सिरसेना ने कहा बम धमाक से 15 दिन पहले भारत से मिले थे इनपूट मुझे किसी ने जानकारी नही दी,

भारत श्रीलंका के रिश्ते 2600 साल पूराने,नरेंद्र मोदी जून में श्रीलंका दौरे पर
सिरसेना ने कहा बम धमाक से 15 दिन पहले भारत से मिले थे इनपूट मुझे किसी ने जानकारी नही दी,

कोलंबो – मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के बाद स्वदेश लौटे  श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरसेना ने भारत दौरे को लेकर प्रेस कॉन्फेस की।

प्रेस कॉफ्रेंस में कहा कि ईस्टर के मौके पर हुए बम धमाकों से 15 दिन पहले भारत से इनपुट मिले थे, लेकिन अधिकारियों ने मुझे जानकारी नही दी। इसलिए मैंने अपने रक्षा सचिव और महानिरीक्षक को हटा दिया। सिरिसेना ने कहा कि अभी तक हमलावरों के भारत से संबंध होने के कोई सबूत नहीं मिले हैं।

हालांकि, मई में श्रीलंका के सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल महेश सेनानायके ने एक इन्टरव्यू में कहा था कि ईस्टर धमाके से पहले आतंकी ट्रेनिंग और अन्य गतिविधियों के लिए भारत गए थे। वे ट्रेनिंग के लिए कश्मीर, केरल और बेंगलुरु गए थे, उन्हें इसकी जानकारी मिली है।

हालांकि, जब इस बारे में जब श्रीलंका के राष्ट्रपति से पूछा गया तो उन्होनें कहा कि उन्हें इस बारे में कोई सूचना नहीं दी गई। 21 अप्रैल को श्रीलंका में 8 जगहों पर आंतकी हमले हुए थे इन हमलों में करीब 250 लोगों की जान चली गई थी। हमले की जिम्मेदारी आंतकी संगठन आईएस ने ली थी।

देश लौटने के बाद राष्ट्रपति सिरसेना ने कहा कि जब श्रीलंका में आंतकी हमला हुआ तो वे देश से बाहर थे उस दौरान वे सिंगापुर की अधिकारिक यात्रा पर थे। भारत से 4 अप्रैल को खुफिया एजेसिंयों ने हमले का अलर्ट भेजा था। इसके बाद रक्षा सचिव और पुलिस महानिरीक्षक के बीच बातचीत हुई लेकिन इसकी मुझे जानकारी नही दी गई। उन्होने कहा कि धमाकों की जांच में भारत, ब्रिटेन, और अमेरिका ने भी जांच में सहयोग किया है।

सिरेसेना ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जून में श्रीलंका आएगें। यह हमारे के लिए सम्मान की बात है भारत और श्रीलका के बीच 2600 साल पुराने संबध है। मोदी की यात्रा हमारे लिए महत्वपुर्ण है। हम पड़ोसी और मित्र दोनो है। श्रीलंका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेसब्री से इंतजार कर रहा है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com