Rajasthan: स्कूलों में सरस्वती की मूर्ति जरूरी, ड्रेस कोड होगा लागू; एक्शन मोड में भजन सरकार

Rajasthan News: स्कूलों में हिजाब का मामला सामने आने के बाद शिक्षा मंत्री ने इस पूरे मामले की जांच करवाने और स्कूलों में ड्रेस कोड लागू करने के लिए जांच बैठा दी है।
Rajasthan: स्कूलों में सरस्वती की मूर्ति जरूरी, ड्रेस कोड होगा लागू; एक्शन मोड में भजन सरकार

Bhajanlal Government in Action Mode: राजस्थान के सभी स्कूलों में अब मां सरस्वती की मूर्ति या चित्र अनिवार्य होगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो उस स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने सख्त रुख अपनाते हुए यह निर्देश जारी किया है। राजधानी जयपुर में हिजाब विवाद के बाद अब भजनलाल सरकार स्कूलों में हिजाब पर एक्शन लेने की तैयारी में लग गई है। इसके लिए सरकार में शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने विभाग से दूसरे राज्यों में हिजाब बैन के स्टेटस और राजस्थान में इसके प्रभावों को लेकर रिपोर्ट मांगी है।

सूत्रों के मुताबिक शिक्षा विभाग में उच्च स्तर पर स्कूलों में हिजाब बैन मामले में रिपोर्ट तैयार करके शिक्षा मंत्री मदन दिलावर को भेजी जाएगी। पूरे मामले पर राजस्थान के शिक्षा मंत्री का बयान भी सामने आया है। उन्होंने स्कूलों में ड्रेस कोड लागू करने की बात कही है। वहीं, जिन स्कूलों में सरस्वती मां की मूर्ति और चित्र नहीं होगा उसके खिलाफ कार्रवाई किए जाने के भी निर्देश दिए गए हैं।

हिजाब पर रुख सख्त, मां सरस्वती की मूर्ति अनिवार्य

प्रदेश में हिजाब को लेकर सरकार गंभीर रुख अख्तियार कर रही है। वह प्रदेश के सभी स्कूलों में जल्द ड्रेस कोड लागू करने जा रही है। इसकी तैयारी भी तेजी से की जा रही है। खुद शिक्षा मंत्री मदन दिलावर इसे गंभीरता से लिए हुए हैं। उन्होंने एक बयान दिया है जिसमें उन्होंने कहा है कि प्रदेश में ड्रेस कोड ही लागू होगा।

उन्होंने जयपुर के एक स्कूल का हवाला देते हुए कहा कि स्कूल में जो हालत बने उसके लिये जांच के आदेश दिए गए हैं। धर्मांतरण नहीं होने देंगे। सरकार, सरकार होती है वह आदेशों की पालना कराना जानती है। साथ ही उन्होंने स्पष्ट कहा कि जिस विद्यालय में सरस्वती मां की मूर्ति, चित्र नहीं होगा उस स्कूल के खिलाफ कार्रवाई होगी।

यहां से हुई विवाद की शुरुआत

दरअसल इस पूरे विवाद की शुरुआत सोमवार को राजधानी जयपुर के गंगापोल इलाके में स्थित सरकारी स्कूल से हुई थी.। यहां स्कूल के वार्षिक कार्यक्रम में हवा महल विधायक बालमुकुंद आचार्य को बुलाया गया था। स्कूल में मां सरस्वती की मूर्ति नहीं होने पर बालमुकुंद आचार्य ने आपत्ति दर्ज की और स्कूल प्रशासन से इस बारे में पूछा था।

वहीं, मूर्ति रखने की खाली जगह पर दरगाह पर चढ़ाए जाने वाली चादर का देखकर उन्होंने स्कूल प्रशासन को जमकर लताड़ लगाई थी। विधायक बालमुकुंद आचार्य ने वार्षिक उत्सव पर ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने के लिए मुस्लिम बच्चियों को बोला था। विधायक की इस बात से नाराज छात्राएं सड़कों पर उतरी और सुभाष चौक थाने का घेराव किया था।

इधर, बंक मारने वाले कर्मचारियों पर सख्ती

राजस्थान में भजनलाल सरकार व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए लगातार कदम उठा रही है। ऐसे में अब नए आदेश सरकारी कर्मचारियों के लिए लागू किए गए हैं। जिसके बाद अब बिना अनुमति के सरकारी कर्मचारी कार्यालय नहीं छोड़ पाएंगे। कार्मिक विभाग ने मुख्य सचिव सुधांश पंत के निर्देश पर आदेश जारी किए हैं।

इन आदेशों के मुताबिक कर्मचारियों को अनुशासन में रहने की नसीहत दी गई है। सुबह 9.30 बजे कार्मिकों को कार्यालय में पहुंच जाना होगा। लंच के टाइम के अलावा कार्यालय से शाम 6 बजे तक नहीं जाने की हिदायत दी गई है। वहीं डाक और पत्रावलियों को भी लंबित नहीं रखने के निर्देश दिए गए।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com