बेटे की मौत के बाद माता-पिता मांग रहे हैं भीख, बेटे का शव देने के बदले अस्पताल स्टाफ ने मांगे पचास हजार रुपए।

परिवार के पास इतने पैसे नहीं थे। वे पैसो के जुगाड़ के लिए अपने गांव लौट आए। इसके बाद गांव में आंचल फैलाकर भीख मांगते दिखे। लोगों के घरों में जाकर अपनी मजबूरी बताकर मदद की गुहार लगाई। इस दौरान किसी ने वीडियो बना लिया। जो वायरल हो गया।
बेटे की मौत के बाद माता-पिता मांग रहे हैं भीख, बेटे का शव देने के बदले अस्पताल स्टाफ ने मांगे पचास हजार रुपए।

बिहार के समस्तीपुर में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। मंगलवार को यहां के सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद गरीब माता-पिता से बेटे का शव देने के लिए 50 हजार रुपये की मांग की गई।

माता-पिता आंचल फैलाकर मांगते दिखे भीख
परिवार के पास इतने पैसे नहीं थे। वे पैसो के जुगाड़ के लिए अपने गांव लौट आए। इसके बाद गांव में आंचल फैलाकर भीख मांगते दिखे। लोगों के घरों में जाकर अपनी मजबूरी बताकर मदद की गुहार लगाई। इस दौरान किसी ने वीडियो बना लिया। जो वायरल हो गया।

अस्पताल स्टाफ ने कहा- पचास हजार लाओ

दरअसल, इस राशि की मांग अस्पताल स्टाफ ने की थी। मामला जब अस्पताल प्रबंधन तक पहुंचा तो आनन-फानन में शव पुलिस को सौंप दिया गया। इसके बाद बुधवार को अंतिम संस्कार किया गया। उधर, ग्रामीणों का कहना है कि परिवार इतना गरीब है कि वह बेटे का अंतिम संस्कार भी नहीं कर सकता, इसलिए मोहल्ले के कुछ लोगों ने मदद की। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने इस मामले में सीएमएचओ से 24 घंटे में पूरी रिपोर्ट मांगी है।

25 मई से लापता था बेटा
ताजपुर थाने के आहर गांव निवासी महेश ठाकुर का 25 वर्षीय पुत्र संजीव ठाकुर 25 मई से लापता था। परिवार ने काफी खोजबीन की। 7 जून को उन्हें सूचना मिली कि पुलिस ने मुसरीघरारी थाना क्षेत्र में एक अज्ञात युवक का शव बरामद किया है। इसके बाद वह मुसरीघरारी थाने पहुंचे। थाने से जानकारी मिली कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजन सदर अस्पताल पहुंचे।

रुपये न देने पर शव देने से किया इंकार

पोस्टमॉर्टम करने वाले ने पहले तो शव दिखाने से इनकार कर दिया। बाद में, मिन्नत करने के बाद, उसने शव दिखाया, जिसकी पहचान माता-पिता ने अपने बेटे संजीव ठाकुर के रूप में की। पिता ने शव की मांग की तो कर्मचारी ने 50 हजार रुपये मांगे। रुपये न देने पर शव देने से इंकार कर दिया।

जांच के बाद सख्त कार्रवाई

इस मामले पर सिविल सर्जन डॉ. एसके चौधरी का कहना है कि उन्हें मीडिया के माध्यम से जानकारी मिली है। यह मानवता के लिए शर्म की बात है। इस पर जांच के बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी। वीडियो सामने आने पर अस्पताल प्रशासन ने आनन-फानन में शव पुलिस को सौंप दिया। इसके बाद परिवार ने अंतिम संस्कार किया।

बेटे की मौत के बाद माता-पिता मांग रहे हैं भीख, बेटे का शव देने के बदले अस्पताल स्टाफ ने मांगे पचास हजार रुपए।
दर्द से तड़पती बंदरिया खुद पहुंची अस्पताल, इलाज करता स्टाफ हुआ भावुक, VIDEO VIRAL

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com