बॉक्सर लवलीना का सिस्टम पर आरोप, बोलीं- कोच के साथ ट्रेनिंग की इजाजत नहीं दी जा रही

बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने राष्ट्रमंडल खेलों से पहले सनसनीखेज आरोप लगाया है। लवलीना का कहना है कि वह उत्पीड़न का शिकार हो रही हैं
बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन
बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन

टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए कांस्य पदक जीतने वाली बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने राष्ट्रमंडल खेलों से पहले सनसनीखेज आरोप लगाया है। लवलीना का कहना है कि वह उत्पीड़न का शिकार हो रही हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स शुरू होने में कुछ ही दिन बचे हैं और उन्हें कोच के साथ ट्रेनिंग करने की इजाजत नहीं दी जा रही है।

लवलीना ने ट्वीट कर लगाए आरोप
आज मैं बड़े दुख के साथ कहती हूं कि मेरे साथ बहुत हैरेसमेंट हो रहा है। जिस कोच ने मुझे ओलिंपिक में मेडल जीतने में मदद की, उन्हें बार-बार हटा दिया जा रहा है। इससे मेरे ट्रेनिंग प्रोसेस पर बुरा असर हुआ है। इंग्लैंड आने से पहले भी मुझे अपने कोच के साथ ट्रेनिंग करने में बहुत मुश्किल हुई। बार-बार हाथ जोड़ कर मिन्नत करने के बावजूद बहुत देर से उन्हें जॉइन कराया जाता है। मुझे ट्रेनिंग में बहुत परेशानी उठानी पड़ती है और मेंटल हैरेसमेंट तो होता ही है। अभी तक मेरी कोच संध्या को कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज के बाहर रखा गया है। उन्हें एंट्री नहीं मिल रही है। ऐसा तब हो रहा है जब कॉमनवेल्थ गेम्स में मेरे मुकाबले शुरू होने में 8 दिन ही बचे हैं। मेरे दूसरे कोच को भी वापस भारत भेज दिया गया है। मुझे समझ नहीं आ रहा मैं कैसे फोकस करूं? इसी के कारण पिछली वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी मेरा परफॉर्मेंस खराब हुआ था। अब राजनीति के कारण मैं कॉमनवेल्थ भी खराब नहीं करना चाहती हूं। आशा करती हूं कि मैं मेरे देश के लिए इस राजनीति को तोड़कर मेडल ला पाऊं। जय हिंद।'

खेल गांव में लवलीना के साथ भेदभाव

लवलीना ने ये आरोप किस पर लगाए हैं ये अब तक साफ नहीं हो पाया है। हालांकि इससे साफ है कि खेल गांव में उनके साथ भेदभाव किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) की ओर से भेजी गई खिलाड़ियों और स्टाफ की पहली सूची में संध्या गुरुंग का नाम नहीं था। इसके बाद बीएफआई की ओर से अपडेटेड लिस्ट भेजी गई, जिसमें संध्या को भी नहीं रखा गया। बाद में लवलीना की मांग पर संध्या का नाम भारतीय खेल प्राधिकरण को भेज दिया गया। ऐसे में साईं संध्या को भेजने के लिए तैयार हो गए। अब संध्या जब बर्मिंघम पहुंचती हैं तो उन्हें खेल गांव में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भेजी गई लिस्ट में नहीं दिया कोच का नाम

खबरों के अनुसार बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से पहली बार 6 जुलाई को कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भेजी गई खिलाड़ियों और स्टाफ की सूची में लवलीना की कोच संध्या का नाम शामिल नहीं था। वहीं, 18 जुलाई को फेडरेशन की ओर से अपडेटेड लिस्ट भेजी गई थी, जिसमें उनके कोच का नाम नहीं था। लवलीना की बार-बार मांग के बाद संध्या का नाम भारतीय खेल प्राधिकरण को भेजा गया, जिसके बाद कोच के जाने पर इजाजत दी।

बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन
धोनी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, 150 करोड़ के लेन-देन का मामला

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com