Rajasthan: कांग्रेस में अब कोई नेतृत्व नहीं है, पूरी पार्टी दिशाहीन : महेंद्रजीत सिंह मालवीया

Udaipur News: भाजपा में शामिल होने के बाद बांसवाड़ा पहुंचे महेंद्रजीत सिंह मालवीय ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पार्टी छोड़ने का कारण बताया और कांग्रेस को नेतृत्व और दिशाहीन बताया।
Rajasthan: कांग्रेस में अब कोई नेतृत्व नहीं है, पूरी पार्टी दिशाहीन : महेंद्रजीत सिंह मालवीया

Mahendrajeet Singh Malviya Visit Banswara: कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे महेंद्रजीत सिंह मालवीय बीजेपी में शामिल होने के बाद पहली बार आज बुधवार (21 फरवरी) को अपने गृह जिले बांसवाड़ा पहुंचे। यहां उनकी स्वागत करने के लिए बीजेपी के कई कार्यकर्ता मौजूद थे बीजेपी के पदाधिकारियों और सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। इसके बाद सभा में मालवीया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस में अब कोई नेतृत्व नहीं है, इसलिए सभी कांग्रेस के नेता छोड़कर जा रहे हैं। दूसरी ओर मोदी-शाह की योजनाओं ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया है, जिससे देश की साख दुनियाभर में बढ़ी है।

कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से दिशाहीन

मालवीया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से दिशाहीन हो गई है। कांग्रेस में कोई नेतृत्व करने वाला नहीं है। इस वजह से सभी कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आ रहे हैं। भाजपा में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की योजनाओं ने देश को तरक्की की ओर ले गए हैं। इससे देश की पूरी दुनिया में धाक जमी है।

कांग्रेस से कार्यकर्ताओं का हुआ मोहभंग

उन्होंने राहुल गांधी की न्याय यात्रा पर सवाल उठाते हुए कहा कि ये न्याय यात्रा भगवान श्रीराम मंदिर अयोध्या से निकाली जाती तो कांग्रेस मजबूत होती, लेकिन कांग्रेस ने श्रीराम मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव में जाने से इनकार कर अच्छा नहीं किया। इससे देश के करोड़ों सनातनियों को ठेस पहुंची है। इससे कांग्रेस टूटने लगी है। कांग्रेस से कार्यकर्ताओं का मोहभंग हो गया है। आने वाले लोकसभा चुनावों में भी भाजपा 370 के पार पहुंचेगी और फिर से भाजपा की सरकार बनेगी।

बताया कैसे शामिल हुए बीजेपी में

उन्होंने बीजेपी में कैसे शामिल हुए यह भी बताया। महेंद्रजीत सिंह मालवीय ने कहा ''सीएम भजनलाल का कॉल आया और जयपुर बुलाय।. वहां से दिल्ली जाने को कहा. दो दिन रुका फिर बुलाया. वहां कमरे में देखा तो गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और सीएम भजनलाल थे। मन में सोचा महेंद्र तेरी तो बल्ले-बल्ले हो गई. एक साथ एक कमरे में मुझसे मिले. फिर एक घंटा बात की और उन्होंने कहा कि काम पर लग जाओ। ''

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com