दिल्ली यूनिवर्सिटी का नया सत्र हुआ आज से शुरू , ऑनलाइन हो रहा है ओरियंटेशन

दिल्ली विश्वविद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2021-22 का शैक्षणिक सत्र आज से शुरू हो गया है. छात्र पहले दिन कॉलेज जाने के लिए बेताब हैं। लेकिन कोविड-19 संक्रमण ने छात्रों की इस जिज्ञासा को तोड़ दिया है। छात्रों का ओरिएंटेशन ऑनलाइन ही कराया जा रहा है और पढ़ाई भी अब ऑनलाइन होगी।
दिल्ली यूनिवर्सिटी का नया सत्र हुआ आज से शुरू , ऑनलाइन हो रहा है ओरियंटेशन

दिल्ली विश्वविद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2021-22 का शैक्षणिक सत्र आज से शुरू हो गया है. छात्र पहले दिन कॉलेज जाने के लिए बेताब हैं। लेकिन कोविड-19 संक्रमण ने छात्रों की इस जिज्ञासा को तोड़ दिया है। छात्रों का ओरिएंटेशन ऑनलाइन ही कराया जा रहा है और पढ़ाई भी अब ऑनलाइन होगी। इसके अलावा कई कॉलेजों द्वारा वर्चुअल टूर की व्यवस्था की गई है।

कोरोना की वजह से नहीं कर पाएंगे ऑफलाइन क्लास

दरअसल छात्र कॉलेज के पहले दिन का इंतजार करते हैं। लेकिन पिछले साल की तरह इस साल भी कोविड-19 के संक्रमण के चलते आप कॉलेज जाकर पहले दिन की मस्ती और पढ़ाई नहीं कर पाएंगे। कोविड-19 संक्रमण के चलते ऑनलाइन ओरिएंटेशन कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। कॉलेजों की ओर से छात्रों को ओरिएंटेशन प्रोग्राम का लिंक दिया गया है।

कॉलेज के प्राचार्य ने दी जानकारी

रामानुजन कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एसपी अग्रवाल ने कहा कि ओरिएंटेशन कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छात्रों को कॉलेज का वर्चुअल टूर भी कराया जाएगा। जिसमें उन्हें कॉलेज की लाइब्रेरी, लैब, कॉलेज का इतिहास, सोसायटी और कॉलेज में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी दी जाएगी। वहीं, दयाल सिंह कॉलेज में छात्रों को ओरिएंटेशन के लिए लिंक साझा किया गया है। इसके अलावा राजधानी कॉलेज में मिश्रित तरीके से ओरिएंटेशन कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, साथ ही वर्चुअल टूर का भी आयोजन किया जाएगा।

वहीं दिल्ली यूनिवर्सिटी में छात्रों की क्लास ऑनलाइन आयोजित की जा रही है. इस दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन ने रैगिंग को लेकर सख्त निर्देश जारी किए हैं। रैगिंग को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने केंद्रीकृत हेल्पलाइन नंबरों के साथ उत्तर और दक्षिण परिसरों के लिए अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। इसके अलावा कैंपस और कॉलेज के बाहर पुलिस की गश्त और सादी वर्दी में पुलिस की मौजूदगी रहेगी।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com