Arvind Kejriwal Case: अरविंद केजरीवाल को कोर्ट से झटका, 1 अप्रैल तक बढ़ी ईडी की रिमांड

Arvind Kejriwal ED Case: दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को झटका लगा है। उनकी ईडी की रिमांड चार दिन अर्थात 1 अप्रैल तक बढ़ गई है।
Arvind Kejriwal Case: अरविंद केजरीवाल को कोर्ट से झटका, 1 अप्रैल तक बढ़ी ईडी की रिमांड

Arvind Kejriwal ED Case: दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ईडी की रिमांड चार दिन के लिए बढ़ा दी है। अब 1 अप्रैल सुबह 11.30 बजे अरविंद केजरीवाल को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

इससे पहले अरविंद केजरीवाल की कस्टडी पर कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये केस दो साल पहले से चल रहा है। अगस्त 2022 को सीबीआई का केस फाइल हुआ था। फिर ईसीआईआर फाइल हुई थी। मुझे गिरफ्तार किया है। ना मुझे किसी कोर्ट ने दोषी करार दिया है ना ही आरोप तय हुए हैं।

अरविंद केजरीवाल ने गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

CM केजरीवाल ने कोर्ट में कहा कि मेरे खिलाफ 4 बयान हैं। जिन बयानों के आधार पर चांदनी चौक का एक जेब कतरा ना पकड़ा जाए, उस बयान पर एक सीटिंग मुख्यमंत्री को गिरफ्तार कर लिया गया है।

तीन बयान दिए गए और उनमें से जो बयान कोर्ट के सामने लाया गया, जिसमें मुझे फंसाया गया। मुंगटा के बयान का हवाला देते हुए केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने 7 बयान दिए. 6 में मेरा नाम नहीं था। जैसे ही उन्होंने 7वें बयान में मेरा नाम लिया, उन्हें छोड़ दिया गया।

केजरीवाल सिर्फ सनसनी फैला रहे

कोर्ट में ASG राजू ने अरविंद केजरीवाल की इन बातों का विरोध किया और कहा कि पेशी के वक्त इन बातों का क्या औचित्य है। वहीं, अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम ED की रिमांड का विरोध नहीं कर रहे हैं। चाहे जितने दिन रख लो, पर ये घोटाला है। फिर ASG राजू ने कहा कि केजरीवाल सनसनी फैला रहे हैं। उन्हें कैसा पता है कि ED के पास कितने दस्तावेज हैं।

गोवा चुनाव में हुआ रिश्वत के पैसे का इस्तेमाल

ASG राजू ने कहा कि जिन लोगों के बयान का हवाला केजरीवाल दे रहे हैं, उन लोगों ने यह बात साफ की है कि आखिर पहले दिए गए बयानों में उन्होंने केजरीवाल का नाम क्यों नहीं लिया था। आम आदमी पार्टी को जो रिश्वत मिली है, उसका इस्तेमाल गोवा के चुनाव प्रचार में किया गया। हमारे पास इस बात को लेकर पुख्ता सबूत है कि किस तरीके से हवाला के जरिए पैसा आम आदमी पार्टी को मिला और जिसका इस्तेमाल आखिरकार गोवा के चुनाव प्रचार में किया गया।

केजरीवाल ने 100 करोड़ की रिश्वत मांगी : ED

ASG राजू ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने अपने बयान में बीजेपी को जो चंदे का पैसा दिए जाने की बात कही है उसका आबकारी घोटाले से कोई वास्ता नहीं है। ये चंदा कोई रिश्वत लेन-देन का मामला नहीं है। केजरीवाल कानून से ऊपर नहीं हैं। कानून की नजर में वो भी एक आम इंसान के बराबर ही हैं। हमारे पास इस बात को साबित करने के लिए पुख्ता सबूत हैं कि खुद अरविंद केजरीवाल ने 100 करोड़ की रिश्वत की मांग की थी।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com