Rajasthan: दस साल से गंगापुरसिटी में छिपे आंतकी को दबोचा; क्योंकि यहां भाजपा सरकार है!

Rajasthan: दस साल से गंगापुरसिटी में छिपे आंतकी को दबोचा; क्योंकि यहां भाजपा सरकार है!

Gangapurcity News: इंडियन मुजाहिदीन से जुड़े आतंकी मो. मेराजुद्दीन को एजीटीएफ गंगापुरसिटी में उसके घर से पकड़ा लिया। प्रदेश की एटीएस उसे 2014 से तलाश रही थी।

Terrorist Arrested from Gangapur City in Rajasthan: राजस्थान में भाजपा की सरकार आते ही मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने अपराधियों की धरपकड़ और सख्त कार्रवाई के लिए एंटी गैंगस्टरर टास्क फोर्स (एजीटीएफ) का गठन किया था। इसके बाद से ही एजीटीएफ पेपर लीक माफिया, तस्करों समेत अनेक अपराधियों पर धड़ाधड़ कार्रवाई करी है। एजीटीएफ ने अब एक बड़ी कार्रवाई आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के दस साल से फरार आतंकी मोहम्मद मेहराजुद्दीन पर की है। एजीटीएफआतंकी मोहम्मद मेहराजुद्दीन को गंगापुरसिटी से गिरफ्तार कर शुक्रवार को जयपुर ले आई।

युवाओं को आंतकी बनाने में जुटा हुआ था

गिरफ्तार आंतकी मेहराजुद्दीन पिछले दस साल से गंगापुरसिटी में ही फरारी काट रहा था, लेकिन प्रदेश की एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड (एटीएस) और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप को आंतकी के गतिविधियों की भनक तक नहीं लगी। आंतकी से पूछताछ में सामने आया है कि वह गंगापुर और आस-पास के इलाकों में इस्लामिक कट्टरवाद के नाम पर युवाओं को आंतकी बनाने में जुटा हुआ था। एजीटीएफ ने गिरफ्तार आतंकी को एटीएस को सौंप दिया है। अब एटीएस उससे पूछताछ कर आंतकी के सपर्क में रहने वाले युवाओं को चिह्नित करने में जुट गई है।

एटीएस नहीं पकड़ पाई दस साल से

एजीटीएफ के मुखिया एडीजी दिनेश एमएन ने बताया कि आतंकी मोहम्मद मेहराजुद्दीन को गंगापुरसिटी में बजरिया रेलवे स्टेशन के पास उसके घर से गिरफ्तार किया गया। प्रदेश की एटीएस उसे पिछले दस साल से तलाश रही थी। वर्ष 2014 में आंतकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के स्लीपर सेल ने राजस्थान सहित देश के विभिन्न स्थानों पर बम ब्लास्ट करने की प्लानिंग बनाई थी। इसके बाद एटीएस ने सीकर, जोधपुर और जयपुर जिले से इंडियन मुजाहिदीन के 13 कट्टर इस्लामिक आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में आतंकी मोहम्मद मेहराजुद्दीन तभी से फरार चल रहा था।

डांग में ले जाकर देता था आतंकवाद की ट्रेनिंग

पूछताछ में सामने आया कि मेहराजुद्दीन कई कट्‌टर आतंकी और इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के संपर्क में था। वह दिल्ली में ओखला स्थित मरकस और गुजरात में भी गया था। इस दौरान उसे राजस्थान में इस्लामिक आतंकियों को तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई, जिसके चलते वह डांग इलाके में युवाओं से संपर्क कर आतंकवाद की न केवल जड़े जमाने में जुटा था, बल्कि उसके संपर्क में आए युवाओं को वह डांग के जंगलों में ले जाकर आतंकी गतिविधियों की ट्रेनिंग भी दे रहा था।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com