गोगामेड़ी की हत्या से कुछ घंटे पहले ही मिले थे शूटर, मजिस्ट्रेट ने 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या करने वाले दोनों शूटरों को कोर्ट में पेश किया गया है। मजिस्ट्रेट ने तीनों बदमाशों को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस ने कोर्ट से कहा कि हत्या को लेकर कई पहलू पर अभी जांच करना बाकी है।
गोगामेड़ी की हत्या से कुछ घंटे पहले ही मिले थे शूटर, मजिस्ट्रेट ने 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा
गोगामेड़ी की हत्या से कुछ घंटे पहले ही मिले थे शूटर, मजिस्ट्रेट ने 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या करने वाले दोनों शूटरों को कोर्ट में पेश किया गया है। मजिस्ट्रेट ने तीनों बदमाशों को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

पुलिस ने कोर्ट से कहा कि हत्या को लेकर कई पहलू पर अभी जांच करना बाकी है। सबसे पड़ा सवाल ये है कि दोनों शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने अपने साथी नवीन सिंह को भी गोगामेड़ी के साथ क्यों मार डाला। क्योंकि नवीन सिंह ही दोनों को गोगामेड़ी के घर लेकर पहुंचा था।

वीरेंद्र चारण ने नवीन को मारने को कहा

जानकारी के अनुसार मृतक नवीन सिंह वीरेंद्र चारण, संपत नेहरा, रोहित गोदारा के लिए काम कर चुका है। नवीन सिंह हर काम का पैसा ज्यादा लेने लगा था।

साथ ही नवीन के पास वीरेंद्र चारण सहित गैंगस्टरों की ऑडियो रिकॉर्डिंग थी। इसके आधार पर कई बार वीरेंद्र चारण को यह भी बोल चुका था कि उसके पास कई सबूत हैं।

इसके आधार पर वह जब चाहे उन्हें पकड़वा सकता है। इसलिए हत्या से एक घंटे पहले नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने नवीन सिंह की कार में नवीन के ही मोबाइल से वीरेंद्र चारण से बात की। इसके बाद दोनों शूटरों को नवीन को भी मारने का टास्क दिया गया।

7 दिन की रिमांड पर भेजा गया

जयपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने बताया कि सोमवार सुबह तीनों बदमाशों को गांधी नगर स्थित मजिस्ट्रेट आवास पर पेश किया गया।

कोर्ट ने तीनों को 7 दिन के रिमांड पर भेज दिया है। रविवार को शूटर्स की मदद करने वाले आरोपी रामवीर को कोर्ट में पेश किया गया था।

रामवीर को कोर्ट ने 8 दिन की पीसी रिमांड दिया है। इस रिमांड अ‌वधी में इन बदमाशों से अहम सवाल पूछने हैं। जरूरत पड़ी तो इन बदमाशों को हरियाणा भी ले जाया जाएगा।

पूछताछ में शूटर नितिन फौजी ने बताया कि वह सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को जानता ही नहीं था। उसे तो केवल टास्क मिला था कि गोगामेड़ी की हत्या करनी है।

इसके बाद उसे और उसके परिवार को कनाडा शिफ्ट कर दिया जाएगा। हत्या करने के लिए उसे इतने पैसे मिलेंगे की वह कनाडा में अपना बड़ा बिजनेस खोल सकता है। भारत की पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर सकेगी।

हत्या से कुछ घंटे पहले मिले दोनों शूटर्स

रोहित राठौड़ को बदला लेना था। वह जानता था कि वह खुद गोगामेड़ी की हत्या नहीं कर सकता। इसलिए उसे किसी शूटर की जरूरत होगी।

यही कारण रहा कि मास्टर माइंड वीरेन्द्र चारण ने जाट रेजिमेंट से छुट्टी पर घर लौटे नितिन फौजी का गुड़गांव जेल में बंद भवानी सिंह की मदद से ब्रेन वॉश किया।

उसे कहा- अगर वह हत्या कर देता है। उसका जीवन सुधर जाएगा। विदेश में मौज करेगा। इस दौरान नितिन भी राजी हो गया। नितिन और रोहित राठौड़ की मुलाकात हत्या से कुछ घंटों पहले कराई गई थी।

जिससे दोनों ज्यादा बातचीत ना कर सकें। हत्याकांड को अंजाम दे सकें। इसकी जिम्मेदारी नवीन सिंह को दी गई थी। दोनों में ज्यादा दोस्ती नहीं होनी चाहिए। दोनों को बार-बार उनके मोटिव को याद दिलाने की जिम्मेदारी नवीन सिंह के पास थी।

गोगामेड़ी की हत्या से कुछ घंटे पहले ही मिले थे शूटर, मजिस्ट्रेट ने 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा
IT Raid: अब तक 300 करोड़ बरामद, ₹2000 का नोट एक भी नहीं? कांग्रेस सांसद का 'काला सच'!

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com