#HappyTeachersDay – शिक्षक दिवस आज, जानिए शिक्षक दिवस का महत्व!

शिक्षक दिवस भारत के दुसरे राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है।
#HappyTeachersDay – शिक्षक दिवस आज, जानिए शिक्षक दिवस का महत्व!

न्यूज – भारत में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। शिक्षक दिवस समाज को शिक्षकों द्वारा दिए गए योगदान का सम्मान करने के लिए मनाया जाता है। शिक्षक एक सभ्य और प्रगतिशील समाज की नींव रखते हैं। यह सुनिश्चित करते है उनका कार्य समर्पित है, छात्र अच्छे नागरिक बन जाएं, अच्छी पहचान बनाए।

शिक्षक दिवस शिक्षकों को पहचानने और उनकी सराहना करने के लिए विशेष दिन होते हैं। वैसे विश्व शिक्षक दिवस 5 अक्टूबर को होता है। भारत में, शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है और यह परंपरा 1962 में शुरू हुई थी।

शिक्षक न केवल एक व्यक्ति बल्कि पूरे समाज के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह शिक्षकों द्वारा प्रदान किया गया ज्ञान और मूल्य है जो अंतत किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व को आकार देते हैं।

शिक्षक दिवस डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के सम्मान में बनाया जाता है। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर, 1888 को हुआ था। वे भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे। वह एक महान विद्वान, और  दार्शनिक व्यक्ति है और उन्हें भारत रत्न भी मिला था। भारत में उनके योगदान के सम्मान में यह दिवस मनाया जाता है। 1962 में जब वे देश के राष्ट्रपति बने, तो उनके छात्र और मित्र उनका जन्मदिन मनाने की इच्छा रखते थे। ये बात उन तक पहुंची तो उन्होंने कहा "मेरे जन्मदिन का जश्न मनाने के बजाय, 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है, तो यह मेरा गौरवपूर्ण विशेषाधिकार होगा।"

 इसी के बाद 5 सितंबर 1962 को पहला शिक्षक दिवस मनाया गया। तब से उनके जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। डॉ. राधाकृष्णन एक प्रतिष्ठित अकादमिक थे। उन्होंने चेन्नई के प्रेसीडेंसी कॉलेज और कलकत्ता विश्वविद्यालय में शिक्षा दी। उन्होंने 1931 से 1936 तक आंध्र विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में कार्य किया। 1936 में, डॉ. राधाकृष्णन को ऑक्सफोर्ड में पूर्वी धर्मों और नैतिकता के स्पेलिंग प्रोफेसर की कुर्सी भरने के लिए आमंत्रित किया गया, जिसे उन्होंने 16 वर्षों तक बनाए रखा।

शिक्षक दिवस पर, राष्ट्र भर के छात्र अपने जीवन में शिक्षकों और गुरुओं का सम्मान करते हैं। विद्याथियों के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालें शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है, स्कूलों और कॉलेजों में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। आजकल तो सोशल मीडिया का जमाना है इसलिए लोग अपने शिक्षकों को फोन से ही संदेश भेज देते है,

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com