USA, UK और Singapore जैसे देशों की कतार में भारत, 2008 में पॉलिसी पैरालिसिस का था माहौल: PM मोदी

PM मोदी ने गुजरात के गांधीनगर में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण के मुख्यालय भवन का शिलान्यास किया। यह देश का पहला अंतरराष्ट्रीय बुलियन एक्सचेंज होगा। प्रधान मंत्री मोदी ने गिफ्ट सिटी में IIBX और NSE IFSC-SGX कनेक्ट को लॉन्च किया
pm modi
pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को गांधीनगर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण के मुख्यालय भवन का शिलान्यास किया। यह देश का पहला अंतरराष्ट्रीय बुलियन एक्सचेंज होगा। प्रधान मंत्री मोदी ने गिफ्ट सिटी (गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी) में इंडिया इंटरनेशनल बुलियन एक्सचेंज (IIBX) और NSE IFSC-SGX कनेक्ट को भी लॉन्च किया। ये मंच सिंगापुर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्यों को एनएसई आईएफएससी में निफ्टी डेरिवेटिव के साथ व्यापार करने में मदद करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा
भारत अब USA, UK और सिंगापुर जैसे दुनिया के उन देशों की कतार में खड़ा हो रहा है जहां से ग्लोबल फाइनेंस को दिशा दी जाती है। मैं इस अवसर पर आप सभी और देशवासियों को अनेक-अनेक बधाई देता हूं। उन्होंने कहा, आज भारत के बढ़ते आर्थिक सामर्थ्य, बढ़ते तकनीकी सामर्थ्य, और भारत पर विश्व के बढ़ते भरोसे के लिए, ये दिवस बहुत महत्वपूर्ण है, एक अहम दिन है। ऐसे समय में जब भारत अपनी आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, तब आधुनिक होते भारत के नए संस्थान और नई व्यवस्थाएं भारत का गौरव बढ़ा रही हैं।

USA, UK और Singapore जैसे देशों की कतार में भारत- PM मोदी

कार्यक्रम के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि आज गिफ्ट सिटी में, International Financial Services Centres Authority - IFSCA Headquarters Building, का शिलान्यास किया गया है। मुझे विश्वास है, ये भवन अपने आर्किटैक्चर में जितना भव्य होगा, उतना ही भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने के असीमित अवसर भी खड़े करेगा। उन्होंने कहा कि भारत अब USA, UK और Singapore जैसे दुनिया के उन देशों की कतार में खड़ा हो रहा है जहां से ग्लोबल फाइनेंस को दिशा दी जाती है।

GIFT City में जुड़ा भारत के भविष्य का विजन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान कहा कि जब मैंने गिफ्ट सिटी की परिकल्पना की थी, तो वो केवल व्यापार, कारोबार या आर्थिक गतिविधियों तक सीमित नहीं था। उन्होंने कहा, 'GIFT City की परिकल्पना में देश के सामान्य मानवी की आकांक्षाएं जुड़ी हैं। GIFT City में भारत के भविष्य का विजन जुड़ा है, भारत के स्वर्णिम अतीत के सपने भी जुड़े हैं।' पीएम ने कहा है कि GIFT सिटी वाणिज्य और तकनीक के हब के रूप में अपनी पहचान बना रहा है। पीएम के अनुसार गिफ्ट सिटी संपन्नता और बुद्धिमत्ता दोनों को मंच प्रदान करता है।

विश्व स्तर पर सर्विस सेक्टर में मजबूत दावेदारी के साथ आगे बढ़ रहा भारत

मुझे ये देखकर भी अच्छा लगता है कि गिफ्ट सिटी के जरिए भारत, विश्व स्तर पर सर्विस सेक्टर में मजबूत दावेदारी के साथ आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा, '2008 में वैश्विक आर्थिक मंदी का दौर था। भारत में भी दुर्भाग्य से उस समय पॉलिसी पैरालिसिस का माहौल था। उस समय गुजरात फिनटेक के संदर्भ में नए और बड़े कदम उठा रहा था। मुझे खुशी है कि वो आइडिया आज इतना आगे बढ़ गया है।

