राजस्थान-2022‘ समिट की तैयारियां हुई पूरी मुख़्यमंत्री अशोक गहलोत ने ली बैठक

राजस्थान-2022‘ समिट की तैयारियां हुई पूरी मुख़्यमंत्री अशोक गहलोत ने ली बैठक

मुख्यमंत्री ने कहा कि समिट की तैयारियां अच्छी हों एवं इसके सफल आयोजन के लिए विभिन्न देशों में स्थित भारतीय दूतावासों से सम्पर्क किया जाए

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित बैठक में राज्य सरकार द्वारा आगामी जनवरी माह में जयपुर के सीतापुरा स्थित जयपुर एक्जीबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर (जेईसीसी) में आयोजित होने वाली स्टेट इन्वेस्टर समिट 'इन्वेस्ट राजस्थान 2022' की तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में उद्योग विभाग के सचिव आशुतोष एटी पेंडणेकर ने बताया कि समिट में कृषि प्रसंस्करण, ऑटोमोबाइल एवं इलेक्टि्रक व्हीकल, केमिकल एवं पेट्रोकेमिकल, आईटी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, माइन्स एवं मिनरल्स, नवीकरणीय ऊर्जा, टैक्सटाइल, पर्यटन एवं ईएसडीएम को थ्रस्ट सेक्टर के रूप में शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि समिट की पूर्व तैयारियों के तहत देश एवं देश से बाहर के संभावित निवेशकों से संपर्क किया जा रहा है।

विभिन्न देशों में स्थित भारतीय दूतावासों से सम्पर्क किया जाए।

नए निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए चैन्नई, अहमदाबाद, मुंबई एवं दिल्ली में इन्वेस्टर कनेक्ट कार्यक्रम आयोजित किये गए हैं। बैंगलुरू, हैदराबाद एवं कोलकाता में भी इसी माह कार्यक्रम होंगे।

पेंडणेकर ने बताया कि नवंबर माह में दुबई एक्सपो के दौरान दुबई में इन्वेस्टर कनेक्ट कार्यक्रम होगा। इसके अलावा लंदन, पेरिस, दक्षिण कोरिया, टोक्यो, न्यूयॉर्क, बर्लिन एवं सिंगापुर में भी रोड शो आयोजित किए जाएंगे। इन कार्यक्रमों में निवेशकों को राजस्थान में निवेश के लिए आमंत्रित करने के साथ ही राजस्थान को इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन के रूप में प्रस्तुत किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि समिट की तैयारियां अच्छी हों एवं इसके सफल आयोजन के लिए विभिन्न देशों में स्थित भारतीय दूतावासों से सम्पर्क किया जाए।

सरकार की इस पहल का फायदा समिट में मिले।

गहलोत ने कहा कि कोविड की विषम परिस्थितियों से प्रभावित अर्थव्यवस्था को गति देने एवं निवेश तथा रोजगार बढ़ाने के उद्देश्य से इन्वेस्ट राजस्थान समिट का आयोजन महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। उन्होंने निर्देश दिए कि जो निवेश आए वह धरातल पर उतरे, इसमें सभी विभाग पूर्ण सहयोग एवं समन्वय की भावना से कार्य करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दिशा में कई महत्वपूर्ण नीतिगत बदलाव किए हैं। जिससे राजस्थान में इन्वेस्टमेंट करने के लिए सकारात्मक माहौल तैयार हुआ है। सरकार की इस पहल का फायदा समिट में मिले।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com