इलेक्टोरल वेरिफिकेशन प्रोगाम के तहत जाने कैसे होगा आपका वोटर आईडी वेरिफिकेशन..

इलेक्टोरल वेरिफिकेशन प्रोगाम 1 सिंतबर से शुरू हो गया है जो अगले महिने 15 अक्टूबर तक चलेगा।
इलेक्टोरल वेरिफिकेशन प्रोगाम के तहत जाने कैसे होगा आपका वोटर आईडी वेरिफिकेशन..

न्यूज – आप देश की चुनावी प्रकिया में भाग तो लेते ही होगें, वोट भी देते होगें, जब हम वोट देते है तो काम आती है एक आईडी, जो अपनी पहचान बताती है, ये वोटर आईडी वोंटिग के समय तो काम आती ही है पहचान बताने में तो काम आती ही है, लेकिन कई बार ऐसा होता कि वोटर आईडी में या तो पुरा नाम नहीं होता, या जन्मतिथि गलत होती है या फिर एड्रेस गलत होता है, तो इस वजह से कई बार हम वोट नहीं दे पाते तो कई जगह ये आईडी इनवैलिड हो जा सकती है,

लेकिन अब आप इन सब से बचना चाहते हो तो फिर ये वीडियो आपको जरूर देख लेना चाहिए, और पुरा देखना चाहिए..दरअसल भारतीय चुनाव आयोग ने इलेक्टोरल वेरिफिकेशन प्रोगाम यानी EVP शुरू किया है जिसके तहत सभी देशवासियों को अपना और अपने परिवार का वोटर कार्ड वेरिफाई करना जरूरी।

इस प्रोग्राम का मकसद मतदाताओं को मतदाता सूची का आकलन करने, स्वयं सत्यापन करने और अगर कोई गलती रह गई तो उसे सही करने का है। भारतीय चुनाव आयोग ने 1 सितंबर से विशेष अभियान की शुरुआत की है, इसके तहत अब लोगों के वोटर आईडी का वेरिफिकेशन होगा, 1 सितंबर से शुरू हुआ, ये अभियान 15 अक्टूबर तक चलेगा।

इस प्रक्रिया के तहत कोई भी नागरिक ये जांच कर सकेगा कि उसके परिवार के कितने सदस्यों के नाम सूची में हैं, इसके अलावा नाम सही है या नहीं, या फिर ओर कोई गलती है तो उसे भी सही करवा सकता है। चुनाव आयोग की मतदाता सत्यापन कार्यक्रम में मतदाता सूची को क्राउड सोर्सिंग यानि जन भागीदारी के माध्यम से अपडेट किया जाएगा।

अब आपको इसे अपडेट करने की प्रकिया बताते है, इसे आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से अपडेट करवा सकते है।…..सबसे पहले बात करते है ऑफलाइन की इसके लिए आपको जन सेवा केंद्र पर जाना होगा, और वंहा 2 रूपये प्रति फार्म के हिसाब से जमा कराना होगा। फार्म के साथ आपकी कोई अन्य आईडी लगानी होगी जिससे आपका वेरिफिकेशन हो सकें।

दुसरी ओर यदि आप ये प्रकिया ऑनलाइन करते है तो ये बिल्कुल फ्री होगी, वोटर लिस्ट वेरिफिकेशन के लिए आपको पहले nvsp.in साइट पर जाना होगा, और वंहा मोबाइल नंबर, मतदाता कार्ड नंबर और ईमेल के साथ रजिस्टर करना होगा, आप गूगल प्ले स्टोर से वोटर हेल्पलाइन एप डाउनलोड करके भी ये सब कर सकते हैं,

हर वोटर के सत्यापन में एक आईडी अपलोड करनी है, जब वोटर अपनी सूचनाएं वेरिफाई कर देगा, उसके बाद आपके क्षेत्र का BLO, Booth Level Officer भी स्मार्टफोन के साथ उसे वेरिफाई करने घर-घर जाएंगे, वोटर को अपनी आईडी और बाकी डॉक्यूमेंट दिखाने होंगे।

वोटर की डिटेल वेरिफाई करने के लिए जरूरी डॉक्युमेंट की लिस्ट में चुनाव आयोग ने तीन और डॉक्युमेंट जोड़े हैं, ये डॉक्युमेंट पैन कार्ड, RGI (Registrar General of India)  द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड और एड्रेस प्रूफ के लिए नए पानी/टेलिफोन/बिजली/गैस कनेक्शन बिल हैं, वोटर आईडी के सत्यापन के लिए पहले से जो 7 डॉक्युमेंट वैलिड है, उनमें पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, राशन कार्ड, सरकारी/अर्धसरकारी अधिकारियों के लिए आईडी कार्ड, बैंक पासबुक और किसान पहचान पत्र शामिल हैं।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com