कोटा के Deva Gurjar का स्टाइल: 2 पत्नियों को साथ लेकर घूमता था हिस्ट्रीशीटर, पत्नियां भी खुशी से रखती थी करवाचौथ का व्रत

Deva Gurjar Death : कोटा और चित्तौड़गढ़ में देवा डॉन के नाम से माफिया में प्रसिद्व हिस्ट्रीशीटर देवा गुर्जर की सोमवार देर शाम एक दर्जन से अधिक लोगों ने गैंगवार में हत्या कर दी। ऐस में घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैली हुई है, मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है, साथ ही पूरे मामले की जांच कर रही है।
कोटा के Deva Gurjar का स्टाइल:  2 पत्नियों को साथ लेकर घूमता था हिस्ट्रीशीटर, पत्नियां भी खुशी से रखती थी करवाचौथ का व्रत

कोटा (राजस्थान). आप माने या न माने लेकिन ये शाश्वत सत्य है कि बुराई का अंत बुरा ही होता है... जुर्म में लिप्त इंसान को मौत भी उसी तरह मिलती है जैसा वो ​जीवित रहते दूसरों के साथ पेश आता है। कुछ ऐसा ही घटना राजस्थान के कोटा (Kota) और चित्तौड़गढ़ में देवा डॉन (Deva Don) के नाम से ​कूख्यात रहे हिस्ट्रीशीटर (history sheeter) देवा गुर्जर (Deva Gurjar Death) के साथ हुआ। सोमवार को देवा की 8 से 10 बदमाशों ने रावतभाटा कस्बे में लोहे के सरिए और डंडों से हमला कर उसकी हत्या कर डाली। प्रत्यदर्शियों के अनुसार बदमाशों ने देवा को दिल दहला देने वाली मौत दी। इधर अब देवा गुर्जर हत्याकांड के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मचा हुआ है... देवा गुर्जर के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं तो वहीं गुर्जर समाज के लोग इस हत्या को गलत करार देकर इंसाफ की मांग कर रहे हैं।

दोनों पत्नियों के लिए देवा परमेश्वर के समान ही था। दोनों पत्नियां देवा के लिए एक साथ करवाचौथ क व्रत रखतीं थीं।
दोनों पत्नियों के लिए देवा परमेश्वर के समान ही था। दोनों पत्नियां देवा के लिए एक साथ करवाचौथ क व्रत रखतीं थीं।
दोनों पत्नियों को साथ लेकर घूमता था Deva Gurjar, पत्नियां भी खुशी खुशी देवा के साथ रहती थीं
देवा का टशन या कहें कि स्टाइल ऐसा था कि वह जहां भी जाता तो अपनी दोनों पत्नियों को साथ ही लेकर जाता था। देवा की दोनों पत्नियों के बीच भी आपसी तालमेल था। दोनों पत्नियों के लिए देवा परमेश्वर के समान ही था। दोनों पत्नियां देवा के लिए एक साथ करवाचौथ क व्रत रखतीं थीं। अब देवा की हत्या के बाद दोनों पत्नियों का रो-रोकर बुरा हाल है। इधर मां और परिवार के अन्य लोगों से पुलिस समझाइश करने में जुटी है। देवा के परिजन और गुर्जर सामज के लोग दोषियों के पकड़े जाने तक शव लेने से इनकार कर रहे हैं। उधर पुलिस परिजन को शव उठाने को लेकर राजी करने का प्रयास कर रही है। लेकिन इससे पहले सोशल मीडिया पर देवा गुर्जर की हत्या की खबर वायरल होते ही पुलिस के लिए ये दुर्घटना आफत बन गई है और कहीं न कहीं यूजर्स से पुलिस का फेलियर बा रहे हैं।

