जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022 का हाइब्रिड अवतार,जाने कैसे ?

बेहतर अनुभव और सुविधाएँ हमारे श्रोताओं के लिए मौजूद रहेंगी, फेस्टिवल का आयोजन होटल क्लार्क्स आमेर, जयपुर में किया जायेगा
जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022  का हाइब्रिड अवतार,जाने कैसे ?

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल एक नए हाइब्रिड अवतार में, अपने घर जयपुर में वापस आ रहा है, जहाँ आप इसका अनुभव ऑन-ग्राउंड व ऑनलाइन, दोनों रूपों में ले सकते हैं| हाइब्रिड वर्जन के कारण बड़ी संख्या में श्रोता इसका आनंद ले सकेंगे । साहित्य, संवाद और सोहार्द्र का इससे बड़ा कोई उत्सव नहीं हुआ है| आज फेस्टिवल की प्रोडूसर, टीमवर्क आर्ट्स ने फेस्टिवल के लैंडमार्क 15वें संस्करण की तारीखों की घोषणा की, इस फेस्टिवल का आयोजन 28 जनवरी से 6 फरवरी 2022 को किया जायेगा ।

2022 एक नई शुरुआत लेकर आएगा, जहाँ हमारे मन में महामारी के बाद की सतर्कता के साथ किताबों से मिलने वाली अटूट ऊर्जा समाई होगी – ये भावना ऑनलाइन व ऑन-ग्राउंड दोनों ही रूपों में होगी| फेस्टिवल सभी प्रमुख भारतीय भाषाओँ सहित अनेकों विदेशी भाषाओँ का भी प्रतिनिधित्व करेगा, और 250 वक्ताओं के साथ ये प्रोग्राम 300 घंटों तक चलेगा ।

ऑन-ग्राउंड फेस्टिवल का आयोजन 28 जनवरी से 1 फरवरी 2022 तक होगा और वर्चुअल सत्र 28 जनवरी से 6 फरवरी 2022 तक चलेगा| एक दशक से भी ज्यादा समय तक, 'धरती का सबसे बड़ा लिटरेरी शो' कहलाए जाने वाला जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल साहित्य प्रेमियों का गढ़ रहा है| पिछले साल के सफल वर्चुअल एडिशन, जहाँ दुनियाभर के 10 मिलियन से ज्यादा श्रोता हमसे जुड़े, के बाद वर्ष 2022 में हम आपके लिए 'सुपर' हाइब्रिड वर्जन पेश करने जा रहे हैं, जहाँ और बेहतर अनुभव और सुविधाएँ हमारे श्रोताओं के लिए मौजूद रहेंगी| फेस्टिवल का आयोजन होटल क्लार्क्स आमेर, जयपुर में किया जायेगा,

जनवरी 2022 में बहुप्रतीक्षित ऑन-ग्राउंड फेस्टिवल की वापसी के साथ ही बेमिसाल वर्चुअल वर्जन का भी आयोजन किया जायेगा|

जहाँ सरकार द्वारा निर्देशित कोविड19 दिशानिर्देशों का पूरी तरह पालन होगा| 10 दिन तक चलने वाले इस पहले हाइब्रिड लिटरेरी फेस्टिवल में विविध विषयों के वक्ताओं के साथ, संगीत, कला, खान-पान की छटा रहेगी| पहली सूची के 15 वक्ताओं में शामिल हैं भारतीय कवयित्री, आलोचक, अनुवादक, पत्रकार और लेखिका अरुंधति सुब्रमनियम, जिनकी हालिया किताब है 'Women who wear only themselves'; दिल्ली में रहने वाले सर्जन, लेखक और सर गंगा राम हॉस्पिटल में वैस्कुलर केथ लैब के डायरेक्टर डॉ. अम्बरीश सात्विक; जाने माने कला आलोचक, कला इतिहासकार बी.एन. गोस्वामी; पुर्तगाली राजनीतिज्ञ,

