पटना में अतिक्रमण हटाने के दौरान पुलिस पर हमला, SP सहित कई घायल

पटना में अतिक्रमण हटाने के लिए गई पुलिस पर लोगों ने हमला कर दिया है। इस हमले में कई पुलिसकर्मी बुरी तरह जख्मी हुए हैं। फिलहाल इलाके में 2000 से अधिक पुलिस बल तैनात किया गया है।
पटना में अतिक्रमण हटाने के दौरान पुलिस पर हमला, SP सहित कई घायल

पटना में अतिक्रमण हटाने के लिए गई पुलिस पर लोगों ने हमला कर दिया है। इस हमले में कई पुलिसकर्मी बुरी तरह जख्मी हुए हैं। हमले में सिटी एसपी अमरीश राहुल भी घायल हो गए।बताया जा रहा है कि पुलिस राजीव नगर से अतिक्रमण हटाने पहुंची थी। इसके लिए 17 जेसीबी लगाए गए हैं। फिलहाल इलाके में 2000 से अधिक पुलिस बल तैनात किया गया है।

नहीं थमी बुलडोजर कार्रवाई

स्थानीय लोगों के विरोध के बाद भी पुलिस की कार्रवाई थम नहीं रही है। पुलिस मकान तोड़ रही है। लोग अपने घरों की छत से दूसरे घरों को गिरते हुए देख रहे हैं। पटना के डीएम भी मौके पर पहुंच गए हैं।

राजीव नगर थाना क्षेत्र के नेपाली नगर में 70 घरों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसको लेकर स्थानीय लोगों में खासा आक्रोश है। पुलिस का कहना है कि जब हम अतिक्रमण हटाने आए तो स्थानीय लोगों ने हम पर हमला कर दिया।

लोगों के अपने घरों की छत से हम पर पत्थर फेंके। इस दौरान हमारे कई पुलिस कर्मी घायल हो गए। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। नेपाली नगर में फिलहाल तनावपूर्ण स्थिति है। भारी संख्या में पुलिस तैनात की गई है।

पटना में अतिक्रमण हटाने के दौरान पुलिस पर हमला, SP सहित कई घायल
अमरावती हत्याकांड: मुख्य आरोपी सहित 6 गिरफ्तार, NGO चलाता था आरोपी, पाकिस्तान से हो रही थी फंडिंग

फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है- DM

पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि कार्रवाई जारी रहेगी। हम किसी भी कीमत पर जमीन को अपने कब्जे में लेंगे। डीएम ने बताया कि हमले में दो जवान और सीटी एसपी घायल हुए हैं। 12 बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है।

बाकी बदमाशों की पहचान वीडियो और सीसीटीवी फुटेज से की जा रही है। डीएम ने कहा कि फिलहाल स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। काम अच्छा चल रहा है। डीएम ने कहा कि लोगों को इसकी सूचना पहले ही दी जा चुकी थी, लेकिन इन लोगों ने नहीं सुनी।

हाउसिंग बोर्ड की जमीन पर बने 70 मकान अवैध - प्रशासन

राजीव नगर थाने के नेपाली नगर इलाके में पुलिस अवैध रूप से बने 70 घरों को गिराने पहुंची. पुलिस का कहना है कि ये सभी 70 घर हाउसिंग बोर्ड की जमीन पर बने हैं। जो अवैध है। हमने सभी संबंधितों को पहले ही नोटिस भेज दिया था। मकान खाली करने का आदेश दिया।

अगर आप निगम को हर महीने टैक्स देते हैं, तो घर कैसे अवैध है - स्थानीय लोग

वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि हम हर महीने नगर निगम को टैक्स देते हैं। तो हमारा घर अवैध कैसे हो गया? बिजली, पानी के कनेक्शन से लेकर हम सभी सरकारी सुविधाएं लेते हैं, फिर हमारा घर अवैध कैसे हो गया। लेकिन प्रशासन हमसे बात नहीं कर रहा है और हमारे घर को अवैध बताकर ध्वस्त कर रहा है। हमने अपने घर में जीवन की पूंजी लगा दी थी। ऐसे में प्रशासन के इस कदम ने हमें सड़क पर ला खड़ा किया है।

पटना में अतिक्रमण हटाने के दौरान पुलिस पर हमला, SP सहित कई घायल
Maharashtra: क्या BJP नेता राहुल नार्वेकर के स्पीकर बनने से शिंदे गुट फायदा होगा? जानें कौन है राहुल
Since independence
hindi.sinceindependence.com