जमीयत उलेमा-ए-हिन्द अध्यक्ष मौलाना मदनी बोले ,”जिहाद हमारे ऊपर फर्ज, हम करेंगे” पढ़ें पूरी खबर

मौलाना मदनी ने यह भी दावा किया कि मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने के लिए मुसलमानों की बात उठाई जाती है। हर बात को सांप्रदायिक रंग मे रंग दिया जाता है ।
photo:india tv
photo:india tv

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी कड़ी में राज्य का चुनावी मूड भाँपने को विभिन्न मीडिया संस्थान कार्यक्रमों का आयोजन कर रहे हैं। ऐसा ही एक कार्यक्रम इंडिया टीवी की ओर से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बुधवार को आयोजित किया गया। इस दौरान जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला।

इंडिया टीवी के 'चुनाव मंच' कार्यक्रम में मदनी ने कहा,

"योगी सरकार में मुसलमान दबा हुआ महसूस कर रहा है। मुसलमानों को शारीरिक और मानसिक​ रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। मुसलमानों को इस दौर से निकालने की जिम्मेदारी सरकार की है।"

उन्होंने यह भी दावा किया कि मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने के लिए मुसलमानों की बात की जाती है। हर बात को सांप्रदायिक रंग दिया जाता है। उन्होंने कहा कि जो मुसलमानों के साथ होने का दावा करते हैं, वे भी मुसलमानों के साथ नहीं हैं। साथ ही दोहराया कि हिंदुस्तान में मुसलमानों को अपनी वफादारी साबित करने की जरूरत नहीं।

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने 'जिहाद' का भी बचाव किया। उन्होंने कहा कि जिहाद मुस्लिमों के ऊपर फर्ज है। वे इससे इनकार नहीं कर सकते। उन्होंने कहा, "हम जिहाद करेंगे। जिहाद हमारी जिम्मेदारी है।" मदनी ने कहा कि अगर मीडिया साथ दे तो लोगों को जिहाद का सही मकसद समझाया सकता है।

मुसलमानों से यह सवाल करेंगे 

उन्होंने कहा कि मुसलमानों की सबसे बड़ी कमजोरी है कि वे लाइक माइंडेड लोगों को अपने साथ जोड़ने में असफल हो रहे हैं। इसके अलावा उनका खुद का भी नजरिया ऐसा है, जिसकी वजह से वे आपस में बँट जाते हैं। बाहर वालों को ताकत भी इसी रवैए की वजह से मिलती है। तालिबान को लेकर मदनी ने कहा, "अगर तालिबान किसी जगह आए हैं तो इस पर भारत को और भारत के लोगों को ऐतराज करने का हक है। लेकिन आप एक बार उसको देखिए तो कि क्या हो रहा है, मुसलमानों से यह सवाल करेंगे?"

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com