ओवैसी के बयान पर बीजेपी विधायक का पलटवार , पढ़े क्या कहा MLA सुरेंद्र सिंह ने

यूपी के बलिया जिले की बैरिया विधानसभा से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह अपने विवादित बयानों से चर्चा में बने रहते हैं। यूपी में शाहीन बाग बनाने को लेकर ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन के मुखिया ओवैसी के विवादित बयान पर बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर पलटवार किया है।
ओवैसी के बयान पर बीजेपी विधायक का पलटवार , पढ़े क्या कहा MLA  सुरेंद्र सिंह ने

यूपी के बलिया जिले की बैरिया विधानसभा से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह अपने विवादित बयानों से चर्चा में बने रहते हैं। यूपी में शाहीन बाग बनाने को लेकर ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन के मुखिया ओवैसी के विवादित बयान पर बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि यूपी शाहीन बाग बनाने की हिम्मत करने वालों का पोस्टमार्टम हाउस बनकर तैयार है। सोचने की कोई बात नहीं है।

ये कहा विधायक ने

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि शाहीन बाग बनाने वाले और दंगाइयों को योगी राज में दंगा नहीं करा पाएंगे। दंगा करने की सोच रखने वालों के लिए ये जिंदगी की सबसे बड़ी भूल साबित होगी। बीजेपी विधायक ने कहा कि जो लोग दूसरों की जान लेकर दंगा करना चाहते हैं, ऐसे लोगों को धरती पर रहने का हक नहीं है।

असदुद्दीन ओवैसी ने दिया था कृषि कानून की तरह CAA वापस लेने का बयान

बता दें कि विधानसभा चुनाव को लेकर बाराबंकी जिले के रामपुर भवानीपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कृषि कानून के तौर पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को वापस लेने की मांग की। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) बनता है, तो हम फिर सड़कों पर उतरेंगे, शाहीन बाग फिर से बनेगा।

उन्होंने कहा था कि सीएए को वापस लिया जाना चाहिए। यह संविधान के खिलाफ है। संविधान बाबा साहेब ने बनाया था। जिसमें धर्म के आधार पर कानून नहीं बनाए गए। बीजेपी ने इसके खिलाफ यह कानून बनाया है। इस कानून को वापस लेना चाहिए। उन्होंने कड़े लहजे में कहा था कि अगर राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) बन जाता है, तो हम फिर सड़कों पर उतरेंगे, शाहीन बाग फिर बनेगा।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com