Rajasthan: अश्लील फोटो..ब्लैकमेल..धमकी, राजस्थान में महिला जज भी नहीं सुरक्षित; जानें पूरा घटनाक्रम

Rajasthan: जब प्रदेश की राजधानी में महिला जज ही सुरक्षित नहीं हैं तो आमजन कितना सुरक्षित होगा, समझा जा सकता है। Since Independence पर जानें झकझोरने वाली घटना।
Rajasthan: अश्लील फोटो..ब्लैकमेल..धमकी, राजस्थान में महिला जज भी नहीं सुरक्षित; जानें पूरा घटनाक्रम

Rajasthan: राजस्थान की राजधानी जयपुर में स्थित एक स्थानीय न्यायालय में कार्यरत एक महिला जज को ब्लैकमेल कर 20 लाख रुपए की मांग की गई। बदमाश की हिम्मत देखिए कि वह महिला जज को ब्लैकमेल करते हुए न्यायालय तक पहुंच गया।

जज की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी बदमाश की तलाश शुरू की है। पुलिस ने जज का नाम सार्वजनिक नहीं किया है। न्यायालय एवं जज के आवास पर बदमाश ने दो बार पार्सल में धमकी भरा पत्र भेजा, जिसमें 20 लाख रुपये की मांग की गई। साथ ही जज की कुटरचित अश्लील फोटो भेजकर परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी।

निजी सहायक को थमा गया पार्सल

जज ने पुलिस को बताया कि सात फरवरी को दोपहर साढ़े बारह बजे बदमाश न्यायालय में उसके निजी सहायक के पास आया और एक पार्सल देकर गया था। बदमाश ने खुद को बच्चों के स्कूल का कर्मचारी बताते हुए जज के लिए आवश्यक दस्तावेज बताए। जज ने पार्सल खोला, जिसमें एक मिठाई का डिब्बा, शादी में देने वाला शगुन का एक रुपये के सिक्के वाला लाल लिफाफा था। पीड़ित जज ने जयपुर पुलिस आयुक्त के कार्यालय में बदमाश के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई है। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात बदमाश के खिलाफ मामला दर्ज किया है। साथ ही सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले गए हैं।

अश्लील शब्दों वाला पत्र भी भेजा

जज ने बताया कि लिफाफे में कुटरचित तीन अश्लील फोटोग्राफ थी। इनमें एक फोटो महिला जज की थी। महिला जज ने पुलिस को बताया कि एक पत्र भी मिला था, जिसमें अश्लील शब्दों का प्रयोग करते हुए लिखा था कि 20 लाख रुपये तैयार रखना, वरना तुम्हें और परिवार को बर्बाद कर दूंगा। वक्त और जगह जल्द बताऊंगा। इस पर जज ने अपने पति को पूरी घटना की जानकारी दी।

जज के परिवार को जान का खतरा

जज ने पुलिस को बताया कि उन्होंने महसूस किया कि उनके न्यायालय आने-जाने के समय में अज्ञात व्यक्ति की ओर से अलग-अलग वाहनों से उनका पीछा किया जाता है। उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जाती है। जज ने आशंका जताई है कि यदि तुरंत कोई कार्रवाई नहीं की गई, तो उनकी और उसके पति और बच्चों की जान को पूरा खतरा है।

बता दें कि न्यायालय में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज जांची गई, जिसमें एक युवक निजी सहायक को पार्सल देता हुआ नजर आ रहा है, लेकिन जज ने तब पुलिस में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई। इसके बाद 27 फरवरी को जज के घर उसी तरह का पर्सल भेजा गया, जिसमें वही सामान और धमकी भरा पत्र था जैसा कि न्यायालय में मिला था।

Rajasthan: अश्लील फोटो..ब्लैकमेल..धमकी, राजस्थान में महिला जज भी नहीं सुरक्षित; जानें पूरा घटनाक्रम
Rajasthan News: वीरांगनाओं से बदसलूकी पर गरमाई राजनीति; अब पायलट उतरे समर्थन में
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com