टीम इंडिया के पास 15 साल बाद इतिहास रचने का मौका, इंग्लैंड से 1 जुलाई से महामुकाबला, ये 5 खिलाड़ी बन सकते हमारे सपने में रोड़ा

यह वही टेस्ट है जिसे पिछले साल कोरोना के कारण टाल दिया गया था। जब सीरीज रुकी तो भारत 2-1 से आगे था। अगर टीम इंडिया यह मैच जीत जाती है तो 2007 के बाद पहली बार टीम इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतेगी
टीम इंडिया के पास 15 साल बाद इतिहास रचने का मौका, इंग्लैंड से 1 जुलाई से महामुकाबला, ये 5 खिलाड़ी बन सकते हमारे सपने में रोड़ा

भारत और इंग्लैंड के बीच बर्मिंघम में 1 जुलाई से टेस्ट मैच खेला जाना है। यह वही टेस्ट है जिसे पिछले साल कोरोना के कारण टाल दिया गया था। जब सीरीज रुकी तो भारत 2-1 से आगे था। अगर टीम इंडिया यह मैच जीत जाती है तो 2007 के बाद पहली बार टीम इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतेगी। यानी टीम के पास 15 साल बाद इतिहास रचने का मौका होगा। हालांकि इंग्लैंड के पास पांच ऐसे खिलाड़ी हैं जो भारत का सपना तोड़ सकते हैं। तो कौन है वो खिलाड़ी आपको बताते है।

सबसे पहले बात करेंगे जेम्स एंडरसन की...
इंग्लैंड के दिग्गज गेंदबाज 39 वर्षीय जेम्स एंडरसन टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं। हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 650 विकेट पूरे किए हैं। भारत के खिलाफ इस खिलाड़ी का रिकॉर्ड भी शानदार रहा है। उन्होंने टीम इंडिया के खिलाफ 34 टेस्ट मैच खेले हैं और 133 विकेट लिए हैं। इस दौरान उनका औसत 25.22 रहा है। एंडरसन नई गेंद से काफी खतरनाक हो जाते हैं। वे बढ़ती उम्र के साथ बेहतर होते जा रहे हैं। ऐसे में टीम इंडिया को इस खिलाड़ी से बचकर रहना होगा।

बेन स्टोक्स

बेन स्टोक्स के कप्तान बनने से इंग्लैंड क्रिकेट टीम का रवैया बदल गया है। स्टोक्स के कप्तान के रूप में कार्यभार संभालने से पहले, इंग्लैंड को एशेज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4-0 से करारी हार का सामना करना पड़ा था। वहीं वेस्टइंडीज की टीम ने उन्हें घर में 1-0 से हरा दिया, लेकिन स्टोक्स के कप्तान और ब्रेंडम मैकुलम के कोच बनने से इंग्लैंड की टीम पुराने रंग में लौट आई है।

दुनिया के बेहतरीन ऑलराउंडर

स्टोक्स एक शानदार कप्तान के साथ-साथ दुनिया के बेहतरीन ऑलराउंडर भी हैं। गेंदबाजी हो या बल्लेबाजी, वह टीम इंडिया को परेशान कर सकते हैं. वह पिछले साल 4 टेस्ट मैचों में टीम का हिस्सा नहीं थे, लेकिन अब वह टीम इंडिया के लिए बड़ी समस्या बन सकते हैं। स्टोक्स ने भारत के खिलाफ 4 अर्द्धशतक और एक शतक बनाया है। वहीं, 34 विकेट भी उनके नाम हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 73 रन देकर 5 विकेट है।

जॉनी बेयरस्टो

इस साल इंग्लैंड का यह बहादुर खिलाड़ी टेस्ट मैचों में कमाल की फॉर्म में है। 2019 से 2021 तक बेयरस्टो के बल्ले से एक भी शतक नहीं लगा। वहीं, इस साल इस खिलाड़ी ने 3 शतक लगाए हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने 50 ओवर में 299 रन के लक्ष्य का पीछा किया। इस मैच में बेयरस्टो के बल्ले से महज 92 गेंदों में 136 रन बने। इसमें 14 चौके और 7 छक्के शामिल थे।

इंग्लैंड द्वारा बनाया गया दूसरा सबसे तेज शतक

यह टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड द्वारा बनाया गया दूसरा सबसे तेज शतक था। गिल्बर्ट जेसप के नाम इंग्लैंड के लिए सबसे तेज टेस्ट शतक लगाने का रिकॉर्ड है। जेसप ने 1902 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 76 गेंदों में शतक बनाया था। बेयरस्टो जिस तरह की फॉर्म में हैं, उसे देखते हुए भारतीय गेंदबाजों को इस खिलाड़ी को जल्दी पवेलियन भेजने की रणनीति बनानी चाहिए। बेयरस्टो ने भारत के खिलाफ 17 टेस्ट मैच खेले हैं और 27.68 की औसत से 803 रन बनाए हैं।

जो रूट

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान जो रूट का बल्ला इन दिनों जमकर बोल रहा है। रूट ने हाल ही में टेस्ट क्रिकेट में भी 10 हजार से ज्यादा रन पूरे किए हैं। रूट का बल्ला टीम इंडिया के खिलाफ कुछ ज्यादा ही जमकर बोलता है। उन्होंने टीम इंडिया के खिलाफ अब तक 24 टेस्ट मैच खेले हैं और 60.33 की औसत से 2,353 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले ने 8 शतक और 10 अर्धशतक जड़े हैं. पिछले साल भारत के खिलाफ इसी सीरीज के पहले चार मैचों में रूट ने 94 की औसत से 564 रन बनाए थे। कप्तानी छोड़ने के बाद रूट ज्यादा बेफिक्र होकर खेल रहे हैं।

ओली रॉबिन्सन

पिछले साल जब टीम इंडिया इंग्लैंड दौरे पर गई थी। तब इंग्लैंड के इस तेज गेंदबाज ने भारतीय बल्लेबाजों को काफी परेशान किया था। रॉबिन्सन ने 4 मैचों में 21 विकेट लिए। टीम इंडिया के बल्लेबाजों को उनकी स्विंगिंग बॉल समझ में नहीं आती है. जब गेंद पुरानी हो जाती थी तो रॉबिन्सन अपनी उछाल और गति से बल्लेबाजों को परेशान करते थे। तीसरे टेस्ट में इस खिलाड़ी ने 81 रन देकर 7 विकेट लिए।

उन्होंने पहली पारी में 2 और दूसरी पारी में 5 विकेट लिए। तीसरे टेस्ट की पहली पारी में टीम इंडिया महज 78 रन पर ऑल आउट हो गई। इंग्लैंड ने पारी और 78 रन से मैच जीत लिया और रॉबिन्सन मैन ऑफ द मैच रहे। रॉबिन्सन फिलहाल चोट के कारण टीम से बाहर हैं, लेकिन भारत के खिलाफ मैच के लिए उनकी टीम में वापसी हो सकती है।

टीम इंडिया के पास 15 साल बाद इतिहास रचने का मौका, इंग्लैंड से 1 जुलाई से महामुकाबला, ये 5 खिलाड़ी बन सकते हमारे सपने में रोड़ा
ICC टी20 रैंकिंग में दिनेश कार्तिक का जलवा, रवींद्र जडेजा बने नंबर-1 ऑलराउंडर, जानिए टॉप10 टी20 रैंकिंग

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com