पूर्व डीजीपी बृजलाल बोले , सपा सरकार में आतंक की फैक्ट्री था आजमगढ़ , मुलायम – अखिलेश वहां के नेता

लखनऊ: बीजेपी के राज्यसभा सांसद पूर्व डीजीपी बृजलाल ने शनिवार सुबह कहा कि अखिलेश सरकार के तहत उत्तर प्रदेश आतंकवाद और गुंडाराज का गढ़ था। यादव परिवार का पूरा समर्थन आतंकियों और गुंडों माफियाओं को मिला था।
पूर्व डीजीपी बृजलाल बोले , सपा सरकार में आतंक की फैक्ट्री था आजमगढ़ , मुलायम – अखिलेश वहां के नेता

लखनऊ: बीजेपी के राज्यसभा सांसद पूर्व डीजीपी बृजलाल ने शनिवार सुबह कहा कि अखिलेश सरकार के तहत उत्तर प्रदेश आतंकवाद और गुंडाराज का गढ़ था। यादव परिवार का पूरा समर्थन आतंकियों और गुंडों माफियाओं को मिला था। आतंकियों के केस वापस ले लिए गए और आजमगढ़ आतंकी फैक्ट्री बन गया था। वहीं से मुलायम सिंह यादव और अखिलेश भी सांसद बने।

बृजलाल ने कहा कि हमारा राज्य दंगा मुक्त हो गया है।

प्रदेश में था आजमगढ़ मॉड्यूल, अखिलेश यादव ने लश्कर और इंडियन मुजाहिदीन से केस वापस लिए। जिसका सबसे बड़ा केंद्र आजमगढ़ था।

कांग्रेस और एसपी रो रहे थे जब हमने कई अपराधियों को पकड़ा था। हमने उन्हें जेल में डाल दिया। लेकिन अखिलेश यादव ने अपने घोषणापत्र में कहा था कि जब हमारी सरकार बनेगी तो ये लोग आजाद हो जाएंगे।

उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर 2007 को सीआरपीएफ कैंप रामपुर पर हमला हुआ था। हमने उन अपराधियों को पकड़ा। लेकिन अखिलेश यादव ने केस वापस ले लिया।

बृजलाल ने कहा कि अयोध्या, बाराबंकी और लखनऊ में भी हमले हुए।

लेकिन सपा सरकार ने केस वापस ले लिया। लेकिन हाईकोर्ट ने ऐसा नहीं होने दिया। पूर्व डीजीपी और राज्यसभा सांसद बृजलाल ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संगठित अपराध को रोका गया है। मुख्तार अंसारी, अतीक और विजय मिश्रा जेल में सड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सपा नेताओं ने बाहुबल का इस्तेमाल किया। हमारी सरकार ने 1800 करोड़ की संपत्ति पर बुलडोजर चलाया है और अभी भी बुलडोजर चल रहा है।

उन्होंने कहा कि सपा का चुनाव चिन्ह लाइट मशीन गन होना चाहिए था। उन्होंने कहा कि कृष्णानंद राय पर एके 47 से 67 गोलियां चलाई गईं, इस घटना में भी सपा का हाथ था।

लेकिन अब बीजेपी सरकार तालिबानी विचारधारा को कुचल रही है। बृजलाल ने पीएफआई पर भी सवाल उठाए और कहा कि पीएफआई ने कई घटनाएं की हैं। सोशल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ इंडिया एक आतंकवादी संगठन है और अखिलेश इसके साथ थे

उन्होंने कहा कि कैराना में हिंदुओं को भगा दिया गया। आज कैराना में कोई प्रवास नहीं करता। सपा सरकार में कैराना को लेकर प्रमोद कृष्णम की कमेटी ने कैराना को कवर किया है।

योगी आदित्यनाथ ने 75 हजार पुलिस कर्मियों की भर्ती की है। पुलिसकर्मियों की संख्या साढ़े चार लाख है। 213 नया पुलिस स्टेशन, यूपीएससीसीएफ बनाया गया है। महिला अपराधों में आई कमी।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com