कहीं सख्त कोरोना गाइडलाइन ही न बन जाए सुपर स्प्रेडर की वजह

कहीं सख्त कोरोना गाइडलाइन ही न बन जाए सुपर स्प्रेडर की वजह

जयपुर में बेवजह घर से बाहर घूमते लोगों की धरपकड़ शुरू हुई। लेकिन इस दौरान लोगों को वाहनों में ठूंस कर भर दिया गया

राजस्थान में कोरोना के बढ़ते ममालो को लेकर सोमवार यानि 3 मई से कोरोना गाइडलाइन को और सख्त तो कर दिया, लेकिन इस गाइडलाइन की पालना में ही लापरवाही देखने को मिली। मंगलवार को जयपुर में बेवजह घर से बाहर घूमते लोगों की धरपकड़ शुरू हुई। लेकिन इस दौरान लोगों को वाहनों में ठूंस ठूंस कर भर दिया गया। आप ये पूरा वाकया तस्वीरों के माध्यम से देख सकते हैं। गौरतलब है कि राजस्थान में कोरोना लॉकडाउन की नई गाइडलाइन लागू होने के साथ पुलिस ने भी सख्ती कर दी है। पुलिस ने साफ किया है कि दो दिन तक समझाइश की गई, अब बिना वजह सड़क पर घूमते हुए पाए गए तो सीधे क्वारेंटाइन सेंटर भेजना पड़ेगा। पुलिस की ओर से कार्रवाई करना जायज है, लेकिन मंगलवार को धरपकड़ के दौरान इसमें दो गज की दूरी वाली गाइडलाइन की पालना कहीं नजर नहीं आई।

माना की देश की सरकार और कई राज्यों की सरकारें इस दौरान बढ़तें मामलों के कारण दिनों दिन सख्ती बरत रही है‚ लेकिन आप जरा खुद सोचिए…. ये सख्ती किस चीज के लिए हो रही है… ताकि लोग कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन  करें और कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके‚ लेकिन पुलिस प्रशासन इस तरह लोगों को पकड़ेगा तो क्या कोरोना कम होगा? नहीं… बल्कि इससे ये कार्रवाई सुपर स्प्रेडर की तरह काम करेगा। होना ये चाहिए कि  जिन्हें बेपरवाह घुमते लोगों को हिरासत में लेने के दौरान भी पुलिस प्रशासन कोरोना प्रोटोकॉल फॉलो करना चाहिए था।

पुलिस को जहां भी बेपरवाह लोग घूमते दिखे उन्हें तुरंत वाहन में पकड़ कर बिठा दिया। जबकि इस दौरान प्रशासन को कार्रवाई के दौरान सोश्यल डिस्टेंसिंग का भी खास ध्यान रखना चाहिए था।

 तस्वीरों में देखें कैसे युवाओं को पुलिस ने वाहनों में बिठाया

फोटो/ रणवीर सिंह

कोरोना को लेकर क्या है गाइड़लाइन
राजस्थान में 3 मई से 17 मई तक के लिए बढ़ाए गए दूसरे मिनी लॉकडाउन की गाइडलाइन का मुख्यमंत्री ने कड़ाई से ग्राउंड पर पालन करवाने के आदेश दिए हैं। पाबंदी को 'रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े' का नाम दिया गया है।

– शादियों में 50 की जगह केवल 31 लोगों को ही अनुमति दी जाएगी। बैंड वालों की संख्या से अलग रखा है।

– शादी के लिए SDM को सूचना देने के साथ आने वाले मेहमानों की लिस्ट पहले देनी होगी। इस लिस्ट में शामिल लोगों के अलावा और कोई शादी में नहीं जा सकेगा।

– शनिवार और रविवार को वीकेंड कर्फ्यू जारी रहेगा। – राजधानी जयपुर में कलेक्टर ने सभी खेल मैदान और पार्क बंद करने का आदेश जारी किया है।

– प्रदेश के बाकी जिलों में खेल मैदान व पार्क खोलने की अनुमति है। – वीकेंड पर दूध, मेडिकल और फल सब्जी को छोड़ सब बंद – 17 मई तक आवश्यक सेवाओं को छोड़ सभी सरकारी दफ्तर, बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

– सरकार को रेवेन्यू देने वाले विभाग खुले रहेंगे।

– शराब की दुकानें सोमवार से शुक्रवार को सुबह 6 से 11 बजे तक खुली रहेंगी। फैक्ट्रीज में उत्पादन जारी रहेगा।

– खाद्य पदार्थों से जुड़ी दुकानें, किराना और आटा चक्की सोमवार से शुक्रवार पहले की तरह सुबह 6 से 11 बजे तक खोलने की अनुमति होगी।

– फल सब्जी के ठेलों को सुबह 6 से शाम 5 बजे तक अनुमति रहेगी। मंडियां, फल सब्जी की दुकानें सुबह 6 से 11 बजे तक सातों दिन खुलेंगी।

– डेयरी और दूध की दुकानें सुबह 6 से 11 और शाम 5 से 7 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। – आम जरूरत की दुकानों के खुलने का समय सुबह 6 से 11 रहेगा। सभी प्रकार के खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, आटा चक्की, पशुओं के चारे से संबंधित थोक और खुदरा दुकानें सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 6 से 11 बजे तक ही खुल सकेंगी।

– किसानों की जरूरत की चीजों, खाद बीज की दुकानें, कृषि उपकरणों की दुकानें सोमवार से गुरुवार सुबह 6 से 11 बजे खुल सकेंगी।

– ऑप्टिकल संबंधी दुकानें मंगलवार और शुक्रवार को सुबह 6 से 11 बजे ही खुलेंगी। – मंडियां, फल, सब्जियां, फूल-मालाओं की दुकानें हर दिन सुबह 6 से 11 बजे तक खुल सकेंगी। फल सब्जी के ठेले, साइकिल, रिक्शा, ऑटो रिक्शा और मोबाइल वैन को सुबह 6 से शाम 5 बजे तक अनुमति दी है।

– डेयरी और दूध की दुकानों को सुबह 6 से 11 और शाम 5 से शाम 7 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। सरकारी राशन की दुकानें बिना किसी अवकाश के खुली रहेंगी। मेडिकल स्टोर, मेडिकल उपकरणों की दुकानें खुली रहेंगी

Like and Follow us on :

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com