Narbali in Kerala: सनसनीखेज खुलासा; बॉडी के किए 56 टुकड़े, कुछ को पकाकर खाया, 2 महिलाओं से रूह कंपाने वाली बर्बरता

केरल के पथानामथिट्टा में दो महिलाओं की बलि देने के मामले में पुलिस ने कपल समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। महिलाओं की बलि इसलिए दी गई, ताकि घर में धन और संपत्ति आ जाए। पहले महिलाओं की गला रेतकर हत्या की गई, इसके बाद उनके शरीर को टुकड़ों में काटा गया फिर शवों के साथ बर्बरता की गई।
Narbali in Kerala: सनसनीखेज खुलासा; बॉडी के किए 56 टुकड़े, कुछ को पकाकर खाया, 2 महिलाओं से रूह कंपाने वाली बर्बरता

लॉटरी का टिकट बेचने वाली दो महिलाओं का पहले अपहरण, फिर कत्ल और उसके बाद शवों के साथ दरिंदगी।।।वो भी सिर्फ इसलिए ताकि पापों से मुक्ति मिले और घर में पैसा ही पैसा आए। ये कहानी वैसे तो किसी क्राइम थ्रिलर की लगती है लेकिन ये वाकया फिल्मी नहीं बल्कि हकीकत है। ये हुआ केरल के पथानामथिट्टा में। पुलिस जांच के बाद इसके तीन गुनहगार गिरफ्त में हैं। उनसे हुई पूछताछ में जो सच सामने आया है वो रोंगटे खड़े करने वाला है। यही वजह है कि अपराध की इस घटना ने न सिर्फ केरल बल्कि पूरे देश को हिलाकर रख दिया है।

पुलिस ने बुधवार को इस मामले में कई सनसनीखेज खुलासे किए। पुलिस ने बताया कि एक शव के कुल 56 टुकड़े किए गए थे। कोच्चि के कमिशनर सीएच नागराजू ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मुख्य आरोपी शफी का आपराधिक अतीत रहा है और उसने दंपति भगवल सिंह और उसकी पत्नी लैला को फंसाया, जिन्होंने पैसों के लिए ये बलि दी। शफी को मनोरोगी बताते हुए कमिश्नर ने कहा कि इस बात की जांच की जाएगी कि उसने दंपत्ति को कैसे मना लिया। दूसरी ओर पुलिस ने आगे बताया कि दंपति का कोई आपराधिक अतीत नहीं है।

क्या है पूरा मामला?

केरल में अलग-अलग जगहों से दो महिलाएं लापता हुईं। एक का नाम था रोसेलिन तो दूसरी का पद्मा। रोसेलिन जून से लापता हुई थी जबकि पद्मा सितंबर के महीने में। दोनों के परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई। गुमशुदगी के ये केस अलग-अलग थे। उनके दर्ज होने की तारीख में भी काफी अंतर था। लेकिन पुलिस ने जब जांच की तो शक की सुई एक ही दंपति पर गई। सख्ती से पूछताछ हुई तो पता चला कि ये सिर्फ अपहरण का नहीं बल्कि नरबलि, तंत्र-मंत्र, हत्या और दरिंदगी का भी है। अब न सिर्फ वो दंपति पुलिस की गिरफ्त में है बल्कि जिस तांत्रिक की सलाह पर ये खूनी खेल रचा गया वो भी सलाखों के पीछे पहुंच गया है।

तांत्रिक से फेसबुक पर हुआ था संपर्क

पुलिस के मुताबिक, आरोपी भगवल सिंह और उसकी पत्नी लैला आर्थिक समस्याओं से जूझ रहे थे। इसी दौरान फेसबुक पर उनकी बात श्रीदेवी नाम की महिला से हुई। श्रीदेवी दरअसल एक तांत्रिक मोहम्मद शफी था जो श्रीदेवी नाम से प्रोफाइल बनाकर भगवल सिंह से संपर्क में आया था। भगवल सिंह ने उसके सामने अपनी आर्थिक हालत का रोना रोया तो उसे ऐसी सलाह मिली जिसने इस जघन्य हत्याकांड की नींव रख दी। शफी ने भगवल से कहा कि अगर वह चाहता है कि तो उसके घर में धन और संपत्ति आए, तो वह जाकर रशीद से मिले। रशीद जो उपाय बताए, उसपर अमल करे फिर देखना कैसा चमत्कार होता है। खास बात ये है कि ये रशीद और कोई नहीं बल्कि खुद मोहम्मद शफी था।

