मां-बाप बने हैवान: बेटे को 22 कुत्तों के बीच 2 साल तक रखा कैद, बच्चा उन्हीं की तरह काटना सीखा, स्कूल में भी साथियों को काटा

खबरें सुनने में आती हैं कि कुत्तों के आतंक रहवासी परेशान!!! वगैरह वगैरह। ऐसे में कई बार खौफ के मारे लोग अपने बच्चों तक को घर से बाहर नहीं निकलने देते हैं। लेकिन महाराष्ट्र के पुणे में इसके उलट मामला सामने आया है। ये सुनकर आपके भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे कि कोई मां बाप अपने बच्चे के साथ ऐसा कैसे कर सकते हैं।
मां-बाप बने हैवान: बेटे को 22 कुत्तों के बीच 2 साल तक रखा कैद, बच्चा उन्हीं की तरह काटना सीखा, स्कूल में भी साथियों को काटा
इसी बिल्डिंग के एक फ्लैट में बच्चे को 22 कुत्तों के साथ २ साल मां बाप ने कैद रखा।Image Credit | Pune irror
17 वीं शताब्दी के कवि John Donne ने कहा था कि कोई भी आदमी एक द्वीप नहीं है... वैसे भी एक इंसान के बेहतर व्यवहार के लिए समाज की परिकल्पना जरूरी है। हालांकि, 11 साल के बच्चे को 22 कुत्तों की संगति में छोड़ना अलगाव और यातना से भी बद्दतर है।

आए दिन खबरें सुनने को मिलती है कि स्ट्रीट डॉग्स ने फलां बच्चे पर अटैक कर दिया। या ​फलानी जगह कुत्तों के आतंक रहवासी परेशान!!! वगैरह वगैरह। ऐसे में कई बार खौफ के मारे लोग अपने बच्चों तक को घर से बाहर नहीं निकलने देते हैं। लेकिन महाराष्ट्र के पुणे में इसके उलट मामला सामने आया है। ये सुनकर आपके भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे कि कोई मां बाप अपने बच्चे के साथ ऐसा कैसे कर सकते हैं। दरअसल इस मामले में मां-बाप ने क्रूरता की हदें ही पार कर दी। ऐसे में ये घटना डरावनी और चौंकान वाली है। जानकारी के अनुसार एक दंपत्ति ने अपने ही बेटे को 22 कुत्तों के बीच छोटे से फ्लैट में दो साल रहने को मजबूर कर दिया। बच्चा दिन-रात उनके बीच दो साल तक रहा (11-year-old boy starts behaving like an animal ) तो वो कुत्तों की ही हरकतें करने लगा और काटना सीख गया।

बच्चे की हलात से पड़ोसी भी हैरान

चौंकाने वाला ये मामला मामला पुणे के कोंढवा इलाके का है। य​हां कुछ दिन पहले एक कृष्णाई बिल्डिंग के निवासियों ने चाइल्ड लाइन संगठन को इस बात की जानकारी दी। पड़ोंसियों ने बताया कि एक 10 से 11 साल का बच्चा दिनभर अपने फ्लैट की गैलरी में बैठा रहता है...। वहीं उसी फ्लैट से 20 से 25 कुत्तों की भोंकने की आवाजे भी आती रहती हैं...। जबकि मासूम के माता-पिता दिनभर अपने काम से बाहर रहते हैं और उनका बेटा इन कुत्तों के बीच ही रहता है। इसके बाद चाइल्ड लाइन संगठन वहां पहुंचा तो इस हैरान कर देने वाले मामले का खुलासा हुआ।
representative image
पुलिस भी कमरे की हालत देख हुई हैरान!
चाइल्ड लाइन संसथा की अनुराधा सहस्रबुद्धे ने इस बारे में स्थानीय पुलिस को बताया। जिस पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू करते हुए चाइल्ड लाइन की मदद से स्पॉट पर पहुंची। जब पुलिस ने घर को खंगाला तो 11 वर्षीय बच्चा घर में कुत्ते के साथ पाया गया। कमरे में आवारा कुत्तों की चारों तरफ गंदगी थी। इसके बाद पुलिस ने बच्चे को कुत्तों के बीच से निकालकर बाल सुधार गृह में भेजा। वहीं इसके बाद पुलिस ने आरोपी माता-पिता के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

स्ट्रीट डॉग्स और बच्चे को वन बीएचके फ्लैट में कैद किया

मामले को देख रहे वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सरदार पाटिल ने बातचीत में बताया कि आरोपी दंपत्ति का नाम संजय लोधरिया और शीतल लोधरिया है। इन्होंने अपने घर में 20 से 22 कुत्ते भी पाल रखे हैं। ये कुत्ते सड़क से उठा कर पालने के लिए लाए गए थे। ये कुत्ते उन्होंने अपने 1 बीएचके फ्लैट में बंद कर रखे थे वहीं अपने 11 साल के बेटे को भी इनके बीच कैद कर दिया था।
कुत्तों की तरह ही व्यवहार करने लगा था बच्चा, स्कूल में साथी बच्चों को काटने लगा था
पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि लंबे अंतराल तक कुत्तों के साथ रहने के बाद बच्चा भी उन्ही की तरह व्यवहार करने लगा। जब वह दो साल बाद स्कूल गया तो अपने साथ पढ़ने वाले बच्चों को कुत्ते की तरह काटने लगा था। वहीं बच्चा दिनभर गैलरी में बैठकर डॉग की तरह हरकतें करता रहता था। मां बाप ने ऐस कृत्य क्यों किया इसकी पुलिस जांच कर रही है।

Related Stories

No stories found.