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें ये याद रखना होगा कि एक वाइब्रेंट फिनटेक सेक्टर का मतलब केवल उचित कारोबारी माहौल, सुधार और कानूनों तक ही सीमित नहीं होता बल्कि ये अलग अलग क्षेत्रों में काम कर रहे पेशेवरो को एक बेहतर जीवन और नए अवसर देने का माध्यम भी है। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि गिफ्ट सिटी की एक और खास बात ये है कि यह ट्राइसिटी अप्प्रोच का प्रमुख स्तम्भ है। अहमदाबाद, गांधीनगर और गिफ्ट सिटी तीनों एक दूसरे से सिर्फ 30 मिनट की दूरी पर हैं और तीनों की ही अपनी एक विशेष पहचान है।

भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक- PM मोदी
बुलियन एक्सचेंज के उद्घाटन के मौके पर पीएम ने कहा कि आज भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इसलिए भविष्य में जब हमारी इकोनॉमी आज से भी कहीं ज्यादा बड़ी होगी, हमें उसके लिए अभी से तैयार होना होगा। पीएम ने कहा इसके लिए हमें ऐसे संस्थान चाहिए, जो वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं के बीच हमारे आज के और भविष्य की भूमिका को परिभाषित कर सके। आज भारत में वर्तमान समय में रिकॉर्ड एफडीआई आ रहा है। ये इन्वेस्टमेंट देश में नए अवसर पैदा कर रहा है। युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा कर रहा है ये हमारे उद्योगों को नई ऊर्जा दे रहा है और हमारी उत्पादकता को बढ़ा रहा है।

पीएम ने कहा हम स्थानीय महत्वकांक्षाओं को भी महत्व देते हैं और वैश्विक साझेदारी का महत्व भी समझते हैं। हम एक ओर, ग्लोबल कैपिटल को वेलफेयर के लिए ला रहे हैं, दूसरी ओर लोकल उत्पादों को ग्लोबल वेलफेयल के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। आज 21वीं सदी में वित्त और तकनीक एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। कार्यक्रम के दौरान बोलते हुए पीएम ने यह कहा है कि आज रीयल टाइम डिजिटल भुगतान के मामले में पूरी दुनिया में 40% हिस्सेदारी अकेले भारत की है। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है कि हमने शून्य कार्बन उत्सर्जन का भी लक्ष्य तय किया है।

समय की मांग सरकारी संस्थाएं और प्राइवेट प्लेयर्स, मिलकर कदम आगे बढ़ाएं
GIFT CITY में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर हम गतिशक्ति मास्टर प्लान को आगे बढा रहे हैं। रिन्यूएबल एनर्जी और ई-मोबिलिटी के क्षेत्र में नए रिकार्ड्स बना रहे हैं। वहीं, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत International Solar Alliance को दिशा देने का भी काम कर रहा है। ये ऐसा क्षेत्र है, जिसमें हमारा समर्पण असीम संभावनाओं को खोलेगा। पिछले आठ सालों में देश ने वित्तीय समावेशन की एक नई लहर देखी है। देश का गरीब से गरीब व्यक्ति भी आज औपचारिक वित्तीय संस्थानों से जुड़ रहा है। पीएम ने कहा कि आज जब हमारी एक बड़ी आबादी अर्थव्यवस्था से जुड़ गई है तो ये समय की मांग है कि सरकारी संस्थाएं और प्राइवेट प्लेयर्स, मिलकर कदम आगे बढ़ाएं।

इस दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह, केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी और भागवत किशनराव कराड भी उपस्थित थे।

यह एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक अवसर है जब तीन प्रमुख मील के पत्थर एक साथ लॉन्च किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने इस केंद्र (गिफ्ट सिटी) की शुरूआत की है और अभी इसकी प्रमुख पहलों का शुभारंभ करेंगे और आने वाले भविष्य में और महत्वपुर्ण पहल करेंगे।
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
यह गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (GIFT सिटी) आने वाले समय में हमारे राज्य को ट्रेड, व्यापार, और फाइनेंशियल सेवा का ग्लोबल सेंटर बनाएगी। समृद्ध बंदरगाहों के कारण प्राचीन समय से ही हमारा राज्य गेटवे ऑफ इंडिया कहलाता रहा है। गुजरात देश की अर्थव्यवस्था में आठ प्रतिशत से अधिक का योगदान देता है। गुजरात डायमंड, मैन्युफैक्चरिंग और सिरेमिक हब बन गया है। अब हम इसे वित्तीय सेवा केंद्र बनाने की ओर बढ़ रहे हैं।
गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल
pm modi
MP News: 51 में से 40 जिला पंचायतों पर BJP का कब्जा, कांग्रेस 10 जिलों में सिमटी

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com