8 बेटियों के बेटे की चाह में की थी दूसरी शादी

पॉपुलर डॉन देवा ने दो शादियां इसलिए की थी क्योंकि उसे बेट की चाह थी। जानकारी के अनुसार उसके 8 बेटियां और एक बेटा है। देवा एक ही घर में दोनों पत्नियों काली बाई और इंदिरा बाई के साथ रहता था। पहली शादी से देवा को 8 लड़कियां थीं, लड़का नहीं होने के कारण उसने दूसरी शादी की। फिर दूसरी पत्नी से ही उसे लड़का हुआ। देवा सोशल मीडिया पर दोनों पत्नियों के साथ वीडियो और रील बनाकर डाला करता था। देवा ने कई बार उनके साथ शॉपिंग और करवा चौथ पूजा के वीडियो भी शेयर किए थे।
Deva Gurjar को दी दर्दनाक मौत
प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि देवा सैलून में बैठा था तभी अचानक एक दर्जन के करीब लोग अचानक सैलून में घुस आए। बदमाश दो-तीन कारों में सवार होकर आए थे और उन्होंने आते ही मारपीट शुरू कर दी। लाठियों, लोहे के सरिए और डंडों से देवा की पिटाई के साथ ही तीन से चार फायर किए गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार देवा (Deva Gurjar) को तीन गोलियां शरीर में लगी हैं। स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि देवा संभलने का वक्त नहीं मिला और वो मौके पर ही ढेर हो गया।
हत्या के बाद हर स्थिति की खबर सोशल मीडिया पर दे रहे देवा के सपोर्टर
कोटा के गैंगवॉर (gangwar kota) और हत्या के बाद देवा से जुड़ी हर खबर की जानकारी देवा के सपोटर्स की ओर से सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही है और इसके बाद लोग लगातार इसे फॉरवर्ड कर रहे हैं। कोटा के इस हत्याकांड (Deva Gurjar Hatyakand) के बाद देर रात तक पुलिस ने दो से तीन लोगों को हिरासत में लिया है और करीब एक दर्जन से भी ज्यादा हत्यारे अभी भी फरार चल रहे हैं। पुलिस के आला अधिकारी का कहना है कि देवा गुर्जर की हत्यारों की तलाश की जा रही है। घटना के बाद कुछ इलाकों में उत्पात के मामले सामने आए। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।
लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के साथ भी देवा गुर्जर की फोटो  उसके सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई है।
लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के साथ भी देवा गुर्जर की फोटो उसके सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई है।
इधर मंगलवार को कोटा एमबीएस अस्पताल (M B S Hospital Kota) की मोर्चरी के बाहर सैकड़ों की संख्या में गुर्जर समाज के लोगों ने अपना विरोध जताया। इसके साथ ही कोटा-रावतभाटा रोड पर बोराबास के नजदीक समाज के लोगों ने रास्ता जाम कर एक रोडवेज बस को भी आग लगा दी।

बोराबास से निकल रही बसों को रोक कर उन्हें आग के हवाले किया

सूचना पर पुलिस विभाग के अधिकारी और एसटीएफ की टीम भी बोराबास पहुंची और स्थिति को संभालने का प्रयास किया। प्रत्येकदर्शीयों से मिली जानकारी में सामने आया कि गुर्जर समाज के लोगों ने बोराबास के पास से निकल रही एक रोडवेज बस को रोक लिया। इस दौरान बस में मौजूद सभी यात्री घबरा गए। तभी कुछ लोगों ने यात्रियों को बस से बाहर निकलने की चेतावनी जिसके बाद बस में आग लगा दी।
सामने यह भी आ रहा है कि यात्रियों के साथ मारपीट भी की गई है। तो वहीं एमबीएस अस्पताल की मोर्चेरी के बाहर भी हंगामे ने उग्र रूप ले लिया। जिस समय पुलिस शव का एक्सरे कराने के लिए अस्पताल ले कर जा रही थी उसी दौरान आक्रोशित लोगों ने एंबुलेंस को रोक लिया और जमकर हंगामा कर दिया।
पुलिस के समझाने के बाद भी आक्रोशित लोग नहीं माने और हत्यारों को फांसी देने की मांग उठाई। जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान से पुलिसकर्मियों को भी मामूली चोटें आई हैं। जिसके बाद पुलिस कर्मियों ने जमकर लाठियां बरसाईं और लोगों को दूर तक खदेड़ दिया।

Related Stories

No stories found.