जयपुर राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की बड़ी कार्रवाई, 250 करोड़ कीमत की जमीन को करवाई खाली

हाउसिंग बोर्ड की अवाप्ति को चैलेंज करते हुए राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका लगा दी।
जयपुर राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की बड़ी कार्रवाई, 250 करोड़ कीमत की जमीन को करवाई खाली

राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की कार्रवाई जयपुर के प्रताप नगर में देखने को मिली है। वही सालो से हो रहे इस कब्जे पर हाउसिंग बोर्ड की करवाई देखने को मिली है यह कार्रवाई पवन अरोड़ा के द्वारा की गई है हाई कोर्ट के निर्णय के बाद इस कार्रवाई को त्वरित रूप से अंजाम दिया गया है।

हाउसिंग बोर्ड कमीश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि प्रताप नगर हल्दीघाटी मार्ग स्थित यह 9 बीघा 5 बिस्वा जमीन साल 1994 में अवाप्त की थी। जमीन अवाप्ति के बाद मुआवजा राशि कोर्ट में जमा करवा दी थी। उसके बाद भी खातेदार ने मौके से कब्जा नहीं छोड़ा। नवंबर 2009 में खातेदार ने जमीन पर मैरिज गार्डन बना लिया। हाउसिंग बोर्ड की अवाप्ति को चैलेंज करते हुए राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका लगा दी। इस याचिका पर सुनवाई के बाद पिछले दिनों कोर्ट ने अवाप्ति को सही मानते हुए खातेदारों की याचिका को खारिज कर दिया।

मैरिज गार्डन बना रखा था

हाईकोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद आज जमीन का मौके पर कब्जा लिया गया। इस मौके पर हाउसिंग बोर्ड के चीफ इंजीनियर के.सी. मीणा, राजस्थान आवासन बोर्ड कर्मचारी संघ के अध्यक्ष दशरथ सिंह, संयुक्त महामसचिव गोविंद नाटाणी समेत अन्य अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे।

बोर्ड ने आज इस जमीन का कब्जा लेते हुए मौके पर बने मैरिज गार्डन को तोड़ने की कार्यवाही की गई। इस दौरान वहां बने 7-8 कमरे बना रखे थे, जिन्हे जेसीबी से तोड़ा गया। हाउसिंग बोर्ड इस जमीन की अवाप्ति के बदले प्रभावितों को अब नकद राशि के बजाए विकसित जमीन का मुआवजा देने की तैयारी कर रहा है। बोर्ड कमीश्नर अरोड़ा ने बताया कि इन लोगों को उस समय जितना अवाप्त के समय मुआवजा मिला करता था उतना ही जमीन मुआवजे के रूप में दी जाएगी।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com