पंजाब कांग्रेस: नवजोत सिंह सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा, राहुल गांधी से मुलाकात के बाद कही ‘बड़ी बात’

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पार्टी नेता राहुल गांधी से मुलाकात की और अपना इस्तीफा वापस ले लिया। उन्होंने कहा, "मैंने राहुल गांधी के साथ अपने सभी मुद्दों को साझा किया।
पंजाब कांग्रेस: नवजोत सिंह सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा, राहुल गांधी से मुलाकात के बाद कही ‘बड़ी बात’
Image Credit: Aaj Tak

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पार्टी नेता राहुल गांधी से मुलाकात की और अपना इस्तीफा वापस ले लिया। उन्होंने कहा, "मैंने राहुल गांधी के साथ अपने सभी मुद्दों को साझा किया। सब कुछ सुलझा लिया गया है।" इस बारे में मीडिया से बात करते हुए पंजाब के एआईसीसी प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि सिद्धू ने राहुल गांधी से अपनी परेशानी साझा की। हमने उनसे कहा है कि यहां उनकी चिंताओं का ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने अपना इस्तीफा वापस ले लिया है और पीसीसी अध्यक्ष के रूप में अपने कर्तव्यों को फिर से शुरू करेंगे।

नवजोत शुक्रवार को की थी पूर्वाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात

कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। 12, तुगलक लेन स्थित राहुल गांधी से उनके आवास पर मिलने के बाद सिद्धू ने बड़ी बात की और बताया कि उनकी सभी समस्याओं का समाधान हो गया है। बैठक में कांग्रेस महासचिव और पंजाब प्रभारी हरीश रावत भी मौजूद थे। इससे ठीक एक दिन पहले उन्होंने कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल और पंजाब प्रभारी हरीश रावत से मुलाकात की थी और वरिष्ठ नेताओं को उन मुद्दों से अवगत कराया था, जिन पर वह पूर्व में इस्तीफा दे चुके हैं।

28 सितंबर को दे दिया था इस्तीफा

सूत्रों के मुताबिक गुरुवार को 24 अकबर रोड (कांग्रेस मुख्यालय) में करीब डेढ़ घंटे तक चली बैठक में पंजाब सरकार और संगठन से जुड़े मुद्दों पर चर्चा कर आम सहमति बनाने की कोशिश की गई, ताकि चुनाव से पहले पूरी पार्टी एक साथ मैदान में उतरेगी सके। सूत्रों ने यह भी कहा कि राज्य कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व में फिलहाल परिवर्तन की गुंजाईश कम है क्योंकि विधानसभा चुनाव में कुछ ही महीने बचे हैं।

बता दें की नवजोत सिंह सिद्धू ने 28 सितंबर को कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में सिद्धू ने कहा था कि वह पार्टी की सेवा करते रहेंगे। उन्होंने पत्र में लिखा, "किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व में गिरावट की शुरुआत समझौते से होती है। मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे से समझौता नहीं कर सकता।"

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com