पोर्न फिल्म में काम दिलाने के बहाने महिला को लाया शफी

बलि देने के लिए महिला की जरूरत थी। ऐसे में महिला का इंतजाम का जिम्मा भी मोहम्मद शफी ने संभाला। उसने रोसेलिन से संपर्क किया। मोहम्मद शफी रोसेलिन को एक पोर्न फिल्म में शूटिंग के बहाने पथानामथिट्टा में कपल के घर लेकर आया गया। उसे फिल्म में काम करने के लिए 10 लाख रुपए का ऑफर दिया गया। शफी ने यहां रोसेलिन को एक बेड पर लिटा दिया और उसके हाथ पैर बांध दिए। जब महिला ने पूछा कि वह ऐसा क्यों कर रहा है। तो शफी ने उसे बताया कि ये फिल्म का ही सीन है।

खून इकट्ठा कर उसे दीवारों और फर्श पर छिड़का

इसके बाद आरोपी महिला लैला ने रोसेलिन के प्राइवेट पार्ट पर चाकू से हमला कर दिया। इसके बाद उसका गला रेता गया और उसके शव के टुकड़े किए गए। इन टुकड़ों से निकलते हुए खून को इकट्ठा किया गया। फिर उसे दीवारों और फर्श पर छिड़का गया, ताकि उनके पाप अच्छे से धुल जाएं और जो वो चाहते हैं। उन्हें वो फल मिल जाए। यानी घर पर पैसा ही पैसा हो। आरोपियों की बर्बरता यहीं खत्म नहीं हुई। तांत्रिक शफी के कहने पर रोसेलिन के शव के कुछ टुकड़ों को पकाया गया। इन्हें आरोपियों ने खाया भी। पुलिस पूछताछ में भी लैला ने शव के टुकड़ों को पकाकर खाने की पुष्टि की है। इसके बाद बचे हुए शव को दफना दिया गया।

झांसा देकर फांसा, फिर दरिंदगी

भगवल सिंह और उसकी पत्नी लैला को अब ये उम्मीद थी कि सब कुछ ठीक हो जाएगा। उसके घर पर पैसे ही पैसे होंगे। लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ, तो उन्होंने दोबारा शफी से बात की। शफी ने कहा कि कुछ पाप और बाकी रह गया है, इसलिए एक और बलि देनी होगी। इसके बाद एक और महिला की तलाश की गई। इसका जिम्मा फिर शफी ने संभाला। सभी ने लॉटरी बेचने वाली पद्मा से संपर्क किया। पद्मा शफी को पहले से जानती थी। शफी ने उसे सेक्स वर्क करने के लिए 15000 रुपए का ऑफर दिया। वह तैयार हो गई और शफी के साथ पथानामथिट्टा आ गई।

यहां भगवल सिंह के घर पर पहुंचने के बाद उसने पैसे मांगे। इसे लेकर उसकी शफी के साथ बहस भी हुई। इसके बाद आरोपियों ने उसके गले में रस्सी बांध दी। वह बेहोश हो गई। इसके बाद दोबारा शुरू हुआ दरिंदगी का खेल। आरोपी उसे दूसरे कमरे में ले गए। जहां शफी ने उसके प्राइवेट पार्ट में चाकू डाला। इसके बाद उसका गला रेता। बाद में उसके 56 टुकड़े किए। फिर शव के टुकड़ों को पकाया गया और खाया गया। खून को अब और अच्छे से कमरों की दीवारों और फर्श पर छिड़का गया, ताकि जो पाप अबकी बार रह गए थे, वे भी धुल जाएं। आरोपियों ने इस दौरान काला जादू से जुड़ीं कई किताबें भी पढ़ीं।

Narbali in Kerala: सनसनीखेज खुलासा; बॉडी के किए 56 टुकड़े, कुछ को पकाकर खाया, 2 महिलाओं से रूह कंपाने वाली बर्बरता
SCANDAL: झारखंड गजब है...बुजुर्ग ने ऑपरेशन कराया तो असली आंख निकाल लगा दी कांच की गोली!

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com