कोहली के वन8 कम्यून रेस्तरां में ‘समलैंगिकों की नो एंट्री’: लोग भड़के तो रेस्तरां ने दी सफाई, कहा- सरकारी नियमों के तहत स्टैग एंट्री पर प्रतिबंध

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के वन8 कम्यून रेस्तरां पर LGBTQ+ समुदाय के लोगों को प्रवेश नहीं देने का आरोप लगाया गया है।
Image Credit: DineOut
Image Credit: DineOut

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के वन8 कम्यून रेस्तरां पर LGBTQ+ समुदाय के लोगों को प्रवेश नहीं देने का आरोप लगाया गया है। 'Yes, We Exist' नाम के इंस्टाग्राम अकाउंट से एक पोस्ट में यह दावा किया गया है। इस पोस्ट में कहा गया है की, 'LGBTQ+ मेहमानों को विराट कोहली के रेस्तरां में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है। कोहली पुणे, दिल्ली और कोलकाता में वन8 कम्यून नाम से एक रेस्टोरेंट चलाते हैं। उनकी Zomato लिस्टिंग में कहा गया है कि 'स्टैग के लिए रेस्टोरेंट में कोई एंट्री नहीं है'।

पोस्ट देखकर भड़के लोग

पोस्ट में कहा गया है कि विराट कोहली के रेस्तरां में समलैंगिक पुरुषों का प्रवेश पर पूरी तरह से प्रतिबंध है, जबकि समलैंगिक महिलाओं को पोशाक के आधार पर प्रवेश मिलता है। भारत में ऐसे फैंसी रेस्तरां, बार और क्लबों में LGBTQ के खिलाफ भेदभाव आम है। यही काम विराट कोहली कर रहे हैं। इस पोस्ट के बाद लोगों में काफ़ी गुस्सा है। विराट कोहली के खिलाफ सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। वहीं कुछ लोग इस पोस्ट को फेक भी बता रहे हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Yes, We Exist (@yesweexistindia)

वन8 कम्यून ने आरोपों पर दी सफाई

वन8 कम्यून ने अपने ऊपर लगे इन आरोपों पर सफाई दी है। इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट कर कहा कि 'हम बिना किसी भेदभाव के सभी लोगों का स्वागत और सम्मान करते हैं। जैसा कि हमारे नाम से पता चलता है… सेवा से जुड़े कार्यों में हम हमेशा सबसे आगे रहे हैं। उद्योग के रुझान और सरकारी नियमों के मद्देनजर, हमने स्टैग के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया है। इसका मतलब यह नहीं है कि हम किसी समुदाय के खिलाफ हैं या किसी का अपमान कर रहे हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by one8 Commune (@one8.commune)

'ग्राहक हमारी प्राथमिकता'

दरअसल, इस रेस्टोरेंट में स्टैग के लिए एंट्री नहीं है। यानी यहां लड़का अकेला नहीं जा सकता, उसके साथ एक फीमेल पार्टनर का होना जरूरी है। पोस्ट में आगे कहा गया है कि इन सबके बावजूद अगर अनजाने में कोई गलती हुई है या किसी तरह का गलत संचार हुआ है, तो हम चाहेंगे कि वह व्यक्ति हमसे मिले, ताकि इस विवाद का ठीक से निबटारा किया जा सके। हमारे ग्राहक ही हमारी प्राथमिकता हैं। ग्राहकों के साथ मजबूत और दीर्घकालिक संबंध बनाना हमारे सिस्टम का हिस्सा है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com