्रकरण को लेकर शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान कायमखानी भी मंच पर मेरे पास आए थे, मैंने उनसे केवल इतना कहा कि जो भी समस्या है, उसे दिखवाया जाएगा।

Rajasthan: शिक्षक दिवस पर मंत्री कल्ला के सामने कांग्रेसियों ने मारे धक्के! समारोह में मांग करना शिक्षक को पड़ा भारी
अर्शदीप देश की शान.. साजिशन किया बदनाम: विकिपीडिया ने बताया खालिस्तानी कनेक्शन, सरकार ने भेजा नोटिस
Since independence
hindi.sinceindependence.com