सलाहकार और लेखक ब्रूनो मार्केज; जीव पुरातत्ववेत्ता और वाइकिंग युग के विशेषज्ञ डॉ. कैट जर्मन; उपन्यास 'द प्रॉमिस' के लिए 2021 का बुकर प्राइज जीतने वाले डेमों गेल्गुट; ऑस्ट्रलियाई लेखक और 2003 में अपने पहले उपन्यास 'Vernon God Little' के लिए बुकर प्राइज जीतने वाले डीबीसी पिएरे; भारतीय मूल के ब्रिटिश लेखक, नाटककार और पटकथाकार फार्रुख डोंडी| लिस्ट में अगला नाम है नेशनल बुक अवार्ड विजेता और 2002 में पुलित्ज़र प्रिजर फिक्शन के लिए नामांकित जोनाथन फ्रेंजें; 'The Miniaturist', 'कलकत्ता' और 'द जैपनिस वाइफ' सहित अनेकों प्रशंसित किताबों के लेखककुणाल बासु; अकादमिक और 'Cultivating

हम 28 जनवरी को जयपुर में आपका स्वागत करने के लिए तैयार हैं|"

Democracy: Politics and Citizenship in Agrarian India' की लेखिका मुकुलिका बनर्जी; लेखक, राजनीतिज्ञ और भूतपूर्व इंटरनेशनल सिविल सर्वेंट डॉ. शशि थरूर; अपने पहले उपन्यास 'Equations' के साथ लेखिका शिवानी सिब्बल; इतिहासकार और दो मशहूर किताबों 'Sixteen Stormy Days' और 'Imperial Sovereignty and Local Politics' के लेखक त्रिपुरदमन सिंह; इतिहासकार और लेखक विक्रम संपत, जिनकी हालिया प्रकाशित किताब है 'Savarkar: Echoes from a Forgotten Past'. लेखिका, प्रकाशक और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की को-डायरेक्टर नमिता गोखले ने कहा, "जनवरी 2022 में बहुप्रतीक्षित ऑन-ग्राउंड फेस्टिवल की वापसी के साथ ही बेमिसाल वर्चुअल वर्जन का भी आयोजन किया जायेगा|

हम तहेदिल से साहित्य-प्रेमियों और साहित्य से जुड़े मित्रों का स्वागत करने के लिए तैयार हैं| ऑन-ग्राउंड फेस्टिवल के उत्साह और चर्चाओं को आगे बढ़ाते हुए हम डिजिटल के माध्यम से इस अनुभव को समय और बॉर्डर की सीमा से परे ले जाएँगे| हमारे प्रोग्राम में हमेशा की ही तरह भारतीय लेखन और संस्कृति की विस्तृत और समृद्ध परम्परा को प्रस्तुत किया जाएगा|

सांस्कृतिक संध्या और जयपुर म्यूजिक स्टेज को भी फेस्टिवल के साथ समानांतर रूप से चलने का मौका मिलता है|

साहित्य के महाकुम्भ का इंतजार कीजिये, जहाँ पूरी दुनिया जयपुर में समा जाती है और जयपुर पूरी दुनिया में छा जाता है!" लेखक, इतिहासकार और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के को-डायरेक्टर विलियम डेलरिम्पल ने कहा, "मैं रोमांचित हूँ कि महामारी में ऑनलाइन आयोजित होने के बाद हमारा प्यारा लिटरेचर फेस्टिवल अब वापस से ऑन-ग्राउंड होने जा रहा है| हमारे साथ होंगी दुनिया की सबसे शानदार साहित्यिक प्रतिभाएं| ये आपके लिए एक यादगार अनुभव रहेगा और हम 28 जनवरी को जयपुर में आपका स्वागत करने के लिए तैयार हैं|"

फेस्टिवल के साथ ही इसकी B2B इकाई, जयपुर बुकमार्क (JBM) के नवें संस्करण का भी आगाज़ किया जायेगा| JBM में हमेशा की तरह ही दुनिया भर के प्रकाशक, लिटरेरी एजेंट्स, लेखक, अनुवादक, अनुवाद एजेंसी और पुस्तक विक्रेता हिस्सा लेंगे, जहाँ उन्हें एक-दूसरे से बात करने और प्रकाशन की संभावनाओं को समझने का अवसर मिलेगा| जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल संवाद और साहित्यिक वार्ताओं का आयोजन सांस्कृतिक पृष्ठभूमि में करता है, जहाँ भारत की पारम्परिक धरोहरों, कला प्रदर्शनी, सांस्कृतिक संध्या और जयपुर म्यूजिक स्टेज को भी फेस्टिवल के साथ समानांतर रूप से चलने का मौका मिलता है|

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com