केदारनाथ में बीजेपी नेताओं का पुरजोर विरोध, विवादों के बीच अब हरीश रावत, सीएम चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू जाएंगे केदारनाथ

पंजाब में सीएम चरणजीत सिंह चन्नी समेत पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आज केदारनाथ धाम जाएंगे। चन्नी के साथ विधानसभा अध्यक्ष केपी राणा, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और प्रदेश प्रभारी हरित चौधरी भी देहरादून पहुंच चुके हैं।
केदारनाथ में बीजेपी नेताओं का पुरजोर विरोध, विवादों के बीच अब हरीश रावत, सीएम चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू जाएंगे केदारनाथ

पंजाब में सीएम चरणजीत सिंह चन्नी समेत पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आज केदारनाथ धाम जाएंगे। चन्नी के साथ विधानसभा अध्यक्ष केपी राणा, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और प्रदेश प्रभारी हरित चौधरी भी देहरादून पहुंच चुके हैं। मंगलवार की सुबह सभी नेता पूर्व सीएम हरीश रावत के आवास पर पहुंचे। वहां उन्होंने लंबे समय तक राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की। इस बीच हरीश रावत ने कहा, क्या तुमने देखा जब मैंने कहा कि पंजाब में अब सब कुछ ठीक है? सब कुछ सुचारू रूप से चल रहा है, हम चुनौतियों से पार पा रहे हैं। यकीन मानिए यह जारी रहेगा और हरीश चौधरी ऐसे व्यक्ति हैं जिनसे आप सीख सकते हैं। यह हमें पंजाब में जीत की ओर ले जा रहा है।

केदारनाथ धाम में देवस्थानम बोर्ड को लेकर विवाद

आपको बता दें कि केदारनाथ धाम में देवस्थानम बोर्ड को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा था। तीर्थयात्रियों ने काले झंडे दिखाने के साथ ही त्रिवेंद्र के खिलाफ नारेबाजी की थी। जिसके चलते पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र को केदारनाथ के दर्शन किए बगैर वापस लौटना पड़ा। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने मंत्री डॉ. धन सिंह रावत और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक का भी घेराव किया।

केदारनाथ हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर से उतरे त्रिवेंद्र सिंह रावत

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत सोमवार सुबह आठ बजे बाबा केदार के दर्शन करने केदारनाथ हेलीपैड पर उतरे। यहां तीर्थयात्रियों ने उन्हें सरस्वती पुल पर आगे बढ़ने से रोक दिया। उनके खिलाफ नारेबाजी करने लगे। घंटों इंतजार किया, लेकिन पुजारी नहीं माने। उसके बाद वह सुरक्षा के बीच जीएमवीएन गेस्ट हाउस गए। दोपहर में मौसम खुला तो वह केदारनाथ धाम से वापस लौट गए। बता दें की त्रिवेंद्र रावत ने ही मुख्यमंत्री रहते चारधाम देवस्थानम बोर्ड का गठन किया गया था।

मैं यहां महादेव का आशीर्वाद लेने आया हूं – सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि कार्तव्य पथ से बड़ा कोई धर्म पथ नहीं है। 'धर्म' गरीबों को खाना खिला रहा है, खुशियां फैला रहा है। यही महादेव का संदेश है। इसलिए मैं यहां आशीर्वाद लेने आया हूं। महादेव की कृपा से ही मैं अपने कल्याण को पंजाब के कल्याण के साथ मिला सकता हूं, ताकि पंजाब जीत सके।

क्यों महत्वपूर्ण माना जा रहा है कांग्रेस नेताओं का दौरा?

रावत के मीडिया समन्वयक जसबीर सिंह रावत ने बताया कि कुछ समय बाद सभी नेता केदारनाथ धाम के लिए रवाना होंगे। वे वहां पूजा अर्चना करेंगे। केदारनाथ में बीजेपी नेताओं के जबरदस्त विरोध के बाद अब कांग्रेस नेताओं का ये दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। हरीश रावत ने बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए देवस्थानम बोर्ड को तत्काल प्रभाव से रद्द करने की मांग भी उठाई है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com