Rajasthan: पुजारी दंपति को जिंदा जलाने का प्रयास, पुलिस से शिकायत करने पर नहीं हुई कोई सुनवाई

राजस्थान के राजसमंद जिले के देवगढ़ थाना क्षेत्र में रविवार देर रात एक पुजारी दंपति को जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। इसके लिए हमलावरों ने पुजारी की दुकान पर पेट्रोल बम से हमला कर दिया। पुजारी के बेटे ने आरोप लगाते हुए कहा कि विवाद को लेकर पुलिस को कई बार शिकायत दी जा चुकी थी, लेकिन पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नही की गई।
साभार- जागरण
साभार- जागरण

राजस्थान में एक बार फिर से खौफनाक घटना सामने आई है। राजसमंद जिले के देवगढ़ थाना क्षेत्र में रविवार देर रात एक पुजारी दंपति को जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। इसके लिए हमलावरों ने पुजारी की दुकान पर पेट्रोल बम से हमला कर दिया।

इस हमले में बुजुर्ग पुजारी दंपति 80 फीसदी तक झुलस गए। दोनों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने इस मामले में करीब 8 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

पुजारी दंपति गंभीर रुप से झूलसे

पुलिस के मुताबिक, घटना देवगढ़ थाना क्षेत्र के कमली घाट राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 पर स्थित पेट्रोल पंप के सामने हुई। वहीं हीरा की बस्ती में मंदिर की जमीन को लेकर हुए विवाद में रविवार रात करीब साढ़े आठ बजे 10-12 लोगों ने पुजारी की दुकान में घुसकर पेट्रोल बम फेंक दिया। घटना के समय पुजारी का परिवार वहीं खाना खा रहा था। पेट्रोल बम फेंकते ही आग चारो तरफ फैल गई। आग लगने से पुजारी नवरत्न लाल (75) और उनकी पत्नी जमना देवी (60) के कपड़ों में आग लग गई।

आग लगते ही ग्रामीण मौके पर पहुंच गए

पुजारी के पुत्र मुकेश प्रजापत ने बताया कि हमले में उसके माता-पिता दोनों बुरी तरह झुलस गए हैं। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। दुकान से आग की लपटें व धुंआ उठता देख आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने पानी व मिट्टी डालकर आग बुझाई। बाद में देवगढ़ पुलिस और 108 एंबुलेंस को सूचना दी गई। ग्रामीणों ने एंबुलेंस की मदद से दोनों घायलों को देवगढ़ अस्पताल भिजवाया। घटना की जानकारी मिलते ही अस्पताल में लोगों की भीड़ लग गई।

पुलिस से की गई है जमीन विवाद की शिकायत

पुजारी के बेटे मुकेश ने कहा कि मंदिर भूमि विवाद को लेकर वह पहले भी कमली घाट चौकी पर रिपोर्ट दे चुके हैं, लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई। घटना की सूचना पर देवगढ़ थानाध्यक्ष शैतान सिंह नाथावत पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया।

तहसीलदार मुकंद सिंह, एसआई प्रताप सिंह भी मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए देर रात उनके संभावित ठिकानों पर छापेमारी के लिए दो टीमें भेजीं। पुलिस ने मामले में करीब 8 संदिग्धों को हिरासत में लिया है।

साभार- जागरण
केरल हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, मुस्लिम शादियां भी POCSO एक्‍ट के दायरे में: जानिए क्या है पूरा मामला
Since independence
hindi.sinceindependence.com